Asianet News Hindi

हिंदूवादी नेता के पीछे कंबल ओढ़े सीसीटीवी कैमरे में दिखा ये संदिग्ध, पुलिस ने रखा 50 हजार का ईनाम


विश्व हिंदू महासभा के अध्यक्ष रंजीत बच्‍चन आज सुबह मौसेरे भाई आदित्य के साथ मार्निंग वॉक पर निकले थे। रास्ते में उनकी गोली मारकर हत्या कर दी गई। गोली रंजीत के सिर में लगी थी, जबकि उनके मौसेरे भाई के हाथ में गोली लगी है। 
 

In Lucknow, Hinduist leader Ranjit Bachchan murdered, a reward of 50 thousand on the suspects who draped the blanket behind him asa
Author
Lucknow, First Published Feb 2, 2020, 7:44 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ (Uttar Pradesh) । विश्व हिंदू महासभा के अध्यक्ष रंजीत बच्चन की हत्या के बाद कई बातें सामने आ रही हैं। आज सुबह मॉर्निंग वॉक पर निकले रंजीत बच्चन अपने आवास से एक किमी दूर हजरतगंज से परिवर्तन चौराहे की तरफ जाने वाले रास्ते में पैदल जाते सीसीटीवी कैमरें में देखे जा रहे हैं। उनके पीछे एक व्यक्ति शॉल ओढ़े चल रहा है। आशंका जताई जा रही है कि यही संदिग्ध ही मुख्‍य आरोपी है। पुलिस ने इस संदिग्ध व्यक्ति पर 50 हजार रुपए का ईनाम भी रख दिया है। वहीं, घटना का राजफाश करने के लिए आठ टीमें गठित की गई हैं।

पुलिस को ये नहीं मिल रही जानकारी
जांच में जुटी पुलिस को आज सुबह मॉर्निंग वॉक के लिए रंजीत अपने घर से कब निकले, यह जानकारी नहीं मिल पा रही है। ओसीआर बिल्डिंग में लगे 9 सीसीटीवी कैमरों में रणजीत बच्चन का घर से निकलने का फुटेज नहीं मिला है। ऐसे में पुलिस यह नहीं तय कर पा रही है कि रंजीत बच्चन ओसीआर से ही सुबह निकले थे या फिर रात में वह कहीं और रुके थे, लेकिन वह अपने आवास से एक किमी दूर हजरतगंज से परिवर्तन चौराहे की तरफ जाने वाले रास्ते में पैदल जाते देखे जा रहे हैं।

रंजीत के नाम नहीं अलॉट था आवास
जांच में ये बात सामने आई कि ओसीआर बी ब्लॉक-604 में रहने वाले रंजीत के नाम आवास अलॉट नहीं था। राज्य संपत्ति विभाग ने 30 दिसंबर, 2013 में रंजीत बच्चन की पत्नी कालिंदी के भारतीय सोशल वेलफेयर फाउंडेशन के नाम एक साल के लिए यह आवास अलॉट किया था। जिसके बाद इसे कभी रिन्युअल नहीं कराया गया। पुलिस मामले की जांच में आवास पर आने-जाने वालों लोगों की डिटेल खंगाल रही है। 

करीबियों से हो रही पूछताछ
पुलिस की जांच में ये भी बात सामने आई कि रंजीत आज एक लड़की की नौकरी के संबंध में नोएडा जाने वाले थे। पुलिस रंजीत के नौकरी लगाने को लेकर भी जांच कर रही है। पुलिस रंजीत के करीबी की पत्नी को भी थाने लाकर पूछताछ कर रही है। पुलिस की मानें तो यह मामला करीबियों से जुड़ा है। हत्याकांड के वक्त साथ में मौजूद घायल मौसेरे भाई आदित्य श्रीवास्तव और अन्य करीबियों से भी पुलिस पूछताछ कर रही है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios