Asianet News HindiAsianet News Hindi

इन्हें कोरोना का भी खौफ नहीं, शाहीन बाग की तर्ज पर दे रहीं धरना, हटाने गई पुलिस से भिड़ी,3 महिलाएं बेहोश


कोरोना वायरस के महामारी की श्रेणी में आने के बाद योगी सरकार गंभीर हो गई है। कोरोना वायरस के संक्रमण फैलने की डर से सीएम ने सभी प्रकार धरना प्रदर्शनों पर प्रतिबंध लगा रखा है। बावजूद इसके घंटाघर के पास प्रदर्शन चल रहा है। जिसे हटाने के लिए आज पुलिस बल गई थी।

Even after Coronavirus, women protesting against CAA in Lucknow and police clash, 3 women unconscious asa
Author
Lucknow, First Published Mar 19, 2020, 6:13 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ (Uttar Pradesh) । दिल्ली के शाहीन बाग की तर्ज पर सीएए के खिलाफ बीते 17 जनवरी से घंटाघर परिसर में महिलाएं प्रदर्शन कर रही हैं। जिनके धरना को खत्म कराने के लिए आज पुलिस पहुंची। लेकिन, बात न मानने पर पुलिस ने बल प्रयोग करते हुए टेंट को उजाड़ दिया। इस दौरान पुलिसकर्मियों व प्रदर्शनकारियों के बीच धक्का मुक्की भी हुई। जिससे तीन महिलाएं बेहोश हो गईं। फिलहाल प्रदर्शनकारी महिलाएं हटने को तैयार नहीं हैं। इलाके में माहौल तनावपूर्ण है। 
 
सीएम ने लगाया है धरना प्रदर्शन पर रोक
कोरोना वायरस के महामारी की श्रेणी में आने के बाद योगी सरकार गंभीर हो गई है। कोरोना वायरस के संक्रमण फैलने की डर से सीएम ने सभी प्रकार धरना प्रदर्शनों पर प्रतिबंध लगा रखा है। बावजूद इसके घंटाघर के पास प्रदर्शन चल रहा है। जिसे हटाने के लिए आज पुलिस बल गई।

महिलाओं ने लगाया गंभीर आरोप 
प्रदर्शनकारी महिलाओं ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाया हौ। उनका कहना है कि अभद्रता करते हुए महिला सिपाहियों ने मंच को उजाड़ दिया। महिलाओं को पीटा गया। इससे तीन महिलाएं बेहोश हुई हैं। बेहोश हुई महिलाओं को नजदीकी अस्पताल ले जाया गया है। प्रदर्शनकारी महिलाएं नारेबाजी कर रही हैं। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios