Asianet News HindiAsianet News Hindi

बेटी की हत्या के बाद न्याय के लिए दर-दर भटक रहे बुजुर्ग मां-बाप, घटना के 24 दिन बाद भी नहीं हुई कोई कार्रवाई

यूपी के जिले गोंडा में बीते दिनों दहेज के खातिर ससुराल वालों ने विवाहिता की हत्या कर दी गयी थी। बेटी की हत्या के बाद न्याय के लिए बुजुर्ग माता-पिता को दर-दर भटकना पड़ रहा है। घटना के 24 दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की है।

Gonda Elderly parents wandering justice after daughter murder no action taken even after 24 days incident
Author
First Published Sep 4, 2022, 2:11 PM IST

गोंडा: उत्तर प्रदेश के जिले गोंडा में बुजुर्ग मां-बाप अपने बेटी की हत्या के बाद न्याय के लिए दर-दर भटक रहे है। शहर में बीते दिनों दहेज के लिए ससुराल वालों ने विवाहिता की हत्या कर दी थी। विवाहिता की 24 दिन मौत के बाद पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है। इसी वजह से मृतक महिला के माता-पिता ने शहर के मुख्यालय पहुंचकर डीआईजी का दफ्तर खटखटाया है। उनका आरोप है कि बेटी के हत्यारों पर करनैलगंज पुलिस मेहरबान है।

मां-बाप के पहुंचने से पहले ससुराल वालों ने जला दिया था शव
जानकारी के अनुसार यह मामला शहर के करनैलगंज थाने का है। जहां श्रावस्ती जिले के गिलौला के रहने वाले अशोक गुप्ता ने अपनी बेटी की शादी करनैलगंज के कस्तूरी ग्राम निवासी संजय गुप्ता के साथ की थी। पर उनको क्या पता था कि दहेज के खातिर उनकी बेटी की जान चली जाएगी। मृतका के माता-पिता का कहना है कि लड़के वालों ने पांच लाख नगद व सोने की चैन की मांग की थी। इसी वजह से नौ अगस्त को आरोपियों ने बेटी को मौत के घाट उतार दिया। इतना ही नहीं इस मामले को दबाने के लिए मृतका के मां-बाप के पहुंचने से पहले की शव को जला दिया।

पीड़ित माता-पिता पुलिस से निराश होकर डीआईजी से की शिकायत
इसी के बाद बुजुर्ग माता-पिता मामले की तहरीर लेकर 10 अगस्त को करनैलगंज थाना पहुंचे। उसके बाद घटना को पूरे 24 दिन बीत गए और करनैलगंज पुलिस ने हत्यारों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है। पुलिस से न्याय मिलना तो दूर उनकी शिकायत तक दर्ज नहीं हुई थी। चार दिन लगातार दौड़ने के बाद एडिशनल एसपी शिवराज प्रजापति के आदेश पर मामला दर्ज तो हो गया लेकिन अभी तक हत्यारों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है। इस बात से निराश होकर पीड़ित परिजन श्रावस्ती से चलकर गोंडा डीआईजी के दफ्तर पहुंचकर पूरे मामली की शिकायत दर्ज कर न्याय की गुहार लगाई है।

प्रधानाध्यापिका के सस्पेंड होने पर फूट-फूटकर रोए बच्चे, शिक्षिका बोलीं- अभद्रता के विरोध पर मिला ये पुरस्कार

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios