झांसी: रिश्तेदार बनकर पहुंचे युवक ने 6 साल की बच्ची को घर से किया अगवा, 17 घंटे बाद भी नहीं मिला सुराग

| Nov 26 2022, 11:38 AM IST

झांसी: रिश्तेदार बनकर पहुंचे युवक ने 6 साल की बच्ची को घर से किया अगवा, 17 घंटे बाद भी नहीं मिला सुराग

सार

यूपी के झांसी में एक युवक ने खुद को रिश्तेदार बताकर 6 साल की बच्ची का अपहरण कर लिया। वहीं 17 घंटे बीत जाने के बाद भी पुलिस को युवक और बच्ची का कोई सुराग नहीं मिला है। फिलहाल पुलिस बच्ची की तलाश कर रही है।

झांसी: उत्तर प्रदेश के झांसी जिले से एक सनसनीखेज वारदात सामने आई है। रिश्तेदार बनकर घर पहुंचे युवक ने 6 साल की बच्ची को अगवा कर लिया। इस घटना के 17 घंटे बाद भी पुलिस बच्ची और आरोपी युवक को नहीं ढूंढ पाई है। पूरी रात पुलिस और बच्ची के घरवाले उसकी तलाश करते रहे। लेकिन उसका कोई सुराग नहीं मिला। बताया जा रहा है कि युवक एक नीले रंग का बैग छोड़ गया है। जब पुलिस ने बैग की तलाशी ली तो उसमें रामगोपाल बाबा की फोटो, तौलिया, लोवर और छोटी डायरी मिली है। डायरी में कुछ नंबर भी लिखे हुए हैं।

युवक ने खुद को बताया रिश्तेदार
बताया जा रहा है कि युवक झांसी में पुलिया नंबर 9 पर पकड़ा गया। लेकिन उसके साथ बच्ची नहीं मिली। टहरौली थानाक्षेत्र के खिल्लावारी गांव में रहने वाले अरविंद अहिरवार उर्फ आशाराम की 6 साल की बेटी अंशिका पहली कक्षा में पढ़ती है। बीते शुक्रवार को अंशिका की मां ऊषा और बाबा प्यारेलाल खेत पर गए थे। इस दौरान घर पर दादी कस्तूरी और पिता घर पर थे। बच्ची के चाचा संतोष अहिरवार ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि शुक्रवार शाम के समय एक युवक घर आया। युवक ने बताया कि वह रानीपुर से आया है। उसने खुद को मौसा का भाई बताया। काफी देर तक घर में बैठने के बाद वह परिवार के अन्य लोगों के बारे में जानकारी लेने लगा।

Subscribe to get breaking news alerts

नहीं मिला बच्ची का सुराग
दादी कस्तूरी ने बताया कि घर के अन्य लोग खेत पर गए हैं। तभी युवक बच्ची अंशिका से पूछने लगा कि वह उसे खेत में लेकर चले। लेकिन युवक बच्ची को लेकर ना तो खेत पहुंचा और ना ही वापस घर आया। काफी देर होने के बाद जब अंशिका मां और दादा घर पहुंचे तो दादी कस्तूरी बच्ची और कथित रिश्तेदार के बारे में पूछने लगे। इस पर उन्होंने बताया कि खेत पर कोई नहीं आया था। इसके बाद घरवाले बच्ची और युवक को तलाश करने लगे। इसके बाद मामले की जानकारी पुलिस को दी गई। पुलिस ने आसपास के गांवों में पता किया, लेकिन दोनों का कुछ पता नहीं चल सका।

मामले की जांच में जुटी पुलिस
इसके बाद पुलिस की एक टीम रानीपुर के लिए रवाना हुई। इस दौरान पता चला कि मौसा का भाई घर पर नहीं है। वहीं पुलिस को जानकारी मिली कि युवक झांसी के 9 नंबर पुलिया पर रहता है। पुलिस ने आरोपी को पकड़ा लेकिन उसके बाद बच्ची नहीं मिली। एसपी सिटी राधेश्याम राय ने बताया कि बच्ची के मामले में टहरौली थाने में केस दर्ज कर लिया गया है। बच्ची का पता लगाने के लिए टहरौली, सकरार थाना, प्रेम नगर थाना समेत 4 पुलिस टीमों का गठन किया गया है। उन्होंने कहा कि बच्ची को बरामद कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

'मेरे सामने बहन से करता था गंदे मजाक, नहीं माना तो कर दी हत्या', आरोपी के खुलासे से पुलिस भी रह गई दंग