उज्जैन. ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार, ये लोग अगर शुभ मुहूर्त में मंगल यंत्र की स्थापना कर रोज उसकी पूजा करें तो मंगल ग्रह से संबंधित दोष में कमी आ सकती है और शुभ फल मिल सकते हैं।

आज शुभ योग में करें मंगल यंत्र की स्थापना
पं. शर्मा के अनुसार, आज (26 मई, मंगलवार) को अंगारक चतुर्थी का योग बन रहा है। इस योग में मंगल दोष निवारण के लिए उपाय करना शुभ रहता है।

मंगल यंत्र के फायदे
राजनीति, गृहस्थ जीवन, नौकरी पेशा आदि क्षेत्रों में परेशानी होने पर इस यंत्र की स्थापना कर पूजा करने से सभी समस्याएं समाप्त हो जाती हैं तथा सुख-समृद्धि प्राप्त होती है। मंगल यंत्र की स्थापना के बाद प्रतिदिन इसके सामने बैठकर नीचे लिखे मंत्रों का जाप करना चाहिए। ये मंत्र इस प्रकार हैं-

1. ओम् मंगलाय नम:
2. ओम् भूमिपुत्राय नम:
3. ओम् ऋणहन्त्रये नम:
4. ओम् धनप्रदाय नम:
5. ओम् स्थिरासनाय नम:
6. महाकामाय नम:
7. सर्वकाम विरोधकाय नम:
8. लोहिताय नम:
9. लोहितागाय नम:
10. सांगली कृपाकराय नम:
11. धरात्यजाय नम:
12. कुजाय नम:
13. भूमिदाय नम:
14. भौमाय नम:
15. धनप्रदाय नम:
16. रक्ताय नम:
17. सर्वरोग प्रहारिण्ये नम:
18. सृष्टि कर्ते नम:
19. वृष्टि कर्ते नम:
20. पापहर्ताय नम:
21. सर्वकामफलदाताय नम: