Ips  

(Search results - 744)
  • Interview with UPSC 2020 achievers Kajal Singh, know how a farmer daughter cracked civil service exam to become IPSInterview with UPSC 2020 achievers Kajal Singh, know how a farmer daughter cracked civil service exam to become IPS

    CareersOct 20, 2021, 2:13 PM IST

    किसान की लाडली अब बनेगी IPS, पिता ने बेटी को बेटा समझकर पढ़ाया, नतीजा- UPSC 2020 की टॉपर बन गई वो

    करियर डेस्क. यूपी के बिजनौर जिले के फतेहपुर कलां निवासी काजल सिंह के संघर्ष की गाथा युवाओं के लिए किसी मोटिवेशन से कम नहीं है। लगातार तीन साल तक उनका प्रीलिम्स तक नहीं निकला लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी। लगातार कोशिश करती रहीं और एक दिन उन्हें सफलता मिली। यूपीएससी परीक्षा के चौथे प्रयास में उन्हें सफलता मिली। उन्हें भारतीय पुलिस सेवा (IPS) कैडर मिलने की उम्मीद है। काजल जिस परिवेश से आती हैं। वहां पढ़ाई का बहुत ज्यादा माहौल नहीं था। उस लिहाज से उन्हें यही लगता था कि यदि कुछ करना है तो खुद से संघर्ष करना होगा। परिवार की तरफ से पूरा सपोर्ट था लेकिन आगे बढ़ने के लिए राह कौन दिखाए।  संघ लोक सेवा आयोग (UPSC 2020) के नतीजे 24 सितंबर, 2021 को जारी किए गए। फाइनल रिजल्ट (Final Result) में कुल 761 कैंडिडेट्स को चुना गया। Asianetnews Hindi 2020 में सिलेक्ट हुए 100 कैंडिडेट्स की सक्सेज जर्नी (Success Journey) पर एक सीरीज चला रहा है। इसी कड़ी में हमने 202वीं रैंक हासिल करने वाली काजल से बातचीत की। आइए जानते हैं उन्होंने कैसे की पढ़ाई की तैयारी। 

  • Interview with UPSC 2020 achievers Kajal Singh, know her success journeyInterview with UPSC 2020 achievers Kajal Singh, know her success journey

    CareersOct 19, 2021, 10:09 PM IST

    UPSC 2020 टॉपर : पहले 3 अटेम्प्ट में प्रीलिम्स भी नहीं निकला, चौथी बार में अब IPS बनेंगी काजल

    करियर डेस्क. यूपी के बिजनौर जिले के फतेहपुर कलां निवासी काजल सिंह के संघर्ष की गाथा युवाओं के लिए किसी मोटिवेशन से कम नहीं है। वह लगातार संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) परीक्षा देती रहीं। हर अगले अटेम्पट में पिछले अटेम्पट से अधिक मेहनत की। पर लगातार तीन साल तक उनका प्रीलिम्स तक नहीं निकला लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी। उनका कहना है कि यदि आपके सामने लक्ष्य बड़ा है। उस दिशा में लगातार कोशिश कर रहे हैं तो एक दिन सफलता जरुर मिलेगी। ठीक ऐसा ही हुआ। यूपीएससी परीक्षा के चौथे प्रयास में उन्हें सफलता मिली। उन्हें भारतीय पुलिस सेवा (IPS) कैडर मिलने की उम्मीद है। संघ लोक सेवा आयोग (UPSC 2020) के नतीजे 24 सितंबर, 2021 को जारी किए गए। फाइनल रिजल्ट (Final Result) में कुल 761 कैंडिडेट्स को चुना गया। Asianetnews Hindi 2020 में सिलेक्ट हुए 100 कैंडिडेट्स की सक्सेज जर्नी (Success Journey) पर एक सीरीज चला रहा है। इसी कड़ी में हमने 202वीं रैंक हासिल करने वाली काजल से बातचीत की। आइए जानते हैं काजल की सक्सेज जर्नी।

  • Video of a child making diya is going viralVideo of a child making diya is going viral
    Video Icon

    TrendingOct 19, 2021, 6:55 PM IST

    दिवाली: दीए बनाते नन्हे हाथों का ये Video देख भावुक हुए लोग, IPS ने लिखी दिल छूने वाली बात

    वीडियो डेस्क। दिवाली पर हर घर को रोशन करने वाले वो कच्ची मिट्टी के पक्के दिए। कहते हैं दिवाली ऐसा त्योहार है जो हर घर को रोशन करता है। भले ही कोरोना ने त्योहारों की चमक को फीका कर दिया हो लेकिन दिवाली की चमक कभी फीकी नहीं हुई।

  • businessman Amit Bansal suicide Case Wife Pinky also died in hospital in Meerut Uttar Pradesh Know about familybusinessman Amit Bansal suicide Case Wife Pinky also died in hospital in Meerut Uttar Pradesh Know about family

    Uttar PradeshOct 11, 2021, 6:43 PM IST

    खूबसूरत कपल की दर्दनाक मौत: जिस बेटी की खातिर घूमने गए थे विदेश, उसे ही अकेला छोड़कर चले गए कारोबारी दंपती

    मेरठ। यूपी (UP) के मेरठ (Meerut) में 4 अक्टूबर को कारोबारी अमित बंसल ने अपने ऑफिस में फांसी लगाकर सुसाइड (Suicide) कर ली थी। घटना से आहत उसकी पत्नी ने खुद की हाथ की नस काट ली। इसके बाद ससुर ने कटर से उसकी गर्दन काट दी। आरोपी ससुरा का कहना था कि बहू की वजह से ही बेटा तनाव (Depression) में रहता था, इसलिए उसने आत्महत्या कर दी। ऐसी बहू को जिंदा छोड़ने से क्या फायदा होता। लहूलुहान बहू को गंभीर हालत में नोएडा (Noida) के अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी 5 दिन बाद मौत हो गई। अमित एक हाई प्रोफाइल फैमिली से ताल्लुक रखते हैं। उनके बहनोई एक आईपीएस (IPS) अधिकारी हैं।

  • Interview with UPSC 2020 Achievers   Anjali Vishwakarma know her struggle and success storyInterview with UPSC 2020 Achievers   Anjali Vishwakarma know her struggle and success story

    CareersOct 11, 2021, 10:00 AM IST

    UPSC के लिए 3 साल तक सोशल मीडिया से रही दूर...पढ़ें 158 रैंक पाने वाली अंजली की सक्सेज जर्नी

    करियर डेस्क. संघ लोक सेवा आयोग (UPSC 2020) के नतीजे 24 सितंबर, 2021 को जारी किए गए। फाइनल रिजल्ट में कुल 761 कैंडिडेट्स को चुना गया। Asianetnews Hindi ने 2020 में सिलेक्ट हुए 100 कैंडिडेट्स की सक्सेज जर्नी पर एक सीरीज चला रहा है। इस कड़ी में 158वीं रैंक हासिल करने वाली अंजलि विश्वकर्मा (Anjali Vishwakarma ) से बातचीत की। इस दौरान उन्होंने बताया कि UPSC में सफलता पाने के लिए कड़ी मेहनत के साथ-साथ कई चीजों पर फोकस करना पड़ता है। अंजलि विदेश में एक ऑयल कंपनी में काम करती थीं लेकिन UPSC की तैयारी करने के लिए उन्होंने लाखों रुपए सैलरी की जॉब छोड़कर तैयारी शुरू की। इसके साथ ही सोशल मीडिया अब जहां लोगों की आवश्यकता बनता जा रहा है ऐसे में उन्होंने सोशल मीडिया से दूरी बना ली थी। आइए जानते हैं अंजलि की कहानी।  

  • Interview with UPSC 2020 Achievers   Anjali Vishwakarma know interesting questions asked to herInterview with UPSC 2020 Achievers   Anjali Vishwakarma know interesting questions asked to her

    CareersOct 10, 2021, 10:00 AM IST

    पूरा इंटरव्यू खराब कर सकता है ये एक सवाल...UPSC 2020 क्रैक करने वाली अंजली से पूछे गए थे कुछ इंट्रेस्टिंग सवाल

    करियर डेस्क. संघ लोक सेवा आयोग (UPSC 2020) के नतीजे 24 सितंबर, 2021 को जारी किए गए। फाइनल रिजल्ट में कुल 761 कैंडिडेट्स को चुना गया। Asianetnews Hindi ने 2020 में सिलेक्ट हुए 100 कैंडिडेट्स की सक्सेज जर्नी पर एक सीरीज चला रहा है। इस कड़ी में 158वीं रैंक हासिल करने वाली अंजलि विश्वकर्मा (Anjali Vishwakarma) से बातचीत की। अंजलि ने इंटरव्यू के अनुभव को शेयर किया। उन्होंने कहा कि इंटरव्यू के दौरान उनसे कई सवाल पूछे गए। जिन सवालों के जवाब नहीं आते थे। उन पर सीधा जवाब दिया कि मुझे नहीं पता है, पढ़ना होगा। इंटरव्यू में यह अच्छा माना जाता है। इंटरव्यू में  देखा जाता है कि आप न्यूट्रल हैं या फिर आपका झुकाव कहीं किसी एक समुदाय या सिद्धांतों की तरफ तो नहीं है। आइए जानते हैं उनसे किस तरह के सवाल पूछे गए और क्या थे उनके जवाब। 

  • Interview with UPSC 2020 Achievers   Isha Singh, know her tips for future aspirantsInterview with UPSC 2020 Achievers   Isha Singh, know her tips for future aspirants

    CareersOct 9, 2021, 9:15 AM IST

    TIPS: IAS बनो या ना बनो, लेकिन अगर UPSC की तैयारी कर ली तो आप कभी लूजर नहीं हो सकते

    करियर डेस्क. संघ लोक सेवा आयोग (UPSC 2020) के नतीजे 24 सितंबर, 2021 को जारी किए गए। फाइनल रिजल्ट में कुल 761 कैंडिडेट्स को चुना गया। Asianetnews Hindi ने 2020 में सिलेक्ट हुए 100 कैंडिडेट्स की सक्सेज जर्नी पर एक सीरीज चला रहा है। इस कड़ी में 191वीं रैंक हासिल करने वाली ईशा सिंह से बातचीत की। ईशा ने इंटरव्यू के अनुभव को शेयर किया। उन्होंने कहा कि इंटरव्यू के दौरान उनसे कई सवाल पूछे गए। जिन सवालों के जवाब नहीं आते थे। उन पर सीधा जवाब दिया कि मुझे नहीं पता है, पढ़ना होगा। इंटरव्यू में यह अच्छा माना जाता है। इंटरव्यू में  देखा जाता है कि आप न्यूट्रल हैं या फिर आपका झुकाव कहीं किसी एक समुदाय या सिद्धांतों की तरफ तो नहीं है। आइए जानते हैं उनसे किस तरह के सवाल पूछे गए और क्या थे उनके जवाब। 

  • Interview with UPSC 2020 Achievers  Jagrati Awasthi, know about her journey to successInterview with UPSC 2020 Achievers  Jagrati Awasthi, know about her journey to success

    CareersOct 8, 2021, 12:29 PM IST

    UPSC क्रैक करना था, इसलिए छोड़ दी क्लास 1 की जॉब, दूसरे ही प्रयास में 2nd टॉपर बन गई जागृति अवस्थी

    करियर डेस्क. संघ लोक सेवा आयोग (UPSC 2020) के नतीजे 24 सितंबर, 2021 को जारी किए गए। फाइनल रिजल्ट (UPSC Final Result) में कुल 761 कैंडिडेट्स को चुना गया। Asianetnews Hindi साल 2020 में सिलेक्ट हुए 100 कैंडिडेट्स की सक्सेज जर्नी पर एक सीरीज चला रहा है। इसी कड़ी में दूसरी रैंक हासिल करने वाली जागृति अवस्थी से बातचीत की। वो भारत हैवी इलेक्ट्रानिक्स लिमिटेड (BHEL) में जॉब कर रहीं थी। जून 2019 में उन्होंने यूपीएससी परीक्षा में पहला प्रयास किया लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली तो उन्होंने जॉब छोड़ दी। दूसरे प्रयास में उन्हें संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) सिविल सेवा परीक्षा में देश में दूसरा स्थान मिला। आइए जानते हैं उनकी सक्सेज जर्नी।
     

  • Interview with UPSC 2020 Achievers Bhanu Pratap Singh , know about her journey to successInterview with UPSC 2020 Achievers Bhanu Pratap Singh , know about her journey to success

    CareersOct 6, 2021, 9:56 PM IST

    UPSC INTERVIEW: लोग कहते थे तुमसे ना हो पाएगा, हताशा में दिया एग्जाम, सेलेक्ट हो गया तब मिली सीख

    करियर डेस्क. संघ लोक सेवा आयोग (UPSC 2020) के नतीजे 24 सितंबर, 2021 को जारी किए गए। फाइनल रिजल्ट में कुल 761 कैंडिडेट्स को चुना गया। Asianetnews Hindi ने 2020 में सिलेक्ट हुए 100 कैंडिडेट्स की सक्सेज जर्नी पर एक सीरीज चला रहा है। इसी कड़ी में 372वीं रैंक हासिल करने वाले भानु प्रताप सिंह से बातचीत की। भारतीय प्रशासनिक सेवा का हिस्सा बनने का सपना संजो रहे युवाओं को हिंदी विषय से यूपीएससी परीक्षा (UPSC EXam) क्रैक करना टेढी खीर लगता है, यह आम धारणा है। लेकिन देश के पिछड़े इलाकों से आने वाले ज्यादातर कैंडिडेट्स हिंदी मीडियम के ही होते हैं। आगरा के फतेहपुर सीकरी क्षेत्र के कराही गांव के रहने वाले भानु प्रताप सिंह (Bhanu Pratap Singh) ने हिंदी मीडियम से पढ़ाई कर सफलता हासिल की है। आइए जानते हैं उनकी सक्सेज जर्नी। 

  • Interview with UPSC 2020 Achievers Anjali Vishwakarma, know about her journey to successInterview with UPSC 2020 Achievers Anjali Vishwakarma, know about her journey to success

    CareersOct 6, 2021, 5:26 PM IST

    पहले प्रयास में प्रिलिम्स भी नहीं निकला, दूसरी बार में क्रैक कर लिया देश का सबसे बड़ा एग्जाम, अब बनेंगी अफसर

    करियर डेस्क. संघ लोक सेवा आयोग (UPSC 2020) के नतीजे 24 सितंबर, 2021 को जारी किए गए। फाइनल रिजल्ट में कुल 761 कैंडिडेट्स को चुना गया। Asianetnews Hindi ने 2020 में सिलेक्ट हुए 100 कैंडिडेट्स की सक्सेज जर्नी पर एक सीरीज चला रहा है। इस कड़ी में 158वीं रैंक हासिल करने वाली अंजलि विश्वकर्मा (Anjali Vishwakarma ) से बातचीत की। उनका सिलेक्शन आईपीएस (IPS) के लिए हुआ है। अंजलि का जन्म कानपुर में हुआ और 12वीं तक की  पढ़ाई देहरादून से की। आईआईटी कानपुर (IIT KANPUR) से बीटेक (B.Tech) किया और एक विदेशी  कंपनी में नौकरी ज्वाइन की। अंजलि का कहना है कि जीवन यापन के लिए नौकरी कर पैसा कमाया जा सकता है लेकिन समाज के लिए भी कुछ करना चाहिए। इसी सोच के कारण मैंने अपनी नौकरी छोड़ी और यूपीएससी परीक्षा की तैयारी शुरू की। उन्हें दूसरे प्रयास में सफलता मिली। उनके पिता अरूण कुमार आर्डिनेंस फैक्ट्री, कानपुर में असिस्टेंट वर्क्स मैनेजर हैं। मां नीलम विश्वकर्मा गृहिणी हैं जबकि छोटी बहन आरूषि आईआईटी मुंबई से एमएससी (M.SC) किया। आइए जानते हैं कैसी रही अंजलि की सक्सेस जर्नी। 

  • UPSC hiring various posts jobs October 14 is the last date to applyUPSC hiring various posts jobs October 14 is the last date to apply

    CareersOct 6, 2021, 1:51 PM IST

    UPSC ने निकाली है बंपर भर्ती, लाखों की नौकरी पाना है तो यहां करें जल्द से जल्द अप्लाई

    UPSC की परीक्षा में बैठना चाहते हैं तो यहां ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तारीख 14 अक्टूबर 2021 है। उम्मीदवार अपने ऑनलाइन आवेदन 15 अक्टूबर 2021 तक प्रिंट कर सकते हैं।

  • UPSC 2020 Exclusive Interview 191 rank holder Isha Singh tell the questions she was askedUPSC 2020 Exclusive Interview 191 rank holder Isha Singh tell the questions she was asked

    CareersOct 4, 2021, 9:10 PM IST

    UPSC इंटरव्यू: इंडो-यूएस थिंक टैंक बनाते हैं तो उसमें कैसे लोग चाहिए? कैंडिडेट ने दिए थे ऐसे सवालों के जवाब

    करियर डेस्क. संघ लोक सेवा आयोग (UPSC 2020) के नतीजे 24 सितंबर, 2021 को जारी किए गए। फाइनल रिजल्ट में कुल 761 कैंडिडेट्स को चुना गया। Asianetnews Hindi ने 2020 में सिलेक्ट हुए 100 कैंडिडेट्स की सक्सेज जर्नी पर एक सीरीज चला रहा है। इस कड़ी में 191 रैंक हासिल करने वाली ईशा सिंह (Isha Singh) से बातचीत की। उनके साथ पढ़ने वाले छात्र विदेशों में मोटी सैलरी पर नौकरी कर रहे हैं। लॉ फर्म में भी उन्हें 20 लाख के पैकेज पर नौकरी का प्रस्ताव मिला था पर ईशा सिंह ने देश में ही रहकर समाज सेवा करने का निर्णय लिया। कानून की पढ़ाई के बाद उन्होंने अपनी मां के साथ वकालत शुरू की। आइए जानते हैं उनसे इंटरव्यू में किस तरह के सवाल पूछे गए थे?

  • UPSC 2020 Exclusive Interview of Isha Singh who scored 191 rank, know about her journey to successUPSC 2020 Exclusive Interview of Isha Singh who scored 191 rank, know about her journey to success

    CareersOct 4, 2021, 3:22 PM IST

    20 लाख रु. का अट्रैक्टिव पैकेज छोड़कर ईशा ने क्रैक किया UPSC, परिवार में है अफसरों की पूरी फौज

    करियर डेस्क. संघ लोक सेवा आयोग (UPSC 2020) के नतीजे 24 सितंबर, 2021 को जारी किए गए। फाइनल रिजल्ट में कुल 761 कैंडिडेट्स को चुना गया। Asianetnews Hindi ने 2020 में सिलेक्ट हुए 100 कैंडिडेट्स की सक्सेज जर्नी पर एक सीरीज चला रहा है। इस कड़ी में 191 रैंक हासिल करने वाली ईशा सिंह (Isha Singh) से बातचीत की। बेंगलुरू के नेशनल लॉ स्कूल से ग्रेजुएट ईशा को लॉ फर्म में 20 लाख रु. के पैकेज का ऑफर था, लेकिन इन्होंने देश में ही रहकर समाज सेवा का निर्णय लिया। इनके पिता वाईपी सिंह जौनपुर के रामनगर विकास खंड क्षेत्र के जवंसीपुर गांव के निवासी हैं। वह मुंबई में पुलिस अधिकारी रहे हैं। बचपन से देखा किस तरह उनके पिता जनता से जुड़े मामलों में रूचि लेते थे और आमजन को न्याय दिलाने का काम करते थे। तभी उन्होंने भारतीय पुलिस सेवा (IPS) में जाने का मन बनाया।कानून की पढ़ाई के बाद उन्होंने अपनी मां के साथ वकालत शुरू की। ये सफाई कर्मियों की विधवाओं के अधिकार की लड़ाई को लेकर काफी चर्चा में रही। ईशा की प्रारम्भिक शिक्षा लखनऊ के मार्टिनियर गर्ल्स कॉलेज व मुंबई के जेबी पेटिड एंड कैथेड्रल स्कूल में हुई। आइए जानते हैं कैसी रही उनकी सक्सेज जर्नी...

  • UPSC 2020 Results, struggle story of Altaf Sheikh who use to sell tea and pakoras in schoolUPSC 2020 Results, struggle story of Altaf Sheikh who use to sell tea and pakoras in school

    MaharashtraSep 25, 2021, 2:27 PM IST

    स्‍कूल में चाय-पकौड़े बेचने वाला लड़का बना IPS अफसर, कुछ ऐसी है अल्ताफ शेख के संघर्ष की कहानी

    बता दें कि 24 सिंतबर को जारी हुए यूपीएससी परीक्षा में के परिणामों में बिहार के शुभम कुमार ने सिविल सेवा परीक्षा में नंबर एक रैंक हासिल कर टॉपर हैं। वहीं भोपाल की जागृति अवस्थी पूरे देश में नंबर दो रैंक हासिल की। पुणे के अल्ताफ शेक भी अब यूपीएससी पास कर आईपीएस अफसर बन गए हैं।

  • Former DGP Mustafa angry for calling Sidhu anti-national, alleged Captain Amarinder in relationship with ISI agent for 14 yearsFormer DGP Mustafa angry for calling Sidhu anti-national, alleged Captain Amarinder in relationship with ISI agent for 14 years

    NationalSep 19, 2021, 12:56 PM IST

    सिद्धू को anti-national कहने पर भड़के पूर्व DGP, कैप्टन पर ISI एजेंट के साथ relationship में रहने का आरोप

    पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस्तीफे के बाद कैप्टन व नवजोत सिंह सिद्धू के बीच मतभेद खुलकर सामने आ गए हैं। दोनों के बीच जुबानी जंग और आरोप-प्रत्यारोप के बीच चारित्रिक आरोप मढ़ने का दौर शुरू हो चुका है।