Asianet News HindiAsianet News Hindi

अपार्टमेंट में है आपका आशियाना तो इस नए टैक्स के लिए रहिए तैयार, गोरखपुर नगर निगम ने बनाई पूरी योजना 

गोरखपुर में नगर निगम एक नए टैक्स को लगाने की तैयारी में है। बाबा राघवदास मेडिकल कॉलेज के बगल में बन रहे अपार्टमेंट से रोजाना तकरीबन 11 टन कूड़ा निकल रहा है। 

Gorakhpur nagar nigam new garbage tax from apartments notice
Author
First Published Sep 13, 2022, 10:44 AM IST

गोरखपुर: नगर निगम कूड़ा निस्तारण के लिए अपार्टमेंट पर शिकंजा कसने जा रहा है। रोजाना कूड़ा उठाने में होने वाले खर्च को अब अपार्टमेंट प्रबंधकों से वसूल किया जाएगा। इसकी शुरुआत भी पैराडाइज जेमनी अपार्टमेंट से कर दी गई है। आपको बात दें कि बाबा राघवदास मेडिकल कॉलेज के बगल में बने इस अपार्टमेंट से रोजाना तकरीबन 11 टन कूड़ा निकलता है। 

कूड़ा उठाने में नगर निगम को आ रहा काफी खर्च
बताया गया कि प्रतिदिन कूड़ा उठाने में नगर निगम का यहां पर 2850 रुपए का खर्च होता है। इसके आधार पर नगर निगम ने हर माह 85 हजार 500 रुपए जमा करने के लिए कहा है। दरअसल महानगर में अपार्टमेंट की संख्या दर्जनों में है। इसमें सौ से ज्यादा फ्लैट भी हैं। इन फ्लैट से रोजाना काफी कूड़ा निकलता है और इसे अपार्टमेंट के बाहर ही रख दिया जाता है। अब तक नगर निगम इस कूड़े को बिना किसी शुल्क के उठाता था लेकिन अब नई व्यवस्था तैयार की जा रही है। ज्ञात हो कि नगर निगम क्षेत्र के हर घर से कूड़ा लेता है। पहले अपार्टमेंट से ही कूड़ा उठाने की शुरुआत की गई। इसके बाद नागरिकों से सूखा कचरा औऱ गीला कचरा अलग करके देने को भी कहा या। 

नए वाहनों की भी नगर निगम करने जा रहा खरीद
वहीं पैराडाइज जेमनी अपार्टमेंट में नगर निगम के वाहनों को भी अंदर जाने की इजाजत नहीं दी जाती। मेडिकल कालेज रोड के किनारे कूड़ा रखा जाता है। अफसर बताते हैं कि अपार्टमेंट के प्रबंधक को कई बार प्रति फ्लैट के हिसाब से पैसा जमा करने के लिए कहा गया। हालांकि इस ओर कोई भी ध्यान नहीं दिया जा रहा है। ऐसे में नोटिस जारी करने की प्रक्रिया शुरू की गई। इसके तहत प्रति फ्लैट सौ रुपए जमा करवाने होंगे और इसे कूड़ा चालक को देना होगा। यदि ऐसा नहीं होता है तो इस कूड़े को उठाने का खर्च अलग से जमा करना होगा। मामले को लेकर नगर आयुक्त अविनाश सिंह ने कहा कि घर-घर से कूड़ा उठाने के लिए वाहनों की खरीद की जा रही है। ऐसे में नागरिकों को जागरुक करने का काम भी जारी है। यदि नगर निगम का सहयोग नहीं किया जाएगा तो फिर नोटिस जारी करने का काम होगा। 

मुजफ्फरनगर में पूरी बारात के सामने दूल्हे को बनाया गया मुर्गा, खाना खाने के अचानक हुई इस घटना से बदल गया माहौल

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios