Asianet News HindiAsianet News Hindi

गाजियाबाद: पढ़ाई से बचने के लिए छात्र ने किया दोस्त का मर्डर, हत्या करने से पहले मोबाइल पर देखा ऐसा वीडियो

गाजियाबाद में पढ़ाई से बचने के लिए आरोपी छात्र ने अपने साथ पढ़ने वाले दोस्त की निर्ममता से हत्या कर दी। आरोपी ने पुलिस पूछताछ में बताया कि वह पढ़ाई और स्कूल से बचने के लिए जेल जाना चाहता था।

Ghaziabad Student murdered friend to avoid studies saw such a video on mobile before killing him
Author
Ghaziabad, First Published Aug 23, 2022, 1:22 PM IST

गाजियाबाद: उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद स्थिति मसूरी थाना क्षेत्र में हुए एक छात्र की हत्या मामले की जांच पुलिस ने पूरी कर ली है। पुलिस ने बताया कि छात्र की हत्या उसके दोस्त ने ही की थी। आरोपी 10वीं का छात्र है। पढ़ाई से बचने के लिए उसने यह खौफनाक कदम उठाया था। स्कूल जाने और पढ़ाई से बचने के लिए उसने अपने ही दोस्त की हत्या करने की प्लानिंग बना डाली और इसे अंजाम भी दे दिया। आरोपी ने पुलिस को बताया कि उसके माता-पिता उस पर पढ़ाई का दबाव बनाते थे। पढ़ाई न करने पर उसे डांटते थे। इसीलिए उसने हत्या की योजना बनाई थी।

पढ़ाई से बचने के लिए कर दी दोस्त की हत्या
जानकारी के अनुसार, आरोपी की उम्र 16 वर्ष की है और वह दो बार फेल भी हो चुका है। पढ़ाई से बचने के लिए उसने जेल जाने की योजना बनाई थी और इसके बारे में मोबाइल पर भी सर्च किया था। उसने मोबाइल पर देखा था कि जेल कि जिंदगी कैसी होती है। वहां पर क्या खाना मिलता है, रहन-सहन कैसा होता है और अगर वह जेल जाता है तो उस पर पढ़ाई का दबाव बनाया जाएगा या नहीं। इन सब बातों की जानकारी करने के लिए आरोपी छात्र ने कई वीडियोज देखे थे। जिसके बाद उसने हत्या की योजना बनाई थी। पुलिस ने बताया कि आरोपी छात्र के पिता प्रॉपर्टी डीलर है। छात्र शुरूआत से ही पढ़ाई में कमजोर था जिस कारण वह दो बार 10वीं में फेल हो चुका था। छात्र के माता-पिता उस पर पढ़ाई का दबाव बनाते थे। छात्र इस वर्ष तीसरी बार 10वीं की पढ़ाई कर रहा था।

पुलिस पूछताछ में कुबूली हत्या की बात
आरोपी ने बताया कि वह अपने माता-पिता और पढ़ाई से दूर जाता चाहता था। जहां पर उसे कोई पढ़ाई करने के लिए बोलने वाला न हो। इसलिए उसने अपने दोस्त को मार डाला। उसे दोस्त की हत्या का कोई अफसोस भी नहीं है। आरोपी को मंगलवार को किशोर न्याय बोर्ड में पेश किया जाएगा। पुलिस को सोमवार शाम आरोपी छात्र के दोस्त नीरज का शव  दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे के नीचे मिला था। नीरज आकाशनगर फेज-2 में रहता था। पुलिस ने जब मामले की जांच शुरू की तो पता चला कि मृतक छात्र को आखिरी बार उसी इलाके में रहने वाले उसके एक दोस्त के साथ देखा गया था। पुलिस ने जब उससे पूछताछ की तो उसने हत्या की बात कुबूल कर ली। उसने पुलिस को बताया कि पहले नीरज का उसने गला दबाया फिर बीयर की बोतल फोड़कर उसके कांच से गला रेत दिया। 

हत्या की वजह सुनकर पुलिस हुई दंग
एसपी देहात ईरज राजा ने जब हत्या के कारण सुना तो वह सुनकर दंग रह गए। आरोपी ने साफतौर पर कहा कि पढ़ाई से बचने के लिए उसने जेल जाना उचित समझा। आरोपी ने पुलिस को बताया उसने 1 महीने पहले हत्या की प्लानिंग कर ली थी। उसने अपने साथ पढ़ने वाले नीरज को मोहरा बनाया। वह पिछले तीन दिनों से उसकी हत्या करने के लिए उसी सुनसान जगह नीरज को लेकर जा रहा था। लेकिन वह किसी कारण से उसकी हत्या नहीं कर पाया। जिसके बाद सोमवार को आरोपी एक बार फिर अपने दोस्त को लेकर दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे के नीचे सुनसान जगह पर लेकर पहुंचा। आरोपी ने पहले नीरज का गला दबाया। जब छात्र बेहोश हो गया तो खाली पड़ी बियर की बोतल तोड़कर उससे अपने दोस्त का गला रेत दिया। काफी देर तक मृतक के शरीर में कोई हलचल नहीं हुई तो वह वापस अपने घर आ गया।

गाजियाबाद में नशेड़ी ने दो बच्चियों का किया अपहरण, सर्च ऑपरेशन के दौरान आरोपी ने पुलिस से बोली ये बात

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios