Asianet News HindiAsianet News Hindi

मेरठ में गैस सिलेंडर फटने से कई मकान ध्वस्त, लोगों के मलबे में दबने की आशंका

मेरठ के लिसाड़ीगेट के समर गार्डन में मकान के अंदर विस्फोट होने से दो मकान गिर गए हैं। हादसे में एक की मौत हो गई है, जबकि परिवार के कुछ सदस्य मकान के अंदर दबे हुए है। 
 

gas cylinder explosion in meerut house collapsed women dies and many people were buried under the damage house
Author
Meerut, First Published Jun 27, 2022, 6:32 PM IST

मेरठ:  यूपी के मेरठ के लिसाड़ीगेट थाना क्षेत्र में सोमवार की दोपहर बड़ा हादसा हो गया है। रसोई गैस सिलेंडर फटने से पूरा मकान धराशाई हो गया है और पूरे इलाके में दहशत का माहौल बना हुआ है। बता दें कि धमाका इतना तेज था कि आसपास के मकान भी क्षतिग्रस्त हो गए है और कई लोग मलबे में दबे हुए है। इस हादसे में एक  की मौत हो गई है। उन्हें निकालने के लिए रेस्क्यू टीमें लगा दी गई है।

लिसाड़ीगेट के समर गार्डन के पास हुआ हादसा
हालांकि, लिसाड़ीगेट के समर गार्डन के 60 फुटा रोड पर ये हादसा हुआ है। धमाका इतना जबरदस्त था कि मकान तक गिर गया है और घर में मौजूद सदस्य मलबे में दब गए और इतना ही नहीं बगल के मकान भी क्षतिग्रस्त हो गए है। धमाका होते ही पूरे इलाके में अफरातफरी का माहौल बना हुआ है। वहां पर मौजूद लोगों ने पुलिस को सूचना दी और मौके पर पहुंची पुलिस की टीम बचाव और राहत में जुट गई है। बता दें कि जेसीबी की मदद से मकान का लिंटर काटकर मलबे में दबे लोगों को निकालने की कोशिश की जा रही है।

सिलेंडर फटने से हुआ धमाका
इस मामले में ये माना जा रहा है कि कई परिवार के लोग मलबे के अंदर दबे हुए है। इस को लेकर सीओ अरविंद चौरसिया का कहना है कि 'अभी तक जानकारी में आया कि सिलेंडर फटने से धमका हुआ है। हालांकि पटाखे बनने की भी जानकारी मिल रही है। फिलहाल मलबे में दबे लोगों को निकालने का प्रयास किया जा रहा है। उसके बाद धमाके की जांच की जाएगी।'

धमाका इतना तेज़ था की कई मकान क्षतिग्रस्त हो गए
धमाके के कारण 3 मकान जमींदोज हो गए, जबकि आसपास के 6 मकान क्षतिग्रस्त हो गए हैं। धमाके के वक्त घर में करीब 10 लोग मौजूद थे। जिसमें 6 बच्चे भी हैं। पुलिस ने रेस्क्यू ऑपरेशन करके अब तक 3 लोगों को मलबे से बाहर निकाला है। एक की मौत हो गई है। जबकि दो लोग अस्पताल में जिंदगी और मौत से लड़ रहे हैं। अभी भी कई बच्चे और अन्य लोग मलबे में दबे हैं और इन्हें निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है।

रिफाइंड से भरा टैंकर पलटते ही तेल भरने के लिए डिब्बे लेकर दौड़ पड़े सैकड़ों लोग, पुलिस ने भांजी लाठियां

कन्नौज में फूड प्वाइज़निंग से एक ही परिवार के 8 लोग हुए बीमार, दो सगी बहनों ने दुनिया को कहा अलविदा

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios