Asianet News HindiAsianet News Hindi

Ganesh Chaturthi: मिट्टी की गणेश प्रतिमा की पूजा से मिलते हैं शुभ फल, कितनी बड़ी होनी चाहिए मूर्ति, कैसे बनाएं?

आज (10 सितंबर, शुक्रवार) गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi 2021) है। इस दिन घर-घर में भगवान श्रीगणेश की प्रतिमा स्थापित कर 10 दिनों तक रोज इसकी पूजा की जाती है। घर पर मिट्टी से गणेश प्रतिमा का निर्माण कर पूजा की जाए तो इसका विशेष फल मिलता है।

Ganesh Utsav, worshiping Mitti ganesh may give auspicious results, know the puja vidhi and rules
Author
Ujjain, First Published Sep 10, 2021, 6:28 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. धर्म ग्रंथों के अनुसार मिट्‌टी के निर्मित मूर्ति में भगवान गणेश का आवाहन और पूजा करने से मनोकामनाएं जल्दी पूरी होती हैं। मिट्टी की मूर्ति में पंचतत्व होते हैं इसलिए पुराणों में भी ऐसी प्रतिमा की पूजा का ही विधान बताया गया है। गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi 2021) पर घर पर कैसे बनाएं मिट्टी के गणेश और कैसे पूजा करें, आगे जानिए...

मिट्टी के गणेश ही क्यों?
शिवपुराण का कहना है कि देवी पार्वती ने पुत्र की इच्छा से मिट्टी का ही पुतला बनाया था, फिर शिवजी ने उसमें प्राण डाले थे। वो ही भगवान गणेश थे। शिव महापुराण में धातु की बजाय पार्थिव और मिट्टी की मूर्ति को ही महत्व दिया है। मिट्टी से बनी गणेश प्रतिमा की पूजा करने से कई यज्ञों का फल मिलता है। आचार्य वराहमिहिर ने भी अपने ग्रंथ बृहत्संहिता में पार्थिव या मिट्टी की प्रतिमा पूजन को ही शुभ कहा है। 
कितनी बड़ी होनी चाहिए प्रतिमा?

पुरी के ज्योतिषाचार्य डॉ. गणेश मिश्र के अनुसार, घर में 12 अंगुल यानी तकरीबन 7 से 9 इंच तक की मूर्ति होनी चाहिए। इससे उंची प्रतिमा घर में नहीं होनी चाहिए। वहीं, मंदिरों और सार्वजनिक जगहों पर मूर्ति की उंचाई से जुड़ा कोई नियम नहीं बताया गया है।

इस विधि से करें मिट्टी के गणेश की पूजा
- गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi 2021) की सुबह स्नान आदि करने के बाद नदी की साफ मिट्टी लाएं और किसी छोटी बालिका से उस मिट्टी को गुंथवा लें।
- इसके बाद स्वयं उस मिट्टी से गणेशजी की मूर्ति बनाएं और उस पर शुद्ध घी एवं सिंदूर से चोला चढ़ा दें व जनेऊ भी धारण करवाएं।
- मूर्ति के सामने प्रार्थना करें कि- हे श्रीगणेश। आप इस मूर्ति में स्थापित हों। मूर्ति को धूप-दीप दिखाएं व पांच लाल रंग के फूल अर्पित करें।
- इसके बाद पांच लड्डुओं का भोग लगाएं। गणेश उत्सव के दौरान रोज सुबह-शाम इस मिट्टी की प्रतिमा की पूजा पूरी श्रद्धा से करें।
- अनंत चतुर्दशी पर इस मूर्ति का विसर्जन नदी में कर दें। इस उपाय से श्रीगणेश प्रसन्न होते हैं और भक्तों की मनोकामना पूरी करते हैं।

गणेश उत्सव बारे में ये भी पढ़ें

Ganesh Chaturthi 2021: 10 सितंबर को घर-घर में विराजेंगे श्रीगणेश, प्रतिमा लेते समय ध्यान रखें ये खास बातें

59 साल बार Ganesh Chaturthi पर बन रहा है ग्रहों का दुर्लभ योग, ब्रह्म योग में होगी गणेश स्थापना

Ganesh Chaturthi पर बन रहा है ग्रहों का विशेष संयोग, जानिए 12 राशियों पर क्या होगा असर

 

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios