Asianet News HindiAsianet News Hindi

यूपी बीजेपी के नए प्रदेश अध्यक्ष बने भूपेंद्र सिंह चौधरी, छात्र जीवन से राज्यमंत्री तक ऐसा रहा सफर

यूपी बीजेपी ने नए प्रदेश अध्यक्ष का ऐलान कर दिया है। भूपेंद्र सिंह चौधरी को दिल्ली बुलाए जाने के बाद यह लगभग तय माना जा रहा था कि पार्टी उनके नाम पर ही मुहर लगाएगी। आखिरकार गुरुवार को राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने उनके नाम का ऐलान कर दिया। 
 

Bhupendra Singh Chaudhary became the new state president of UP BJP
Author
First Published Aug 25, 2022, 3:02 PM IST

लखनऊ: बीजेपी की ओऱ से यूपी के नए प्रदेश अध्यक्ष का ऐलान कर दिया गया है। बीजेपी ने भूपेंद्र सिंह चौधरी को यूपी का नया प्रदेश अध्यक्ष बनाया है। आपको बता दें कि पहले से ही इस बात की चर्चाएं जोरों पर थी कि भूपेंद्र सिंह चौधरी को प्रदेश अध्यक्ष बनाया जा सकता है। उनको दिल्ली बुलाए जाने के बाद यह लगभग तय माना जा रहा था कि प्रदेश अध्यक्ष के तौर पर गुरुवार को उनका ऐलान होगा। आखिरकार इन कयासों पर मुहर लगी औऱ बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने भूपेंद्र सिंह चौधरी के नाम का ऐलान कर दिया। 

संगठन का भी है लंबा अनुभव
गौरतलब है कि बुधवार को भूपेंद्र चौधरी को अचानक से दिल्ली बुलाया गया था। जिसके बाद वह अपना मउ-आजमगढ़ का दौरा छोड़ फौरन दिल्ली के लिए रवाना हो गए थे। आपको बता दें कि भूपेंद्र सिंह चौधरी वर्ष 1991 से वह बीजेपी से जुड़े हैं। इसके अलावा भूपेंद्र चौधरी की जाट नेता के रूप में अपनी एक अलग पहचान है। वर्तमान में वह योगी सरकार में पंचायती राजमंत्री हैं। पश्चिमी यूपी में उनकी एक अलग साख है। ऐसे में बीजेपी उनके हाथ में प्रदेश अध्यक्ष की कमान सौंप सकती है। भूपेंद्र चौधरी को संगठन का भी काफी अच्छा अनुभव है। किसान आंदोलन के समय जब किसान सरकार से नाराज थे तो भूपेंद्र चौधरी ने नाराजगी दूर करने में अहम भूमिका निभाई थी। 

पश्चिमी यूपी में पार्टी की पकड़ होगी मजबूत
बीजेपी पश्चिमी यूपी में अपनी पकड़ मजबूत करने के लिए सारे तरीके अपना रही है। बीते विधानसभा चुनाव के दौरान बीजेपी को पश्चिमी यूपी नाराजगी के चलते नुकसान झेलना पड़ा था। भूपेंद्र चौधरी को प्रदेश की कमान सौंप कर जाटों के बीच अपनी स्थिति को मजबूत करना चाहती है। स्वतंत्र देव ने जुलाई में अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। उसके बाद से प्रदेश अध्यक्ष की तलाश की जा रही थी। बीजेपी किसी ऐसे मजबूत चेहरे की तलाश में थी जो संगठन और सरकार दोनों के लिए फायदेमंद साबित हो। आखिरकार वो तलाश भूपेंद्र सिंह चौधरी पर जाकर खत्म हुई। 

ऐसा रहा अब तक का सफर
1966 में मुरादाबाद जिले के थाना छजलैट इलाके के ग्राम महेंद्री सिंकदरपुर में जन्में भूपेंद्र सिंह चौधरी की शुरुआती शिक्षा गांव के ही प्राथमिक स्कूल में हुई। फिर उन्होंने मुरादाबाद के आरएन इंटर कॉलेज से 12वीं की परीक्षा पास की। छात्र जीवन में ही वह विश्व हिंदू परिषद से जुड़े और फिर वर्ष 1991 में उन्‍होंने भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ली, इसके दो साल बाद 1993 में वह भजापा की जिला कार्यकारिणी के सदस्य बन गए। वर्ष 2006 में उन्हें भाजपा ने मुरादाबाद का क्षेत्रीय मंत्री बनाया, इसके बाद 2012 में पार्टी का क्षेत्रीय अध्यक्ष बनाया गया, 2016 में चौधरी भूपेंद्र सिंह को भारतीय जनता पार्टी ने  एमएलसी नामित किया। वर्ष 2017 में भाजपा की सरकार बनी तो चौधरी भूपेंद्र सिंह को पंचायतीराज का अध्यक्ष बनाकर राज्यमंत्री का दर्जा दिया गया।

जानिए कौन है भूपेंद्र सिंह चौधरी, दिल्ली बुलाए जाने के बाद प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने की चर्चाएं तेज

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios