Asianet News HindiAsianet News Hindi

बदायूं: बंदरों ने फाड़े गंगा एक्सप्रेस वे के महत्वपूर्ण दस्तावेज, ऑफिस के अंदर मचाया जमकर उत्पात

यूपी के बदायूं में गंगा एक्सप्रेस वे के ऑफिस में तमाम जरूरी दस्तावेजों को फाड़ दिया गया है। बताया जा रहा है कि बंदरों ने यह आतंक मचाया है। बदायूं प्रशासन ने गंगा एक्सप्रेसवे के निर्माण में कुछ त्रुटियां पाई थी। जिसकी जांच के कागजात फाड़ दिए गए हैं।

Badaun Monkeys tore important documents of Ganga Expressway created a furore inside the office
Author
First Published Sep 29, 2022, 9:43 AM IST

बदायूं: उत्तर प्रदेश के बदायूं जनपद में डीएम ऑफिस के बगल में स्थित गंगा एक्सप्रेस वे के ऑफिस में तमाम महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट्स के चिथड़े-चिथड़े कर दिए गए। साथ ही ऑफिस में रखे कंप्यूटर में भी तोड़-फोड़ की गई है। बताया जा रहा है कि गंगा एक्सप्रेस वे के ऑफिस में बंदरों के झुंड ने यह उत्पात मचाया है। यह पूरा मजारा डीएम कार्यालय के बगल के कमरे में हुआ। अब इन डॉक्यूमेंट्स को बंदरों ने फाड़ा या किसी कर्मचारी ने यह तो जांच के बाद ही सामने आएगा। बता दें कि संभल के बाद बदायूं में एक्सप्रेस वे से भी घोटाले की चर्चाएं जोर पकड़ रही हैं। 

बदायूं प्रशासन कर रहा था मामले की जांच
यूपी सरकार की महत्वपूर्ण गंगा एक्सप्रेस वे योजना पर तेजी से काम चल रहा है। यह मेरठ से शुरू होकर प्रयागराज तक जाएगा। वहीं बदायूं में करीब 92 किलोमीटर गंगा एक्सप्रेस वे का निर्माण होना है। इसमें लगभग 85 परसेंट तक लोगों की जमीनों के बैनामे किए जा चुके हैं। लेकिन इसमें कुछ जगह त्रुटियां भी पाई गई हैं। इन त्रुटियों की जांच बदायूं प्रशासन कर रहा है। इन दस्तावेजों की फाइलें बदायूं डीएम ऑफिस के बराबर के रूम में रखी गई थी। जिसके बाद अब यह खबर सामने आ रही है कि इन फाइलों के सभी दस्तावेज फाड़ दिए गए हैं।

बंदरों के झुंड ने मचाया आतंक
इस मामले पर चपरासी ने जानकारी देते हुए बताया कि ऑफिस में ताला बंद कर सभी लोग चले गए थे और जब अगले दिन कमरा खोला गया तो गंगा एक्सप्रेस वे के कागजात फटे हुए मिले। ऐसे में अंदेशा जताया जा रहा है कि बंदरों ने यह उत्पात मचाया है। चपरासी ने बताया कि खिड़की में जाली टूटी हुई थी और शीशा भी नहीं था। वहीं जब अधिकारियों से इस बारे में सवाल किए गए तो वह जवाब देने से बचते नजर आए। बताया जा रहा है कि प्रशासन से अनुमति लेकर वीडियोग्राफी करावाई जाएगी। ऐसे में सवाल यह खड़ा होता है कि इतने महत्वपूर्ण दस्तावेजों की सुरक्षा के लिए पुख्ता इंतजाम क्यों नहीं किए गए थे। एडीएम फाइनेंस संतोष कुमार वैश्य ने बताया कि शीशा टूटा होने के कारण बंदर जाली के अंदर से आ गए और सारे सामान को बर्बाद कर दिया। 

बदायूं: 2 माह के प्यार के लिए मां ने अपने ही बेटे की प्रेमी से करवाई हत्या, ऐसे हुआ पूरे मामले का खुलासा

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios