Asianet News HindiAsianet News Hindi

मिड-डे-मील के लिए थाली नहीं लाने पर प्रिंसिपल ने मासूम को पीटा, छात्र का फफककर रोते हुए वीडियो वायरल

यूपी के कानपुर के एक प्राइमरी स्कूल का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। इस वीडियो में स्कूल के प्रधानाचार्य पर बच्चे को बेरहमी से मारने का आरोप लगा है। मिड-डे-मील के खाने के लिए थाली नहीं लाने पर बच्चे की बेरहमी से पिटाई कर दी गई। 

Kanpur Principal brutally thrashes an innocent child for not bringing a plate for mid day meal video of student crying hysterically goes viral
Author
First Published Nov 1, 2022, 2:49 PM IST

कानपुर: उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले का एक वीडियो सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है। वायरल वीडियो में प्राइमरी स्कूल के प्रधानाचार्य पर एक मासूम छात्र को बेरहमी से पीटने का आरोप लगा है। यह मामला बिठूर थाना क्षेत्र का बताया जा रहा है। मासूम छात्र की गलती केवल इतनी थी कि वह मिड-डे-मील का खाना लेने के लिए अपने घर से थाली नहीं लाया था। इस पर मासूम को बेरहमी से पीट दिया गया। बताया जा रहा है कि पिटाई के दौरान बच्चे के मुंह से खून आ गया था। वायरल वीडियो में पीड़ित बच्चा पिटने की वजह बताता नजर आ रहा है। 

अन्य साथी बच्चे को कराते रहे चुप
प्राप्त जानकारी के अनुसार, वायरल वीडियो कल्याणपुर के प्राइमरी स्कूल का बताया जा रहा है। पीड़ित बच्चे का नाम सूर्यांश बताया जा रहा है। पिटाई के बाद बच्चा काफी देर तक स्कूल के बरामदे में बैठकर रोता रहता है। इस दौरान उसके अन्य साथी उसे चुप कराते नजर आते हैं। तभी इस घटना का किसी ने वीडियो बनाकर वायरल कर दिया। घटना का वीडियो सामने आने के बाद लोग स्कूल के प्रधानाचार्य पर कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि सूर्यांश के परिवार वालों ने मामले की अभी तक कोई लिखित शिकायत नहीं की है। 

मामले की हो रही है जांच
इस पूरे मामले पर बेसिक शिक्षा अधिकारी सुरजीत सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि घटना उनके संज्ञान में है। उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच खंड शिक्षा अधिकारी को सौंपी गई है। इस दौरान वह इस वायरल वीडियो का साक्ष्य जुटाने में लगे हुए हैं। बेसिक शिक्षा अधिकारी ने बताया कि साक्ष्य के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। इस मामले में जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाएगा। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि यदि इस मामले में प्रधानाचार्य दोषी पाए जाते हैं तो उन्हें सस्पेंड भी किया जा सकता है। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।

जर्जर मकान का छज्जा गिरने से 7 साल की बच्ची की मौत, दो घायल, मृतका के घरवालों ने मकान मालिक पर लगाए गंभीर आरोप

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios