Asianet News HindiAsianet News Hindi

औरैया: शिक्षक की पिटाई से छात्र की मौत, पुलिस ने नहीं लिया एक्शन तो पीड़ित परिवार ने SP से लगाई मदद की गुहार

यूपी के औरैया जिले में शिक्षक द्वारा छात्र को बेरहमी से पीटे जाने के बाद उसकी मौत हो गई। एसपी के आदेश पर आरोपित शिक्षक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसे तलाश किया जा रहा है। मृतक छात्र आदर्श इंटर कालेज में दसवीं कक्षा का छात्र था।

Auraiya Student dies due to teachers beating police did not take action so victims family appealed to SP for help
Author
First Published Sep 26, 2022, 2:20 PM IST

औरैया: उत्तर प्रदेश के औरैया जिले में स्थित आदर्श इंटर कालेज में पढ़ाने वाले एक शिक्षक की पिटाई से घायल छात्र की बीते रविवार मौत हो गई। घायल छात्र का को उत्तर प्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय सैफई में उपचार के लिए ले जाया जा रहा था। इस दौरान छात्र ने एंबुलेंस में दम तोड़ दिया। बताया जा रहा है कि बीते 19 दिनों से परिजन घायल छात्र का का औरैया व इटावा के प्राइवेट अस्पताल में इलाज करवा रहे थे। वहीं रविवार को छात्र की मौत के बाद एसपी के आदेश पर पुलिस ने आरोपित शिक्षक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसे तलाश करना शुरूकर दिया है। 

शिक्षक ने छात्र को बेरहमी से पीटा
अछल्दा के गांव वैशोली निवासी राजू दोहरे का 15 वर्षीय बेटा निखित कुमार आदर्श इंटर कालेज में दसवीं कक्षा का छात्र था। बीते 7 सितंबर को स्कूल में टेस्ट के दौरान सामाजिक विषय के शिक्षक अश्वनी सिंह ने उसकी बुरी तरह से पिटाई कर दी थी। हालत बिगड़ने के बाद उसके माता-पिता को जानकारी दी गई। वहीं कॉलेज प्रशासन ने छात्र का इलाज करवाने का आश्वासन दिया और आरोपित शिक्षक ने 40 हजार रुपए की मदद की थी। औरैया और इटावा के निजी अस्पतालों में इलाज के दौरान उसकी हालत में खास सुधार नहीं हुआ। वहीं रविवार को पीड़ित परिजनों ने थाने पहुंचकर शिक्षक पर आरोप लगाते हुए कहा कि आर्थिक मदद की मांग करने पर शिक्षक ने घरवालों के साथ गाली-गलौज की है।

आरोपित शिक्षक को पकड़ने के लिए गठित की गई टीमें 
थाने में मामले की सुनवाई नहीं होने पर परिजनों ने एसपी से शिकायत की। वहीं एसपी के आदेश के बाद पुलिस ने मुकदमा दर्जकर निखित का सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में मेडिकल परीक्षण कराया। सीएचसी के डॉक्टर अमर दीप चौधरी ने बताया कि छात्र को सांस लेने में परेशानी हो रही है और उसके शरीर पर भी चोट के निशान मिले हैं। निखित की गंभीर हालत को देखते हुए उसे सैफई के आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया। परिजनों का आरोप है कि सैफई ले जाने के बाद पीड़ित छात्र को काफी देर तक भर्ती नहीं किया गया। इस दौरान उसकी एंबुलेंस में ही मौत हो गई। वहीं पुलिस अधीक्षक चारू निगम ने जानकारी देते हुए बताया कि छात्र की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। वहीं आरोपित शिक्षक को पकड़ने के लिए तीन टीमें गठित की गई हैं।

औरैया: जन्म के 2 घंटे बाद तक नाले में पड़े रोता रहा नवजात, मुस्लिम युवक ने इस तरह बचाई मासूम की जान

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios