मैनपुरी(Uttar Pradesh). यूपी के मैनपुरी में एक दिल को झकझोरने वाला मामला सामने आया है। यहां घर से बकरी चराने गए चार मासूम बच्चों की पानी में डूबने से मौत हो गई। बच्चों के लौटने में देर हुई तो परिजनों ने उनकी तलाश शुरू की। खेत में बने एक पानी भरे गढ्ढे के पास बच्चों के चप्पल मिलने पर मामले का खुलासा हुआ। पानी भरे गढ्ढे से चारों बच्चों की लाश बरामद हो गई है। मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। 

मामला मैनपुरी जिले के ​बरनाहल थाना क्षेत्र के ग्राम बीनपुर गांव का है। गांव में रविवार को चार बच्चे 10 वर्षीय सनी, 10 बर्षीय सूरज, 9 वर्षीय मनोज तथा 10 वर्षीय धर्मवीर बकरियां चराने निकले थे। देर रात तक जब बच्चे घर नहीं पहुंचे तो परिजनों द्वारा उनकी तलाश शुरू हुई। गांव के समीप ही स्थित खेत में बने एक गड्ढे के निकट बच्चे की चप्पल मिली तो पानी में उनकी तलाश शुरू कराई गई। जिसके बाद चारों बच्चों का शव पानी से निकाला गया। बच्चों की मौत से परिजनों में कोहराम मच गया। 

ईंट बनाने के निकाली गई मिट्टी से बने गढ्ढे में डूबे चारों बच्चे 
बताया जा रहा है कि खेत में ईंट पथाई के लिए निकाली गई मिट्टी से बने गड्ढे में पानी भरा हुआ था। पुलिस आशंका जता रही है कि चारों बच्चे नहाने के उद्देश्य से पानी में उतरे होंगे और गहराई का अंदाजा न लगने से वे उसमें डूब गए। बच्चों की मौत के बाद उनके परिजनों में कोहराम मच गया। 

मौके पर पहुंचे आलाधिकारियों ने ली घटना की जानकारी 
घटना की जानकारी पाकर एसपी अजय कुमार पांडेय, एएसपी ओमप्रकाश सिंह, एसडीएम घिरोर, एसडीएम करहल रतन वर्मा, सीओ कुरावली ददन प्रसाद, सीओ करहल अशोक कुमार कई थानों की पुलिस लेकर मौके पर पहुंच गए। फ़िलहाल बच्चों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।