Asianet News Hindi

सावधान हो जाएं: कहीं आपके साथ कोई न करे ऐसा फ्रॉड, ऑनलाइन पिज्जा ऑर्डर करने के चक्कर में 65 हजार रु की ठगी

आरोपी ने भुगतान के लिए एक लिंक भी भेजा था। इधर व्यवसायी ने लिंक क्लिक कर अपनी पूरी डिटेल भर दिया। यहां तक ऑर्डर देने के लिए अपना ओटीपी भी शेयर कर दिया। 
 

65 thousand rupees fraud happened while ordering pizza online kpn
Author
Mumbai, First Published Jul 16, 2021, 3:27 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. पिज्जा ऑर्डर करने के दौरान एक व्यक्ति से 65000 रुपए का ऑनलाइन ठगी हुई। मामला मुंबई के एक 58 साल के व्यवसायी से जुड़ा है। उसने ऑनलाइन पिज्जा ऑर्डर करने की कोशिश की। इसी दौरान उससे 65 हजार रुपए का फ्रॉड हुआ। हैरान करने वाली बात ये है कि आरोपी ने पिज्जा शॉप का मैनेजर बनकर ठगी की वारदात को अंजाम दिया।

मनी ट्रांसफर होने के बाद तुरन्त बाद क्रेडिट कार्ड कंपनी से ठगी का शिकार होने वाले व्यवसायी को फोन किया। उन्हें बताया कि उनके कार्ड से 65 हजार रुपए की खरीदी की गई है। जब व्यवसायी को इस बात की जानकारी हुई तो हैरान रह गया। उसने तुरन्त पुलिस को खबर किया। 

व्यवसायी के साथ कैसे हुई ठगी? 
व्यवसायी ने ऑनलाइन पिज्जा ऑर्डर करने के लिए गूगल पर सर्च किया। तभी फ्रासिस्को पिज्जा नाम की शॉप का पता चला। व्यवसायी ने ऑर्डर के लिए कॉल किया। दूसरी तरफ से कहा गया कि उसे जल्द ही दूसरे नंबर से कॉल आएगी।

कुछ ही समय में उसे दूसरे नंबर से कॉल आया। सामने वाले ने खुद को पिज्जा शॉप मैनेजर बताया। उसने व्यवसायी को एडवांस भुगतान के लिए कहा।

भुगतान के लिए एक लिंक भेजा
आरोपी ने भुगतान के लिए एक लिंक भी भेजा था। इधर व्यवसायी ने लिंक क्लिक कर अपनी पूरी डिटेल भर दिया। यहां तक ऑर्डर देने के लिए अपना ओटीपी भी शेयर कर दिया। 

जैसे ही उसने ओटीपी शेयर किया। खाते से 20,000 रुपए डेबिट हो गया। दूसरी तरफ से आरोपी ने कहा कि पिज्जा के लिए उनके अकाउंट से पैसे काट लिए गए हैं।  

जब व्यवसायी ने कहा कि एक पिज्जा का 20 हजार रुपए क्यों काटा गया। तब आरोपी ने कहा कि ये गलती से हुआ है। अभी एक्स्ट्रा पैसे वापस कर दिए जाएंगे। पैसे वापस करने के लिए एक और ओटीपी के लिए कहा। आरोपी ने फिर से 20,000 रुपए काट लिए। आरोपी ने फिर से वही बहाना बनाया। ऐसा दो से तीन बार किया और  65,000 रुपए काट लिए।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios