Asianet News HindiAsianet News Hindi

मौत का वीडियो वायरलः विरोध के दौरान महिला ने बांधा बाल, पुलिस ने पेट-गर्दन, दिल और हाथ में मार दी गोली

हिजाब पहनने के दबाव का विरोध-प्रदर्शन कर रही युवती की पुलिस ने गोली मारकर हत्या कर दी। इसका एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। महिला प्रदर्शन के दौरान बाल बांधती नजर आ रही है। 

Iran Woman Whose Unscarved Hair-At-Protest Video Went Viral Killed apa
Author
First Published Sep 28, 2022, 3:31 PM IST

तेहरान। ईरान में महिलाओं द्वारा हिजाब का विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है। वहीं, एक और ईरानी महिला पुलिस की गोली का शिकार हो गई। महिला का नाम हदीस नजफी है। उसे गोली मारे जाने से ठीक पहले का वीडियो सामने आया है, जो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। इस वायरल वीडियो क्लिप में महिला विरोध के दौरान अपने बाल बांधते दिख रही है। इसी बीच पुलिसकर्मियों ने उस पर फायरिंग कर दी, जिसमें महिला की मौत हो गई। 

इसके साथ ही महिला के अंतिम संस्कार की वीडियो भी वायरल हो रही है, जिसमें उनके शव को दफनाने के लिए खोदी गई कब्र के पास रखी तस्वीर के आसपास लोग रोते हुए दिख रहे हैं। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक, हदीस नजफी को पेट, गर्दन, दिल और हाथ में गोली मारी गई है। ईरान में बीते करीब एक हफ्ते से विरोध-प्रदर्शन चल रहा है। यह विरोध-प्रदर्शन महसा अमिनी नाम की युवती की पुलिस हिरासत में हुई मौत के बाद से शुरू हुआ है। 

 

 

बता दें कि 22 वर्षीय युवती महसा अमिनी अपने परिवार के साथ बाहर घूमने निकली थी। बताया जा रहा है कि तब महसा ने हिजाब नहीं पहना हुआ था। ईरान की मोरल पुलिस ने उसे हिजाब पहनने को कहा, जिसका उसने विरोध किया। इसके बाद पुलिस उसे जबरदस्ती अपने साथ स्थानीय पुलिस स्टेशन में ले गई। मगर कुछ घंटे बाद महसा अमिनी को अस्पताल में भर्ती कराया गया। पुलिस ने बताया कि महसा कोमा में चली गई है, जबकि अस्पताल से सामने आई उसकी फोटो में स्पष्ट देखा जा सकता था कि उसे बुरी तरह पीटा गया है। कुछ देर बाद इलाज के दौरान महसा की मौत हो गई, जिसके बाद पूरे ईरान में विरोध-प्रदर्शन शुरू हो गया। वहीं, बहुत सी ईरानी महिलाओं ने सार्वजनिक तौर पर अपने बाल काटने और हिजाब जलाने का वीडियो पोस्ट किया। 

पुलिस ने महसा के सिर पर घातक वार किया था 
दरअसल, ईरान में हेडस्कॉर्फ या हिजाब पहनना महिलाओं के लिए अनिवार्य है। महसा अमिनी की मौत बीते 16 सितंबर को हुई थी और तब से न सिर्फ ईरान बल्कि, दुनियाभर के अन्य देशों में हिजाब पहनने का दबाव बनाने को लेकर विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। लंदन में भी हिजाब के विरोध में प्रदर्शन जारी हैं। बहरहाल, अमिनी के मामले में आई मेडिकल रिपोर्ट में बताया गया है कि ईरानी राज्य कुर्दिस्तान की रहने वाली महसा के सिर पर कई  घातक वार किए गए थे, जिससे वह कोमा में चली गई थी। वहीं, पुलिस अधिकारियों ने पहले कहा था कि उसकी मौत हार्ट अटैक से हुई है। 

हटके में खबरें और भी हैं..

बुजर्ग पति का वृद्ध महिला कैसे रख रही खास ख्याल.. भावुक कर देगा यह दिल छू लेना वाला वीडियो 

मां ने बेटे को बनाया ब्वॉयफ्रेंड और साथ में किए अजीबो-गरीब डांस, भड़के लोगों ने कर दी महिला आयोग से शिकायत

कौन है PFI का अध्यक्ष ओमा सलाम, जानिए इस विवादित संगठन का अध्यक्ष बनने से पहले वो किस विभाग का कर्मचारी था

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios