Asianet News Hindi

मदुरै में बोले मोदी- DMK और कांग्रेस को अपने झूठ पर नियंत्रण रखना चाहिए, क्योंकि लोग मूर्ख नहीं हैं

गुरुवार को पश्चिम बंगाल और असम में चुनाव प्रचार के बाद प्रधानमंत्री ने दक्षिण भारत की ओर रुख किया है। वे शुक्रवार को तमिलनाडु और केरल पहुंचे। सबसे पहले मोदी ने तमिलनाडु के मदुरै में जनसभा को संबोधित किया। दोनों राज्यों में उनकी 2-2 जनसभाएं रखी गईं। बता दें तमिलनाडु और केरल दोनों राज्यों में एक ही चरण में 6 अप्रैल को वोटिंग होगी।

Assembly elections in Tamil Nadu and Kerala, public meetings in many places of Modi kpa
Author
Chennai, First Published Apr 2, 2021, 8:44 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

चेन्नई, तमिलनाडु. पांच राज्यों पश्चिम बंगाल, असम, पुडुचेरी, केरल और तमिलनाडु में राजनीतिक सरगर्मियां चरम पर हैं। गुरुवार को पश्चिम बंगाल और असम में चुनाव प्रचार के बाद प्रधानमंत्री ने दक्षिण भारत की ओर रुख किया। वे शुक्रवार को तमिलनाडु और केरल में जनसभाएं संबोधित करने पहुंचे। दोनों राज्यों में उनकी 2-2 जनसभाएं रखी गईं। बता दें तमिलनाडु और केरल दोनों राज्यों में एक ही चरण में 6 अप्रैल को वोटिंग होगी। केरल में  140 विधानसभा सीटों, जबकि तमिलनाडु में 234 विधानसभा सीटों के लिए वोटिंग होनी है। तमिलनाडु के उपमुख्यमंत्री ओ.पन्नीरसेल्वम ने मदुरै में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वागत किया। 

मदुरै में बोले मोदी

  • DMK और कांग्रेस के पास बात करने के लिए कोई वास्तविक एजेंडा नहीं है, लेकिन उन्हें अपने झूठ पर नियंत्रण रखना चाहिए क्योंकि लोग मूर्ख नहीं हैं।
  • कांग्रेस-डीएमके खुद को तमिल संस्कृति के एकमात्र रक्षक के रूप में दिखाते रहते हैं, लेकिन तथ्य कुछ और ही बताते हैं।
  • 2011 में दिल्ली में यूपीए पावर में था। DMK के पास केंद्र सरकार में बड़े मंत्रालय थे। उसी यूपीए सरकार ने जल्लीकट्टू पर प्रतिबंध लगाया था। एक यूपीए नेता ने जल्लीकट्टू को एक बर्बर प्रथा के रूप में बताया था।
  • कांग्रेस और डीएमके काम नहीं करने और जो वास्तव में काम करते हैं उनके बारे में झूठ फैलाने की कला में महारत हासिल कर चुके हैं। इसका एक उदाहरण मदुरै एम्स है। उनकी कई सालों की सत्ता में उन्होंने इसके बारे में सोचा भी नहीं। हमारी सरकार यहां एम्स लाई।
  • हमारा सरकार कपड़ा क्षेत्र के लिए अधिक ऋण और आधुनिक मशीनरी सुनिश्चित कर रहा है। इस साल के बजट में एक मेगा इनवेस्टमेंट टेक्सटाइल पार्क स्कीम 'MITRA' की घोषणा की गई है। 3 साल में 7 टेक्सटाइल पार्क बनेंगे। एनडीए को दिया आपका एक वोट इस क्षेत्र में बेहतर निवेश के लिए होगा।
  • मदुरै दुनिया की सबसे पुरानी भाषा, तमिल के साथ निकटता से जुड़ा हुआ है। यहां, एक तमिल संगम के बारे में सोचता है। मैं तमिल संस्कृति और साहित्य को अधिक लोकप्रिय बनाने के लिए काम करने वाले सभी लोगों की सराहना करना चाहता हूं। इस भूमि का महात्मा गांधी पर बहुत प्रभाव था।
  • दक्षिण तमिलनाडु और विशेष रूप से मदुरै का एमजीआर के साथ एक विशेष संबंध है। मदुरै वीरन… इस फिल्म को कौन भूल सकता है। हम सभी जानते हैं कि एमजीआर को अपनी आवाज देने वालों में कौन था यह टीएम साउंडराजन थे। 1980 में कांग्रेस ने एमजीआर की लोकतांत्रिक रूप से निर्वाचित सरकार को बर्खास्त कर दिया। चुनाव कराए गए और एमजीआर ने मदुरै पश्चिम सीट से जीत हासिल की। मदुरै के लोग चट्टान की तरह उसके पीछे खड़े थे। 1977, 1980 और 1984 में, एमजीआर ने दक्षिणी तमिलनाडु से जीत हासिल की।
  • इस क्षेत्र के लोगों के पास एक तेज दिमाग और बड़ा दिल है। वर्षों पहले मेरे गृह राज्य गुजरात के सौराष्ट्र से लोग यहां आए थे। जिस तरह से मदुरै ने उन्हें स्वीकार किया, वह 'एक भारत, श्रेष्ठ भारत' का एक आदर्श उदाहरण है।
  • हमने 2024 तक भारत में हर घर में नल के पानी के कनेक्शन सुनिश्चित करने के लिए जल जीवन मिशन शुरू किया। तमिलनाडु में मिशन शुरू होने के बाद से 16 लाख से अधिक नल जल कनेक्शन दिए जा चुके हैं।
  • इस साल के केंद्रीय बजट में इकोनॉमिक कारिडोर की सीरीज की घोषणा की गई है, इसमें एक मदुरै-कोल्लम गलियारा  भी है। तमिलनाडु में रेलवे इन्फ्रा प्रोजेक्ट्स के लिए आवंटित फंड में 2009 की तुलना में रिकॉर्ड 238% की वृद्धि हुई है।
  • सबका साथ, सबका विकास, सबका साथ, सबका विश्वास के मंत्र से प्रेरित होकर एनडीए सरकार 130 करोड़ भारतीयों के जीवन में सकारात्मक बदलाव लाने के लिए काम कर रही है। तमिलनाडु और विशेष रूप से दक्षिणी तमिलनाडु के लिए हम बुनियादी ढांचे, सिंचाई, निवेश पर ध्यान केंद्रित करना चाहते हैं।
  • मदुरई एक ऐसा शहर है, जो कभी नहीं सोता है और हमेशा जागता रहता है! मुझे यकीन है कि मदुरै राजनीतिक वास्तविकताओं के लिए जाग गया है और विकास और प्रगति के लिए मतदान करेगा।
  • कांग्रेस और द्रमुक ने देवेंद्र कुला वेल्लार समुदाय के मुद्दे को दशकों तक लटकाए रखा। तमिलनाडु में अन्नाद्रमुक और केंद्र में बीजेपी नेतृत्व की सरकार ने इस समुदाय के सम्मान को बरकरार रखने के लिए मिलकर काम किया। DMK और कांग्रेस आपके लिए सुरक्षा या गरिमा की गारंटी नहीं देंगे। कानून-व्यवस्था की स्थिति उनके अधीन होगी।  DMK के पहले परिवार में एक आंतरिक पारिवारिक उलझन के कारण DMK ने शांतिप्रिय मदुरै को माफिया मांद बनाने की कोशिश की।

यह भी पढ़ें

दिल्ली में बैठे पॉलिटिकल पंडित नहीं समझ पाएंगे कि केरल में हवा कैसे बदल चुकी है

 

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios