मासूम रो-रोकर मांगता रहा जान की भीख, कहा- 'चाचा छोड़ दो, घर पहुंचा दो' लेकिन नहीं पसीजा आरोपी का दिल

| Dec 08 2022, 03:34 PM IST

मासूम रो-रोकर मांगता रहा जान की भीख, कहा- 'चाचा छोड़ दो, घर पहुंचा दो' लेकिन नहीं पसीजा आरोपी का दिल

सार

यूपी के देवरिया में एक युवक ने अपने दोस्त के साथ मिलकर रिश्ते में भतीजा लगने वाले बच्चे की बेरहमी से हत्या कर दी। आरोपी ने पुलिस को बताया कि हत्या के दौरान मासूम नासिर रो-रोकर अपनी जान बचाने के लिए गिड़गिड़ाता रहा, लेकिन इसके बाद भी उसका दिल नहीं पसीजा।

देवरिया: उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले में बीए पास अपने दोस्त के साथ मिलकर रिश्ते में भतीजा लगने वाले बच्चे नासिर की हत्या कर दी। बता दें कि आरोपी युवक बीटेक की पढ़ाई कर चुका है। पुलिस ने बताया कि मासूम रो-रोकर अपनी जान बचाने लिए गिड़गिड़ाता रहा। लेकिन रुपये के लालच में आरोपी सब कुछ भूल गया। आरोपी पेशेवर बदमाश की तरह वारदात को अंजाम देने के बाद शव को ठिकाने लगाकर फिरौती की रकम पाने की मंशा पाल रखी थी। बता दें कि बीते बुधवार को पुलिस ने नासिर का अपहरण कर हत्या करने के मामले का खुलासा कर दिया। 

सीसीटीवी कैमरे में कैद हुए आरोपी
आरोपी युवक महुआडीह थाना क्षेत्र के पिपरा मदन गोपाल निवासी अजरूद्दीन और गांव के दोस्त आरिफ ने इस घटना को अंजाम दिया है। आरोपी अजरूद्दीन बीटेक की पढ़ाई कर चुका है। वहीं इस वारदात में उसका साथ देने वाले आरोपी मोनू ने बीए पास किया है। एक कट्ठे भूमि के लिए इतने पढ़े-लिखे इंसान ने रिश्ते का खून कर दिया। पुलिस के अनुसार, दोनों आरोपी एक बाइक पर सवार होकर फिरौती का पत्र चस्पा करते समय सीसीटीवी में कैद हो गए थे। वहीं पूछताछ में आरोपी ने पुलिस को बताया कि दिन-भर घुमाने पर नासिर काफी खुश था। लेकिन जब रात में आरोपियों ने उसके हाथ-पैर बांधे तो वह जोर-जोर से रोने लगा। 

Subscribe to get breaking news alerts

पुलिस के सामने किया चौकाने वाला खुलासा
आरोपी ने बताया कि नासिर कहता रहा चाचा छोड़ दो, घर पहुंचा दो, मम्मी, पापा के पास जल्दी ले चलो। लेकिन मासूम के रोने पर भी आरोपी का दिल नहीं पसीजा। नासिर के रोने पर आरोपियों ने उसके मुंह में कपड़ा ठूंस दिया। वहीं हत्या के बाद शव को तालाब में ले जाकर फेंक दिया। आरोपी ने बताया कि नासिर के पिता ने करीब डेढ़ साल पहले एक भूमि तीस लाख में रुपये बेची थी। जिसके बाद भूमि का एक कट्ठा हिस्सा बचा था। जिस पर आरोपी की नजर थी। घटना के तीन दिन पहले आरोपी नासिर के घर आया था। इस दौरान एक लाख रुपए देने की बात कहकर पूरे परिवार के साथ चाय-नाश्ता किया था। लेकिन परिवार को कहां पता था कि जिसके वह खड़े हैं, वह उनके बेटे की हत्या की साजिश रच चुका है।

देवरिया: 7 साल के बच्चे का किडनैप कर बदमाशों ने की हत्या, 2 दिन बाद कुशीनगगर में शव को देख हैरान रह गए परिजन