आजम खां को रामपुर उपचुनाव के बीच चुनाव आयोग पर टिप्पणी करना पड़ा भारी, दो दिन में दर्ज हुए 2 मुकदमे

| Dec 03 2022, 01:22 PM IST

आजम खां को रामपुर उपचुनाव के बीच चुनाव आयोग पर टिप्पणी करना पड़ा भारी, दो दिन में दर्ज हुए 2 मुकदमे

सार

सपा नेता आजम खां की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही। आजम खां पर दो दिन के अंदर दो मुकदमे दर्ज किए गए है। बता दें कि रामपुर उपचुनाव के दौरान जनसभा को संभोधित करते हुए आजम ने पुलिस और चुनाव आयोग पर टिप्पणी की थी।

रामपुर: समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खां की मुश्किलें कम होती दिखाई नहीं दे रही। हेट स्पीच मामले में सजा होने और विधायकी जाने के बाद आजम खां के खिलाफ गंज गंज कोतवाली में आजम खां के खिलाफ महिलाओं पर टिप्पणी करने के आरोप में रिपोर्ट किया था। इसके बाद अब आजम खां द्वारा चुनाव आयोग पर टिप्पणी करने के आरोप में सपा नेता के खिलाफ शहर कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। बता दें कि आजम के खिलाफ यह दो दिनों में यह लगातार दूसरा मुकदमा है। सपा नेता आजम खां बीते 1 दिसंबर को सपा प्रत्याशी आसिम राजा के समर्थन में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे।

आजम खां पर दर्ज हुआ एक और केस
इस जनसभा में उनके साथ समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव भी मौजूद थे। इस दौरान आजम खां पर आरोप लगाया गया कि उन्होंने भड़काऊ भाषण दिया है। सपा नेता ने पुलिस, चुनाव आयुक्त और चुनाव आयोग जैसी संवैधानिक संस्था पर टिप्पणी करके लोगों को भड़काने का काम किया। बता दें कि आजम नहर खंड जेई सुजेश कुमार सागर जो वहां की निर्वाचन आयोग है। उसकी ओर से निगरानी टीम प्रभारी कार्यक्रम में बयानबाजी पर निगरानी रखी रही जा रही थी। उन्होंने ही सपा नेता के खिलाफ तहरीर दी है। आरोप है कि आजम खां ने जनसभा को संबोधित करते हुए चुनाव आयोग को भांड और चुनाव प्रक्रिया को भांडगिरी कहा है।

Subscribe to get breaking news alerts

जनसभा को संबोधित करते हुए चुनाव आयोग पर की टिप्पणी
इसके अलावा बुर्कापोशों पर डंडे बरसाने वाले जिंदाबाद कहा गया है। सपा नेता के खिलाफ दी गई तहरीर में कहा गया है कि उन्होंने इस तरह की बयानबाजी कर आयोग सरीखी संवैधानिक संस्था को भांड कहा और पुलिस पर हमला बोलते हुए अपनी रंजिश निकाली है। वहीं कोतवाल गजेंद्र त्यागी ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि तहरीर मिलने के बाद आजम खां के खिलाफ 153ए, 505/1/बी IPC और लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम की धारा-125 के तहत केस दर्ज किया गया है। वहीं एसपी अशोक कुमार शुक्ला ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। 

'रामपुर उपचुनाव में बीजेपी को घोषित कर दें विजेता' जानिए क्यों आजम खां पुलिस पर हुए हमलावर