जोधपुर में दामाद की गजब खातिरदारी: पीट-पीटकर तोड़ दी हड्डी-पसली, काट दिए बाल, शादी के बाद पहली बार गया था ससुराल

| May 26 2023, 05:53 PM IST

jaipur crime news

सार

राजस्थान के जोधपुर में शादी के बाद पहली बार ससुराल आए दमाद को ग्रामीणों ने इतना पीटा की उसकी सारी हड्डी-पसली तोड़ दीं। इतना ही नहीं उसके बाल तक काट दिए। इसके बाद घटना का वीडियो तक वायरल कर दिया । सिर्फ एक शक के चलते सारी इंसानियत शर्मसार कर दी।

जोधपुर. राजस्थान के जोधपुर जिले से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां एक युवक को केवल इस बात पर बे कदर पीटा गया कि वह रात के समय अपनी नाबालिग पत्नी से मिलने के लिए पहुंचा था। लोगों ने न केवल उसके साथ मारपीट की बल्कि उसके केंची से बाल भी काट डाले। बावजूद इसके कि वह उसी गांव का दामाद है। हालांकि अभी तक पुलिस को इस मामले में कोई शिकायत नहीं मिली। लेकिन अभी तक पुलिस ने मामले में कईयों को शांतिभंग के आरोप में गिरफ्तार किया है।

शादी हुई थी, लेकिन नहीं हुआ था गौना...इसलिए बीवी को लेने गया था जोधपुर

मामला राजस्थान के जोधपुर जिले के झंवर इलाके का है। पुलिस के मुताबिक जोधपुर निवासी युवक की शादी 7 महीने पहले जोलियाली गांव की लड़की से हुई थी। हालांकि शादी के समय लड़की नाबालिग थी। ऐसे में उसका गौना नही हुआ। ऐसे में लड़की पीहर की रहती थी। अब उसका पति भागते हुए जैसे तैसे अपनी दुल्हन के गांव पहुंच गया। जहां वह खेत में छुप गया।

ये है राजस्थान में दामाद की खातिरदारी,  एक काटता रहा बाल तो दूसरा बनाता रहा वीडियो

इसी बीच ग्रामीणों को शक हो गया कि खेत में तो कोई चोर घुसा हुआ है। तो उन्होंने खेत को घेर लिया। इसके बाद जैसे ही फसलों के बीच से युवक निकला तो उसके साथ मारपीट करना शुरू कर दिया। और फिर उसके बाद भी काट दिए। इन सब घटनाओं से युवक बुरी तरह से हककपा गया। गांव के ही सरपंच के बेटे सुनील सहित कुछ अन्य लोगों ने उसके साथ मारपीट करना शुरू कर दिया। और फिर उसके बाल काटते हुए का एक वीडियो भी बनाया। हालांकि मामले में पुलिस ने कई आरोपियों को नामजद कर लिया है। इसके अलावा कई आरोपियों को शांतिभंग में गिरफ्तार भी किया है।

घटना के बाद जोधपुर पुलिस लेगी आरोपियों पर सख्त एक्शन

भले ही मामले में कोई शिकायत पुलिस में दर्ज नहीं हो। लेकिन पुलिस ऐसे मामलों में वायरल वीडियो के आधार पर ही कार्रवाई कर लेती है। यदि पुलिस को लगता है कि घटना वाकई में निंदनीय है तो बकायदा पुलिस में मामला दर्ज कर आईटी एक्ट के तहत भी आरोपियों को गिरफ्तार कर लेती है। जिससे आरोपी को सलाखों तक पहुंचाने में भी ज्यादा समय नहीं लगता।