Asianet News HindiAsianet News Hindi

चाहते हैं धन लाभ और सुख-संपत्ति तो इस दिवाली घर लाएं इन 5 में से कोई 1 यंत्र

मान्यता है कि दीपावली पर सिद्ध किया गया कोई भी यंत्र बहुत ही जल्दी शुभ फल प्रदान करता है। आज हम आपको ऐसे ही 5 यंत्रों के बारे में बता रहे हैं।

Bring these 5 devices home on Diwali, money will benefit
Author
Ujjain, First Published Oct 25, 2019, 7:37 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. ये सभी यंत्र धन लाभ व अचल संपत्ति (मकान, जायदाद) देने वाले हैं। दीपावली पर इन यंत्रों की विधि-विधान से पूजा करने से मनुष्य की सभी मनोकामनाएं पूरी हो सकती हैं। ये यंत्र इस प्रकार हैं-

कुबेर यंत्र
धन लाभ चाहने वाले लोगों के लिए कुबेर यंत्र अत्यन्त सफलतादायक है। दीपावली पर बिल्व-वृक्ष के नीचे बैठकर इस यंत्र को सामने रखकर कुबेर मंत्र को शुद्धता पूर्वक जाप करने से यंत्र सिद्ध होता है तथा यंत्र सिद्ध होने के पश्चात इसे गल्ले या तिजोरी में स्थापित किया जाता है। इसके स्थापना के पश्चात् दरिद्रता का नाश होकर, प्रचुर धन व यश की प्राप्ति होती है।

मंत्र
ऊँ यक्षाय कुबेराय वैश्रवणाय धन्य धन्याधिपतये धन धान्य समृद्धि में देहित दापय स्वाहा

श्रीयंत्र
यंत्र शास्त्र में श्रीयंत्र की विशेष महिमा बताई गई है। इसे यंत्रराज की उपाधि दी गई है। इस यंत्र को धन वृद्धि, धन प्राप्ति, कर्ज से संबंधित धन पाने के लिए, लोन इत्यादि प्राप्त होने के लिए तथा लॉटरी आदि द्वारा धन पाने के लिए उपयोग में लाया जाता है। दीपावली पर इसकी स्थापना घर के पूजा कक्ष में करनी चाहिए।

महालक्ष्मी यंत्र
दीपावली पर महालक्ष्मी यंत्र का पूजन कर विधि-विधान पूर्वक इसकी स्थापना करें। यह यंत्र धन वृद्धि के लिए अधिक उपयोगी माना गया है। कम समय में ज्यादा धन वृद्धि के लिए यह यंत्र अत्यन्त उपयोगी है। इस यंत्र का प्रयोग दरिद्रता का नाश करता है। यह स्वर्ण वर्षा करने वाला यंत्र कहा गया है। इसकी कृपा से गरीब व्यक्ति भी एकाएक अमीर बन सकता है।

कनकधारा यंत्र
श्रीकनकधारा धन प्राप्ति व दरिद्रता दूर करने के लिए अचूक यंत्र है। इसकी पूजा से हर मनचाहा काम हो जाता है। यह यंत्र अष्टसिद्धि व नवनिधियों को देने वाला है। इसका पूजन व स्थापना भी दीपावली के दिन करें।

मंगल यंत्र
दीपावली पर श्रीमंगल यंत्र का पूजन कर स्थापना करें। इस यंत्र के नियमित पूजन से शीघ्र ही सभी प्रकार के कर्जों से मुक्ति मिल जाती है। मंगल भूमि कारक ग्रह है। अत: जो इस यंत्र को पूजता है वह अचल संपत्ति का मालिक होता है।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios