Asianet News HindiAsianet News Hindi

IIT Bombay ने पोस्ट की तिरंगे की ऐसी फोटो.. यूजर्स करने लगे ट्रोल, फिर मैनेजमेंट को भी देनी पड़ी सफाई

हर घर तिरंगा अभियान के तहत आईआईटी बॉम्बे ने राष्ट्रीय ध्वज लहराते की एक तस्वीर सोशल मीडिया पेज और वेबसाइट के कवर पेज पर पोस्ट कर दी, मगर बाज जैसी आंखों वाले यूजर्स ने तुरंत पकड़ लिया कि यह तस्वीर फोटोशॉप्ड है। 

IIT Bombay trolled for photoshopping a picture of National Flag on top of main building apa
Author
New Delhi, First Published Aug 16, 2022, 2:07 PM IST

मुंबई। हर घर तिरंगा अभियान के तहत आईआईटी बॉम्बे (IIT Bombay) ने अपने मुख्य भवन पर राष्ट्रीय ध्वज लहराते हुए फोटो पोस्ट की थी। मगर इस ध्वज के लिए इसके मैनेजमेंट को ट्रोल किया जाने लगा। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर और फेसबुक पर इसकी तस्वीर वायरल होने के बाद यूजर्स ने इमारत पर फहराए गए राष्ट्रीय ध्वज की तस्वीर को फोटोशॉप्ड कहा और मैनेजमेंट को ट्रोल करने लगे। हालांकि, संस्थान की ओर से अब इस बारे में सफाई दी गई है। 

सोमवार, 15 अगस्त को देशभर में 75वां स्वतंत्रता दिवस धूमधाम से मनाया गया। साथ ही, आजादी का अमृत महोत्सव अभियान के तहत हर घर तिरंगा कैंपेन भी चलाया गया। लोगों ने अपने घर, ऑफिस, संस्थान, स्कूल-कॉलेज और व्यावसायिक प्रतिष्ठानों पर तिरंगा फहराया और इसकी तस्वीर शेयर की। बहुत से लोगों ने इसे हर घर तिरंगा अभियान की वेबसाइट पर भी पोस्ट किया। 

आईआईटी बॉम्बे ने भी ऐसा ही किया। संस्थान ने बीते 8 अगस्त को मेन बिल्डिंग पर राष्ट्रीय ध्वज लहराते की तस्वीर माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर पोस्ट की। इसे संस्थान की वेबसाइट पर कवर फोटो के तौर पर भी लगाया, तो यूजर्स ने इसे फोटोशॉप्ड माना और संस्थान को ट्रोल करने लगे। बाज जैसी नजरों वाले कुछ यूजर्स ने कहा कि यह एडिटेड फोटो है। हालांकि, उनका यह समझना गलत था। कमेंट बॉक्स में एक यूजर ने लिखा, आईआईटी बॉम्बे के ग्रॉफिक्स डिजाइन कोर्स में आपका स्वागत है। एक अन्य यूजर ने कमेंट किया, हमारे देश के एक प्रतिष्ठित संस्थान को हमारे राष्ट्रीय ध्वज को फोटोशॉप क्यों करना पड़ता है? तीसरे यूजर ने टिप्पणी की, यदि आप अपने कवर फोटो पर राष्ट्रीय ध्वज नहीं लगाते हैं, तो यह बिल्कुल ठीक है, लेकिन एडिटेड फोटो सिर्फ यह दिखाने के लिए कि आप देशभक्त हैं, वास्तव में बड़ा फर्जीवाड़ा है। मुझे अपने यूनिवर्सिटी में ऐसा होता देखकर दुख हुआ। 

ट्रोलिंग के बाद आईआईटी बॉम्बे ने भी इस मामले में सफाई जारी की है। संस्थान ने 15 अगस्त को फेसबुक पेज पर बताया, एक ध्वज के साथ आईआईटी बॉम्बे मुख्य भवन की तस्वीर आजादी का अमृत महोत्सव मनाने के लिए एक पोस्ट की गई थी, न कि वास्तविक तस्वीर। हमारा लक्ष्य महोत्सव की भावना पैदा करना था। हमें इसके कारण लोगों को हुए भ्रम पर खेद है। 

हटके में खबरें और भी हैं..

Paytm के CEO विजयशेखर शर्मा ने कक्षा 10 में लिखी थी कविता, ट्विटर पर पोस्ट किया तो लोगों से मिले ऐसे रिएक्शन 

गुब्बारा बेचने वाले बच्चे और कुत्ते के बीच प्यार वाला वीडियो देखिए.. आप मुस्कुराएंगे और शायद रोएं भी 

ये नर्क की बिल्ली नहीं.. उससे भी बुरी चीज है, वायरल हो रहा खौफनाक वीडियो देखिए सब समझ जाएंगे 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios