शिवपाल की सुरक्षा कम करने पर डिप्टी CM केशव मौर्य ने अखिलेश पर साधा निशाना, कहा- चाचा को भतीजे से ही था खतरा

| Nov 29 2022, 11:57 AM IST

शिवपाल की सुरक्षा कम करने पर डिप्टी CM केशव मौर्य ने अखिलेश पर साधा निशाना, कहा- चाचा को भतीजे से ही था खतरा

सार

प्रसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव की सुरक्षा कम करने पर डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने अखिलेश पर निशाना साधा। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि चाचा को भतीजे से ही खतरा था। मगर अब दोनों का मिलाप हो गया है। 

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के चाचा व प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के मुखिया शिवपाल सिंह यादव की सुरक्षा में राज्य सरकार ने कटौती की है। अब शिवपाल यादव की Z कैटेगिरी सुरक्षा को कम कर Y कैटेगिरी की सुरक्षा देने का फैसला किया गया है। इसका निर्देश सुरक्षा मुख्यालय ने जारी किया। मैनपुरी उपचुनाव में नेताजी की बहू डिंपल यादव को जिताने के लिए पूरा सैफई परिवार एक जुट हो गया है। अखिलेश व शिवपाल यादव एक बार फिर कड़वाहट को भुलाकर एक साथ आए हैं। दूसरी ओर उनकी सुरक्षा श्रेणी पर विपक्ष लगातार हमला कर रहा है।

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कसा तंज
सुरक्षा कम किए जाने के मसले पर बीजेपी व समाजवादी पार्टी में वार-पलटवार तेज हो गया। डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने ट्वीट किया कि शिवपाल सिंह यादव जी को भतीजे श्री अखिलेश यादव और सपा के अपराधियों ख़तरा था अब दोनों में मिलाप हो गया है तो सुरक्षा के लिए बड़ा ख़तरा टल गया है फिर भी उन्हें वाई श्रेणी सुरक्षा उपलब्ध है। यदि उन्हें सुरक्षा की समस्या है तो अवगत कराए। जांच कर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। 

Subscribe to get breaking news alerts

योगी ने शिवपाल यादव को पेंडुलम कहकर कसा था तंज
दूसरी ओर शिवपाल यादव की सुरक्षा कम किए जाने पर समाजवादी पार्टी मुखिया अखिलेश यादव ने बीजेपी पर पलटवार किया। उन्होंने शिवपाल सिंह यादव की सुरक्षा श्रेणी को कम करने पर आपत्ति जताई है। दूसरी ओर मैनपुरी उपचुनाव में प्रचार करने पहुंचे सीएम योगी आदित्यनाथ ने पेंडुलम कहकर शिवपाल यादव पर तंज कसा। इसकी पलटवार भी अखिलेश यादव ने किया। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सोमवार को शिवपाल सिंह यादव को लेकर दिए गए पेंडुलम संबंधी बयान पर पलटवार किया है करते हुए कहा कि पेंडुलम समय के गतिमान होने का प्रतीक है और वह सबके समय को बदलने का संकेत भी देता है। इसके साथ ही यह भी कहता है कि ऐसा कुछ भी स्थिर नहीं है जिस पर अहंकार किया जाए।

गिरवी रखने का झांसा देकर दोस्त का चुराया 3 किलो सोना, UP से MP तक भटकता रहा युवक, पूछताछ में खुला बड़ा राज

सीतापुर में बाउंड्री वाल पर चढ़कर युवक ने कुंड में लगाई छलांग, गोताखोर की कड़ी मशक्कत के बाद निकाला ऐसा नतीजा

रेलवे स्टेशन की माइक से डिंपल यादव का हुआ था प्रचार, उत्तर मध्य रेलवे के अधिकारी हुए निलंबित

गोमती रिवरफ्रंट घोटाला: शिवपाल यादव और 2 अधिकारियों की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, CBI ने मांगी पूछताछ की अनुमति

 
Read more Articles on