Asianet News Hindi

एक्‍सप्रेसवे पर 'चीता' की इमरजेंसी लैंडिंग, लेने जा रहा था कोरोना संक्रमित मरीजों के टेस्‍ट का सैंपल

एयरफोर्स का चीता हेलीकॉप्‍टर कोविड-19 टेस्‍ट सैंपल्‍स लेकर हिंडन एयरबेस से चंडीगढ़ जा रहा था। कहा जा रहा है कि चीता हेलीकॉप्‍टर, कोविड-19 का सैंपल लाने लेह जाने वाला था। अचानक से हेलीकॉप्‍टर में तकनीकी खामी आ गई, जिसके कारण उसे ईस्‍टर्न पेरीफेरल एक्‍सप्रेस वे पर आपात परिस्थितियों में लैंड कराना पड़ा। 

Emergency landing of Cheetah helicopter on expressway, was going to take a test sample of corona infected patients ASA
Author
Bagpat, First Published Apr 16, 2020, 11:17 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
बागपत (Uttar Pradesh) । कोरोना वायरस से संदिग्ध संक्रमित मरीजों के टेस्ट सैंपल लेने लेह जा रहे भारतीय वायुसेना के हेलीकॉप्‍टर चीता को ईस्‍टर्न पेरीफेरल एक्‍सप्रेसवे पर लैंड कराना पड़ा है। एयरफोर्स ने बताया कि हेलीकॉप्‍टर ने गाजियाबाद स्थित हिंडन एयरबेस से उड़ान भरी थी। उड़ान भरने के कुछ ही देर बाद इसे बागपत में एक्‍सप्रेसवे पर लैंड कराना पड़ा। हालांकि, कुछ देर बाद ही एयरफोर्स का चीता हेलीकॉप्‍टर वापस हिंडन एयरबेस लौट गया।

यह है पूरा मामला
एयरफोर्स का चीता हेलीकॉप्‍टर कोविड-19 टेस्‍ट सैंपल्‍स लेकर हिंडन एयरबेस से चंडीगढ़ जा रहा था। कहा जा रहा है कि चीता हेलीकॉप्‍टर, कोविड-19 का सैंपल लाने लेह जाने वाला था। अचानक से हेलीकॉप्‍टर में तकनीकी खामी आ गई, जिसके कारण उसे ईस्‍टर्न पेरीफेरल एक्‍सप्रेस वे पर आपात परिस्थितियों में लैंड कराना पड़ा। 

यह भी जानें
आगरा एक्सप्रेस-वे पर वर्ष 2017 में एयरफोर्स के 20 फाइटर प्लेन ने लैंडिंग और टेक ऑफ किया था। इसमें जगुआर, सुखोई, मिराज और मिग कैटेगरी के फाइटर प्लेन शामिल थे। इनके अलावा एमआई-17 हेलीकॉप्टर, कैरियर एयरक्राफ्ट हरक्यूलिस-सी 17 ने भी उड़ान भरी थी। यह प्रक्रिया तकरीबन चार घंटों तक चली थी।

एयरफोर्स ने जारी किया बयान
एयरफोर्स की ओर से जारी बयान में पायलट के कदम को त्‍वरित और उचित बताया गया है। खैरियत है कि किसी तरह का नुकसान नहीं हुआ। वहीं, सूचना मिलने के तुरंत बाद रिकवरी एयरक्राफ्ट को मौके पर भेजा गया।

 
Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios