Asianet News HindiAsianet News Hindi

करवा चौथ पर करें इन 5 में से कोई भी 1 उपाय, बना रहेगा पति-पत्नी में प्रेम

कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को करवा चौथ (karwa chauth 2021) का पर्व मनाया जाता है। इस बार ये पर्व 24 अक्टूबर, रविवार को है। इस दिन महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र और परिवार की सुख-समृद्धि के लिए निर्जला व्रत रखती हैं यानी कुछ भी खाती-पीती नहीं है। इस दिन शाम को भगवान श्रीगणेश की पूजा करने और चंद्रमा को अर्ध्य देने के बाद ही महिलाओं का ये व्रत पूरा होता है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. प्रवीण द्विवेदी के अनुसार, इस दिन कुछ खास उपाय करने से पति-पत्नी में प्रेम बना रहता है और वैवाहिक जीवन की समस्याएं दूर हो सकती हैं।

Karva Chauth 2021, doing these remedies can maintain love among couple
Author
Ujjain, First Published Oct 22, 2021, 5:45 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. इस बार करवा चौथ (karwa chauth 2021) का व्रत 24 अक्टूबर, रविवार को किया जाएगा। इस दिन शाम को भगवान श्रीगणेश की पूजा करने और चंद्रमा को अर्ध्य देने के बाद ही महिलाओं का ये व्रत पूरा होता है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. प्रवीण द्विवेदी के अनुसार, इस दिन कुछ खास उपाय करने से पति-पत्नी में प्रेम बना रहता है और वैवाहिक जीवन की समस्याएं दूर हो सकती हैं।

उपाय 1
करवा चौथ की सुबह पति-पत्नी किसी नजदीक स्थित शिव-पार्वती मंदिर में जाएं और शिवजी को बिल्वपत्र और देवी पार्वती को लाल फूल चढ़ाएं। साथ ही शिव-पार्वती का गठबंधन भी करें। इससे आपके वैवाहिक जीवन की परेशानियां कम हो सकती हैं।

उपाय 2
वैसे तो करवा चौथ पर सिर्फ महिलाएं ही भगवान श्रीगणेश की पूजा करती हैं। अगर पति-पत्नी दोनों मिलकर ये पूजा करें और गणपति अथर्वशीर्ष का पाठ करें तो दोनों के बीच प्रेम लंबे समय तक बना रहता है।

उपाय 3
करवा चौथ पर पति अपनी पत्नी को सुगंधित चीज जैसे कोई इत्र या परफ्यूम उपहार में दे तो वैवाहिक जीवन खुशहाल बना रहता है क्योंकि ये चीजें शुक्र से संबंधित हैं और ये ग्रह वैवाहिक सुख का कारक है।

उपाय 4
करवा चौथ पर पति-पत्नी दोनों व्रत रखें और शाम को पूजा के बाद उद्यापन करें। इस दिन चंद्रमा को देखकर ही व्रत खोला जाता है। जिस तरह चंद्रमा अपनी पत्नी रोहिणी से प्रेम करता है, उसी तरह पति-पत्नी में भी प्रेम बना रहेगा।

उपाय 5
करवा चौथ की शाम को भोजन में कुछ मीठा अवश्य बनाएं, अगर संभव न हो तो बाजार से भी मिठाई ला सकते हैं। सबसे पहले इसका भोग भगवान को लगाएं बाद में परिवार के साथ मिलकर खाएं। इससे पति-पत्नी के साथ-साथ परिवार में भी प्रेम बना रहेगा।

करवा चौथ के बारे में ये भी पढ़ें

करवा चौथ पर क्यों खाते हैं सरगी, क्यों करते हैं चंद्रमा की पूजा? ये हैं इस पर्व से जुड़ी 4 परंपराएं

करवा चौथ 24 अक्टूबर को, इस दिन रोहिणी नक्षत्र में होगा चंद्रोदय, कब से कब तक रहेगी ये तिथि?

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios