उज्जैन. ज्योतिषाचार्य पं. प्रवीण द्विवेदी के अनुसार, जानिए किस्मत चमकाने और रोगों से छुटकारा पाने के लिए इस दिन कौन-से उपाय करें-

किस्मत चमकाने का उपाय
- ग्रहण काल से पहले नहाकर साफ कपड़े पहन लें। ग्रहण प्रारंभ होते ही पूर्व दिशा की ओर मुख करके ऊन या कुश के आसन पर बैठ जाएं।
- सामने एक बाजोट (पटिया) रखें। उसके ऊपर एक थाली रखकर उसमें एक अष्टदल बनाएं। इसके ऊपर श्रीयंत्र निर्मित अंगूठी रखें।
- अब तेल का दीपक जलाकर नीचे लिखे मंत्र की 3 माला जाप करें-
ऊं कमलवासिन्ये श्रीं श्रियै ह्रीं नम:
- इसके बाद दीपक को दूसरे कमरे में ले जाकर रख दें और ग्रहण समाप्ति के पहले यह अंगूठी पहन लें।
- अगले दिन दीपक को बरगद के पेड़ के नीचे रख आएं। इस उपाय से आपका भाग्य चमक सकता है।

रोगों से छुटकारा पाने का उपाय
- ग्रहण काल से पहले नहाकर सफेद कपड़े पहन लें। अब सफेद आसन पर उत्तर दिशा की ओर मुख करके बैठ जाएं।
- अब अपने सामने एक थाली को बाजोट पर रखकर उसमें कुंकुम से ऊं बनाएं तथा उस पर महामृत्युंजय यंत्र स्थापित करें।
- इसके बाद धूप-दीप से पूजा करें व कुंकुम व चावल चढ़ाएं। इसके बाद पंचामृत से पूरे ग्रहण काल तक यंत्र पर निरंतर अभिषेक करते रहें व नीचे लिखे मंत्र का जाप करते रहें-
ऊं हौं जूं स: ऊं भुर्भूव:स्व: ऊं त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्
उर्वारुकमिव बंधनान्मृत्योर्मुक्षीय मामृतात् ऊं स्व: भुव: भू: ऊं स: जूं हौं ऊं

- ग्रहण के बाद यंत्र पर चढ़ा पंचामृत रोगी को चम्मच से पिलाएं। कुछ ही समय में रोगी के स्वास्थ्य में सुधार होने लगेगा।