Asianet News HindiAsianet News Hindi

Fact Check: पुल ढहने का वायरल हो रहा वीडियो असम नहीं इंडोनेशिया का है!

Assam Flood and Landslide 2022: असम में बाढ़ और भूस्खलन से हालात बदतर हो चुके हैं। यहां एक बाढ़ के पानी में लोहे का पुल बहने का वीडियो बताकर सोशल मीडिया पर वायरल किया जा रहा है। हालांकि, यह वीडियो गलत है और घटना असम की नहीं बल्कि, इंडोनेशिया की बताई जा रही है। 

assam flood and landslide bridge collapse in few seconds see viral video apa
Author
New Delhi, First Published May 17, 2022, 7:01 PM IST

नई दिल्ली। सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसे असम का बताया जा रहा है। दावा किया जा रहा है कि असम में आई बाढ़ के कारण एक जिले में लोहे का पुल तिनके की तरह बह गया। 17 मई 2022 को अनवर अंसानी के ट्विटर हैंडल से यह वीडियो पोस्ट किया गया है। Asianetnews Hindi की पड़ताल में यह दावा गलत पाया गया। दरअसल, यह वीडियो 2021 में भी वायरल हुआ था। उस दौरान इस वीडियो को इंडोनेशिया का बताया गया था। इससे तो यह साफ हो गया कि असम से रिलेट करके वायरल किया जा रहा वीडियो 2022 का नहीं बल्कि 2021 का है।

हमने गूगल रिवर्स इमेज और इव विड टूल्स के थ्रू जब इस वीडियो की हकीकत को जाना तो पता चला यह इंडोनेशिया का बताकर 2021 में वायरल किया हुआ था। सर्च के दौरान हमें ऑस्ट्रेलिया के SBN न्यूज का 05 अप्रैल 2021 को किया गया एक ट्वीट मिला। यह क्लियर हो गया कि वीडियो का 2022 से कोई संबंध नहीं है। इस ट्वीट के कैप्शन में लिखा है इंडोनेसिया में आई बाढ़ का यह वायरल वीडियो है। की वर्ड सर्च में भी हमें ट्रिब्यून न्यूज का यूट्यूब का एक वीडियो मिला। यह 05 अप्रैल 2021 का है। 

निष्कर्षः 2022 में असम का बताकर जो वीडियो वायरल किया जा रहा है, वो 2021 में भी वायरल हुआ था। उस दौरान इस वीडियो को इंडोनेशिया का बताया गया था। हालांकि, इसकी भी पुष्टि नहीं की गई थी। फिलहाल इस वायरल वीडिया का असम से कोई संबंध नहीं है।

वायरल वीडियो में क्या- ताश के पत्तों की तरह ढह गया लोहे का पुल 

वीडियो में देखा जा सकता है कि बाढ़ की वजह से पुल बह गया। बहाव इतना तेज था कि लोहे का पुल ताश के पत्तों की तरह भरभराकर ढह गया और पलक झपकते आंखों से ओझल हो गया।  21 सेकेंड का यह वीडियो अनवर अंसारी नाम के ट्विटर हैंडल से पोस्ट हुआ है।

Assam Flood and Landslide 2022

बता दें, असम में लगातार हो रही भारी बारिश से आई बाढ़ और भूस्खलन के कारण बड़ी तबाही आई है। बताया जा रहा है कि लगभग 24 जिलों के करीब सात लाख लोग बुरी तरह प्रभावित हुए हैं। इस कहर की वजह से अब तक सात से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। आने वाले दिनों में स्थिति और बिगड़ने के संकेत दिए जा रहे हैं। 

असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की मानें तो, कछार जिला सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ है। यहां 50 हजार से ज्यादा लोग बाढ़ और भूस्खलन का दंश झेल रहे हैं। इसके अलावा, चराईदेव, दरांग, धेमाजी, डिब्रूगढ़, दीमा-हसाओ समेत कई और जिलों के लगभग दो लाख इस त्रासदी से जूझ रहे हैं। कछार में सबसे ज्यादा तीन और दीमा-हसाओ में दो लोगों के मरने की खबर है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios