जमीन के लिए बेटियों ने कागजों पर पिता को किया मृत घोषित, खुद को जिंदा साबित करने के लिए भटक रहा बुजुर्ग

| Nov 29 2022, 01:52 PM IST

जमीन के लिए बेटियों ने कागजों पर पिता को किया मृत घोषित, खुद को जिंदा साबित करने के लिए भटक रहा बुजुर्ग

सार

बाराबंकी में जमीन के लालच में बेटियों ने अपने पिता को कागजों पर मृत घोषित कर दिया। पीड़ित पिता खुद को जिंदा साबित करने के लिए दर-दर भटकने को मजबूत है। 

बाराबंकी: यूपी के बाराबंकी जनपद से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां 7 बीघा जमीन के लिए दो बेटियों ने अपने ही पिता को मृत घोषित कर दिया। इसके बाद पिता 16 वर्षों से खुद के जिंदा होने का सबूत दे रहा है। मामला जिलाधिकारी अविनाश कुमार की चौखट तक भी पहुंच गया है। इस मामले में उन्होंने एसडीएम नवाबगंज को कार्रवाई के लिए निर्देशित किया है।

मां के साथ बेटियों ने पिता को भी घोषित करवाया मृत
आपको बता दें कि सत्यनारायण सिरौलीगौसपुर तहसील के ग्राम तुरकानी के मूल निवासी हैं। उनका विवाह बंकी ब्लाक के ग्राम बड़ेल की सरोज कुमारी के साथ में हुआ था। उनकी दो पुत्रियां प्रीति और ज्योति सैनी हैं। ग्रामीणों ने बताया कि 12 अक्टूबर 2005 को सरोज कुमारी का निधन हो गया था। इसके बाद प्रीति और ज्योति ने मां के साथ पिता को भी तत्कालीन ग्राम पंचायत अधिकारी फतेहबहादुर तिवारी के साथ मिलकर मृत दर्शा दिया। रजिस्टर की इस नकल के आधार पर 23 अक्टूबर 2005 को तकरीबन 7 बीघा जमीन की विरासत बेटियों के नाम पर तत्कालीन लेखपाल शिवाकांत द्विवेदी के द्वारा कर दी गई। इस जमीन का बैनामा बिचौलिया गणेश शंकर ने बड़ेल के बाबादीन की पत्नी शांति और अनुराग यादव के नाम पर लिखा दिया। 

Subscribe to get breaking news alerts

कई सालों से भटक रहे हैं सत्यनारायण 
इस मामले में विरासत को निरस्त करवाने के लिए सत्यनारायण ने नायब तहसीलदार प्रतापगंज के न्यायालय में 2006 में मुकदमा दाखिल किया था। यह मुकदमा अभी भी लंबित है। 2013 में तत्कालीन डीएम मिनिस्ती एस ने इस प्रकरण की जांच करवाई थी 23 अक्टूबर 2013 को तत्कालीन ग्राम पंचायत अधिकारी ने सत्य नारायण के जीवित होने के लेकर संबंधी परिवार रजिस्टर की नकल जारी की थी। हालांकि नायब तहसीलदार ने मुकदमे में सत्यनारायण को फिर भी जीवित नहीं माना। तमाम प्रयासों के बावजूद सत्यनारायण दर-दर भटकने को मजबूर हैं और अधिकारियों का कहना है कि जल्द ही मामले का निस्तारण करवाया जाएगा। 

आगरा पूनम हत्याकांड: दुकान पर ताला डालने का विरोध किया तो बहन ने मुंह पर थूका, भाई ने पुलिस को बताई पूरी कहानी

शिवपाल की सुरक्षा कम करने पर डिप्टी CM केशव मौर्य ने अखिलेश पर साधा निशाना, कहा- चाचा को भतीजे से ही था खतरा

'बेटी को घर से ले जाकर करूंगा 36 टुकड़े' धमकी के बाद नाबालिग छात्रा ने छोड़ा स्कूल