Asianet News HindiAsianet News Hindi

औरैया: जन्म के 2 घंटे बाद तक नाले में पड़े रोता रहा नवजात, मुस्लिम युवक ने इस तरह बचाई मासूम की जान

यूपी के औरैया जिले में एक नवजात को जन्म के दो घंटे बाद नाले में फेंक दिया गया। बच्चे की रोने की आवाज पर स्थानीय निवासी युनूस खान ने बच्चे को नाले से निकालकर अस्पताल पहुंचाया। वहीं पुलिस भी मामले की जांच में जुट गई है।

Auraiya Newborn crying in drain for 2 hours after birth Muslim youth saved life of innocent in this way
Author
First Published Sep 18, 2022, 3:53 PM IST

औरैया: उत्तर प्रदेश के औरैया जिले में मानवता को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है। जहां पर एक नवजात को जन्म के बाद पानी भरे गड्डे में फेंक दिया गया। जिंदगी और मौत के बीच फंसा यह नवजात दो घंटे तक नाले में पड़ा रहा। यह मामला औरैया के सहायल थाना क्षेत्र का है। इस घटना के बाद युनूस खान नामक व्यक्ति ने उस नवजात को नई जिंदगी दी। बताया जा रहा है कि सहायल थाना क्षेत्र का प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र से करीब 100 मीटर दूर एक नाला है। वहीं पर स्वास्थ्य केंद्र की तरफ जाने वाले रास्ते पर लहरापुर गांव के निवासी युनूस खान की जूता-चप्पल की दुकान है। 

युनूस खान को नाले में पड़ा मिला नवजात
युनूस खान के अनुसार, वह किसी काम के लिए जा रहे थे। इसी दौरान उन्हें किसी बच्चे के रोने की आवाज सुनाई पड़ी। जब वह उस दिशा में आगे बढ़े तो देखा कि एक नवजात नाले में पड़ा है। यह नजारा देख उनके पैरों तले जमीन खिसक गई। जिसके बाद उन्होंने उसे नाले से बाहर निकालकर अपने सीने से लगा लिया। वहीं आसपास के लोगों की मदद से नवजात को कपड़े में लपेटकर वह सीधे अस्पताल की तरफ दौड़ पड़े। इस दौरान मासूम के नाले में मिलने की खबर से वहां पर लोगों की भीड़ एकत्र हो गई। वहीं डॉक्टर संजय बाजपेई ने फौरन बच्चे का इलाज शुरुकर दिया। उन्होंने बताया कि अब नवजात पूरी तरह से स्वस्थ है। हॉस्पिटल स्टॉफ के जिरिए चम्मच से दूध पिलाया गया। 

पुलिस कर रही मामले की जांच
डॉक्टर संजय बाजपेई ने बताया कि अनुमान है नवजात का जन्म नाले में मिलने से दो घंटे पहले ही हुआ होगा। बच्चे की नाड़ी भी उससे जुड़ी हुई थी। वहीं युनूस खान ने जानकारी देते हुए बताया कि नाले मे पानी कम था और बच्चे का सिर ऊपर की तरफ था। इस कारण उसकी जान बच गई। इसी दौरान मामले की जानकारी मिलने पर पुलिस भी मौके पर अस्पताल पहुंच गई। थानाध्यक्ष पंकज मिश्र ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है। प्राथमिक इलाज के बाद उसे जच्चा-बच्चा वार्ड औरैया जिला चिकित्सालय में भर्ती करवाया गया है। वहीं पुलिस यह भी पता लगाने की कोशिश कर रही है कि आखिर नवजात को नाले में किसने और क्यों फेंका। आसपास के लोग भी कई तरह की बातें करते सुनाई दे रहे हैं।

औरैया: दो मासूम बच्चों के सिर से मां ने उठा दिया पिता का साया, भाई के साथ मिलकर इस तरह से दिया घटना को अंजाम

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios