Asianet News HindiAsianet News Hindi

रूस ने दी यूक्रेनी सैनिक को दिल दहला देने वाली यातना.. 4 महीने तक रखा कैद में दुनियाभर में हो रही आलोचना

यूक्रेन के एक सैनिक को रूसी सैनिकों द्वारा बंदी बनाना, चार महीने तक उसे कैद में रखना और घोर यातना का मामला सामने आया है। सैनिक की चार महीने पहले और अभी की जो तस्वीर सामने आई है, उसने पूरी दुनिया को झकझोर दिया है। 

Ukraine shows horrific before-after images of soldier released by Russians after 4 months of torture apa
Author
First Published Sep 28, 2022, 11:15 AM IST

मास्को। रूस और यूक्रेन के बीच जारी जंग को करीब आठ महीने का वक्त हो चुका है। कभी यूक्रेन की सेना रूसी सैनिकों पर भारी पड़ रही है, तो कभी रूसी सैनिक यूक्रेन की सेना पर भारी पड़ रहे हैं। बस, आठ महीने से यही चल रहा है। मगर इन दो देशों की इस रस्साकशी में दुनियाभर की हालत को खराब कर रखा है। साथ ही, यूक्रेन और रूस के नागरिक भी इस युद्ध की भयावहता को झेल रहे हैं। 

वैसे तो इस युद्ध के दौरान की अब तक कई तस्वीरें और वीडियो वायरल हुए हैं, मगर इन दिनों यूक्रेन के एक सैनिक की तस्वीर सोशल मीडिया पर जबरदस्त सुर्खियों में है। ऐसा दावा किया जा रहा है कि यूक्रेन के इस सैनिक को रूसी सैनिकों ने अपने कब्जे में ले लिया था और उसे इतना प्रताड़ित किया कि अब वह सैनिक भी खुद को नहीं पहचान पा रहा है। उसकी यह हालत सिर्फ पांच महीने में हुई है और तस्वीर देखने के बाद लोग भावुक भी हो रहे और रूसी सैनिकों के प्रति अपना गुस्सा भी जाहिर कर रहे हैं। इस सैनिक की ये दुर्दशा करने के बाद रूसी सैनिकों ने हाल ही में इसे अपनी कैद से रिहा किया है। 

यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय ने सैनिक की फोटो पोस्ट की 

इस यूक्रेनी सैनिक का नाम मायखाइलो डिआनोव है। उनकी पहली फोटो बीते मई महीने की है, जब वे रूसी सैनिकों से हो रही जंग में युद्ध मैदान में थे। वहीं, चार महीने तक रूस की कैद में रहने के बाद मायखाइलो को जब रिहा किया गया, तो उसकी हालत देखने लायक नहीं थी। प्रताड़ना के निशान उसके शरीर आसानी से देखे जा सकते थे। यूक्रेनी सैनिक की तस्वीर को वहां के रक्षा मंत्रालय ने माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर अपने अकाउंट हैंडल से पोस्ट किया है। 

सैनिकों की अदला-बदली में रिहा हुए मायखाइलो 
रक्षा मंत्रालय ने मायखाइलो की तस्वीर पोस्ट करने के साथ कैप्शन में लिखा, डायनोव भाग्यशाली हैं, जो रूस की और प्रताड़ना नहीं झेले। यूक्रेनी शहर मारियुपोल की लड़ाई के बाद मायखइलो को रूसी जेल शिविर में चार महीने गुजारने पड़े। बीते 21 सितंबर को कैदियों की अदला-बदली के दौरान यूक्रेन के 215 कैदियों को रिहा किया गया, जिनमें मायखाइलो भी शामिल थे। बाहर आने के बाद भी अब वे सामान्य जीवन नहीं जी पाएंगे। डॉक्टरों के अनुसार, उनके हाथ की करीब पांच सेंटीमीटर की एक हड्डी तोड़ दी गई है। इसके अलावा भी कई और गंभीर दिक्कतें उनके शरीर में बनी हुई है। 

हटके में खबरें और भी हैं..

बुजर्ग पति का वृद्ध महिला कैसे रख रही खास ख्याल.. भावुक कर देगा यह दिल छू लेना वाला वीडियो 

मां ने बेटे को बनाया ब्वॉयफ्रेंड और साथ में किए अजीबो-गरीब डांस, भड़के लोगों ने कर दी महिला आयोग से शिकायत

कौन है PFI का अध्यक्ष ओमा सलाम, जानिए इस विवादित संगठन का अध्यक्ष बनने से पहले वो किस विभाग का कर्मचारी था

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios