Asianet News HindiAsianet News Hindi

श्रावस्ती में कक्षा तीन के छात्र की मौत पर परिजनों ने जमकर किया हंगामा, शिक्षक पर लगाएं गंभीर आरोप

यूपी के जिले श्रावस्ती में एक बालक की मौत पर परिजनों ने चक्का जाम कर दिया। परिजनों ने आरोप लगाया कि शिक्षक की पिटाई से बच्चे की मौत हुई है। वहीं स्कूल प्रबंधन का कहना है कि बच्चे को डेंगू की शिकायत थी और बेहतर इलाज न मिलने के कारण बच्चे की मौत हुई है।

family created ruckus over death of class three student Shravasti make serious allegations against teacher
Author
Lucknow, First Published Aug 19, 2022, 8:44 AM IST

आशीष पांडेय
श्रावस्ती:
उत्तर प्रदेश के जिले श्रावस्ती के सिरसिया थाना क्षेत्र के अंतर्गत एक बच्चे की मौत पर परिजनों ने जमकर हंगामा किया। बच्चे की मौत पर परिजनों ने शिक्षक पर पिटाई का आरोप लगाते हुए चक्का जामकर प्रदर्शन भी किया। पुलिस को सूचना मिलने पर घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने लोगों को समझा-बुझाकर मामले को शांत करा दिया। इस इलाके के बनकटवा निवासी बृजेश कुमार पुत्र नीबर की बुधवार रात यूपी के राज्य बहराइच में इलाज के दौरान मौत हो गई। परिजनों का आरोप है कि उनका बेटा चैलाही स्थिति एक प्राइवेट स्कूल में पढ़ता था। जहां अनुपम पाठक नाम के शिक्षक ने उसकी पिटाई की और उसके बाद से बच्चा बीमार हो गया।

बच्चों के बीच विवाद के चलते शिक्षक ने मारा था दो थप्पड़
बहराइच में बच्चा का इलाज चल रहा था लेकिन उसकी मौत हो गई। बच्चे की मौत की जानकारी मिलते ही गुरुवार को परिजनों ने ग्रामीणों के साथ विद्यालय के सामने पहुंचकर हंगामा शुरू कर दिया। इसके साथ ही सिरसिया भिनगा मार्ग को जामकर प्रदर्शन करने लगे। सूचना मिलते ही सिरसिया थानाध्यक्ष पंकज कुमार टीम के साथ मौके पर पहुंच गए। उन्होंने लोगों को  समझा बुझाकर मामले को शांत किया। ऐसा बताया जा रहा है कि बीती आठ अगस्त को कक्षा तीन के दो बच्चे आपसे में झगड़ा कर रहे थे। इस बात पर शिक्षक ने बच्चे को चार पांच थप्पड़ मार दिया था। उसके बाद भी बच्चा दो दिनों तक स्कूल गया लेकिन उसे बुखार आने लगा। पहले उसका इलाज परिजन एक झोलाछाप डॉक्टर से कराने लगे लेकिन कोई आराम नहीं हुआ तो बहराइच स्थिति अजंता अस्पताल में भर्ती कराया।

डेंगू की शिकायत को लेकर स्कूल प्रबंधन ने कही बात
अजंता अस्पताल में स्थित गंभीर देख जिला अस्पताल बहराइच में भर्ती कराया गया। इलाज के दौरान बालक की बुधवार रात को मौत हो गई। परिजनों का आरोप है कि बालक की मौत शिक्षक की पिटाई से हुई है। तो वहीं दूसरी ओर स्कूल प्रबंधन का कहना है कि बालक को डेंगू की शिकायत थी। समय से उचित इलाज न होने के कारण उसकी मौत हुई है। अब परिजनों का आरोप कितना सही है पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही इस बात का खुलासा हो जाएगा। पुलिस की ओर से बालक के चाचा की तहरीर पर आरोपित शिक्षक अनुपम पाठक के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया है और मामले की जांच की जा रही है।

गोशालाओं में पहली बार धूमधाम से मनाई जाएगी श्रीकृष्ण जन्माष्टमी, सीएम योगी ने दिए निर्देश

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios