बाड़मेर. भारतीय रेसर और अर्जुन पुरस्कार विजेता गौरव गिल की कार शनिवार को राष्ट्रीय रैली चैम्पियनशिप की रेस के दौरान ट्रैक पर आयी एक बाइक को टक्कर मार दी। बताया जा रहा है कि टक्कर इतनी भीषण थी कि बाइक सवार तीनों की मौके पर ही मौत हो गई। गिल हाल ही में अर्जुन पुरस्कार पाने वाले पहले रैली ड्राइवर बने। इस हादसे में गौरव को भी चोट आयी है और वह अस्पताल में है। खबरों के अनुसार एफएमएससीआई इंडियन रैली चैम्पियनशिप 2019 के तीसरे दौर के समय यह हादसा हुआ है। इस रैली का नाम मैक्सपीरिएंस रखा गया था।

'प्रतिबंधित क्षेत्र में घुसी थी बाइक'
अधिकारियों ने बताया कि रेसिंग प्रतियोगिता में शामिल एक कार ने होतरड़ा गांव के पास ट्रैक पर सामने से आ रही बाइक को टक्कर मार दी जो प्रतिबंधित क्षेत्र में घुस गयी थी। तहसीलदार राकेश जैन ने बताया कि हादसे में नरेंद्र, उसकी पत्नी पुष्पा और उनके बेटे जितेंद्र की घटनास्थल पर ही मौत हो गयी। बता दें कि प्रतियोगिता का आयोजन हरियाणा की एक कंपनी मैक्सपीरियंस ने किया था। रेसिंग ट्रैक पर हुए हादसे के बाद शनिवार को इस रैली को रद्द कर दिया। 

145 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चल रही थी कार
आईएनआरसी के प्रमोटर वाम्सी मेरला ने बताया कि गौरव की कार सबसे आगे थी और लगभग 145 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल रही थी। वह एक तीखे मोड़ पर मुड़ते ही मोटरसाइकिल से टकरा गयी। गौरव ने ब्रेक लगाकर कार रोकने की कोशिश की लेकिन तेज रफ्तार के कारण वह कुछ नहीं कर सके। एफएफएससीआई के अध्यक्ष और प्रतियोगिता के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जे. पृथ्वीराज ने कहा, 'सभी तरह के सुरक्षा मानकों का पालन करने के बावजूद ट्रैक पर यह दुखद: घटना हुई। हम इस घटना में मारे गए लोगों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हैं। दुख के इस पल में समूचा मोटरस्पोटर्स परिवार उनके साथ खड़ा है।'