Asianet News HindiAsianet News Hindi

यूपी विधानसभा में बोले अखिलेश- मुझे डर है आजम की यूनिवर्सिटी से बम या AK-47 न बरामद कर ली जाए

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मानसून सत्र के तीसरे दिन आजम खान का मुद्दा उठाया। उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष को कहा कि उन्हें डर है कि कहीं यूनिवर्सिटी से बम या AK-47 न मिल जाए। इतना ही नहीं आगे कहते है कि सरकार आजम खान को घेरने की कोशिश कर रही है।

lucknow akhilesh yadav raises azam khan university issue up assembly says I am afraid that bombs or AK 47 should not be recovered found inside
Author
First Published Sep 21, 2022, 2:04 PM IST

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव अपनी पार्टी के बहुत पुराने लीडर आज़म खान को लेकर बेहद डरे हुए हैं। यह डर उन्होंने यूपी विधानसभा के तीसरे दिन जाहिर किया है। मानसून सत्र के तीसरे दिन की कार्यवाही सुचारू रूप से शुरू भी नहीं हुई थी कि उससे पहले ही अखिलेश यादव ने विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना के सामने आजम खान को लेकर उनके मन में बैठे इस डर के बारे में बोलना शुरू कर दिया। इतना ही नहीं वह इस वक्त इतने हड़बड़ी में थे कि यह डर उनके चेहरे में साफ देखा जा सकता था।

अखिलेश ने जौहर यूनिवर्सिटी को घेरने का किया जिक्र
सपा मुखिया अखिलेश यादव ने विधानसभा अध्यक्ष से सदन में कहा किसदन के बहुत ही वरिष्ठ नेता आजम खान साहब की यूनिवर्सिटी को घेर लिया और यह पहली बार नहीं घेरा गया है। अध्यक्ष महोदय, लगातार घेर रहे हैं और इस बार तो तैयारी ये है कि कहीं कुछ ऐसा न हो जाये जैसे एक बम रख दिया या फिर AK-47 रख दी। अखिलेश आगे कहते है कि हो सकता है कि आजम खान साहब के यहां ये सब झूठी चीजें रख दी जाए और मुकदमा दर्ज कर लिया जाए। अध्यक्ष महोदय, चाहता हूं कि इस पर कम से कम कुछ हो जाए। उनको इस बात का डर है कि कहीं आजम खान की यूनिवर्सिटी से कोई बम या फिर AK-47  रायफल न बरामद कर ली जाए।

अखिलेश ने इन दो मामलों का दिया हवाला
बता दें कि सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मंगलवार को सदन में प्रतापगढ़ के उस छात्र का मामला उठाया था, जिसने डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या के काफिले को काला झण्डा दिखाया गया था। पुलिस ने उसको गिरफ्तार कर जेल तो भेज दिया था लेकिन उसके घर से पांच देसी बम भी बरामद किए गए थे। इतना ही नहीं इससे पहले भदोही के ज्ञानपुर विधायक विजय मिश्रा के ठिकाने से AK-47 रायफल और कारतूस बरामद किए गए थे। सपा मुखिया इन्हीं दोनों घटनाओं को आधार बनाकर योगी सरकार पर आरोप लगा रहे थे कि कहीं आजम खान को घेरने के लिए सरकार उनकी यूनिवर्सिटी से बम या फिर रायफन न बरामद करवा दे। दरअसल पिछले दो-तीन दिनों से जौहर यूनिवर्सिटी के कैम्पस में सर्च अभियान चल रहा है। इसी दौरान खुदाई में मशीनें के साथ-साथ किताबों को बरामद किया गया था।

पैदल मार्च रोकने के बाद समाजवादी पार्टी लाएगी विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव, राज्य सरकार ने भी बनाई खास रणनीति

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios