उज्जैन. महात्मा विदुर महाभारत के प्रमुख पात्रों में से एक थे। इन्हें यमराज का अवतार भी माना गया है। महात्मा विदुर ने देश, काल और परिस्थिति के अनुसार, लाइफ मैनेजमेंट के कई सूत्र बताए हैं। इन सूत्रों के संग्रह को विदुर नीति कहा जाता है। विदुर नीति के अनुसार, जानिए समझार इंसान को किन 5 लोगों से दोस्ती नहीं करनी चाहिए-
श्लोक
अवलिपतेषु मूर्खेषु रौद्रसाहसिकेषु च।
तथैवापेतर्मेषु न मैत्रीमाचरेद् बुध:।।

अर्थ- विद्वान पुरुष को 1. अभिमानी, 2. मूर्ख, 3. क्रोधी, 4. साहसिक और 5. धर्महीन पुरुषों के साथ दोस्ती नहीं करनी चाहिए।

  • अभिमानी: जिन लोगों को अपने धन, पद या रूप का अभिमान होता है, वे जाने-अनजाने में कई बार दूसरों का मजाक उड़ाते हैं। इसलिए ऐसे लोगों से दोस्ती नहीं करनी चाहिए।
  • मुर्ख: मुर्ख यानी वे लोग जिन्हें अच्छे-बुरे, धर्म-अधर्म आदि का ज्ञान नहीं होता है। ऐसे लोगों से दोस्ती करना आपके लिए परेशानी का कारण बन सकता है। इसलिए ऐसे लोगों से दोस्ती न करें।
  • क्रोधी: जो व्यक्ति बात-बात पर गुस्सा हो जाता हो, उससे भी दोस्ती नहीं करनी चाहिए। इनके बहुत दुश्मन होते हैं। ऐसे लोगों से दोस्ती करके आप भी किसी मुसीबत में फंस सकते हैं।
  • साहसिक: कुछ लोग साहस में आकर कुछ ऐसा कर बैठते हैं, जिसके कारण बाद में उन्हें पछताना पड़ता है। इसलिए अधिक साहस वाले लोगों से भी दोस्ती नहीं करनी चाहिए।
  • धर्महीन पुरुष: वे लोग जो धर्म पर विश्वास नहीं करते, सिर्फ अधर्म की ही बातें करते हैं, इनके साथ भी दोस्ती न करें। ऐसे लोगों के साथ रहकर आपमें भी इनके अवगुण आ सकते हैं।