Asianet News HindiAsianet News Hindi

आजमगढ़: आदर्श हत्याकांड मामले में पुलिस कार्रवाई से संतुष्ट नहीं परिजन, मृतक की मां और चाची ने रखी ऐसी मांग

यूपी के आजमगढ़ जिले के हरिहरपुर गांव निवासी युवा तबला वादक आदर्श मिश्रा हत्याकांड मामले के मुख्य आरोपी गोल्डी यादव और उसके भाई को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। वहीं गांव पहुंचे पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर से परिजनों ने बताया कि वह कार्रवाई से संतुष्ट नहीं है। 

azamgarh family not satisfied with police action in adarsh murder case mother and aunt of deceased made such a demand
Author
First Published Sep 24, 2022, 5:45 PM IST

आजमगढ़: उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले में युवा तबला वादक आदर्श मिश्रा हत्याकांड मामले में परिजन पुलिस की कार्रवाई से संतुष्ट नहीं है। शनिवार को पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर के गांव में पहुंचने के बाद मृतक आदर्श की माता और चाची ने कहा कि उन्हें जान के बदले जान चाहिए। बता दें कि 20 सितंबर की रात को जनपद के हरिहरपुर गांव निवासी आदर्श मिश्रा की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। मृतक के पिता ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा है कि उन्हें अभी तक एफआईआर की कॉपी भी उपलब्ध नहीं कराई गई है और ना ही विवेचना के लिए कोई जिम्मेदार आया है। 

पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर घरवालों से मिलने पहुंचे गांव
मृतक आदर्श के पिता राजेश ने इस हत्याकांड में शामिल गोल्डी यादव समेत अन्य के खिलाफ केस दर्ज करवाया था। वहीं पुलिस ने मामले पर कार्रवाई करते हुए मुख्य आरोपी गोल्डी यादव व उसके भाई मोनू यादव को मुठभेड़ में घायल कर गिरफ्तार कर लिया है। लेकिन मृतक का परिवार अब तक की गई पुलिस कार्रवाई से संतुष्ट नजर नहीं आ रहा है। पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर के गांव में पहुंचते ही परिजनों ने बेबाकी से अपनी राय उनके सामने रखी। वहीं मृतक की मां और चाची ने कहा कि जिसने उनके लाल को मारा है जब तक वह लोग उसका खून नहीं देख लेते तब तक उनके मन को शांति नहीं मिलेगी।

मृतक के पिता ने पुलिस पर लगाए आरोप
वहीं आदर्श के पिता राजेश ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा है कि अभी तक उन्हें FIR की कॉपी और पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं मिली है। मुठभेड़ में णुख्य आरोपी के पकड़े जाने की जानकारी हुई है लेकिन पुलिस ने उन्हें कुछ नहीं बताया है। परिजनों का कहना है कि अपनी मांगों से प्रशासन को अवगत करवा दिया गया है लेकिन अभी तक उस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है। जब मृतक के परिजनों ने कार्रवाई से असंतुष्टि जतायी तो पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने मौके पर ही एसपी अनुराग आर्य को फोन कर बातचीत की। उन्होंने कहा कि जब अनुराग अपने फेथ का लेवल बढ़ाएं। यदि परिजन उनसे अपने मन की बात कर सकते हैं तो एसपी से क्यों कुछ नहीं कह रहे।

आजमगढ़: खेत जा रही किशोरी से किया सामूहिक दुष्कर्म, विरोध पर की मारपीट, घरवालों को इस हाल में मिली पीड़िता

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios