Asianet News HindiAsianet News Hindi

मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास की लगातार तलाश जारी, पुलिस ने सरकारी आवास पर भी दी दबिश

मऊ सदर से सुभासपा विधायक अब्बास अंसारी के ठिकानों पर पुलिस की छापेमारी लगातार जारी है। इस बीच लखनऊ स्थित सरकारी आवास पर भी पुलिस की ओर से दबिश दी गई। हालांकि यहां ताला लगा मिला। 

lucknow police raid on government residence of mukhtar son abbas ansari 
Author
Lucknow, First Published Aug 7, 2022, 6:12 PM IST

लखनऊ: मऊ सदर से सुभासपा विधायक अब्बास अंसारी की तलाश में लखनऊ पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। पुलिस चार जगहों पर दबिश दे रही है। इसमें से तीन टीमें गाजीपुर, मऊ और दिल्ली में दबिश दे रही है वहीं एक और टीम लखनऊ में भी कई जगहों पर छापेमारी कर रही है। कई दिनों से पुलिस अब्बास की तलाश में लगी है। 

तीन साल पहले दर्ज हुआ था फर्जीवाड़े का केस
अब्बास बांदा जेल में बंद बाहुबली मुख्तार अंसारी का बेटा है। उसके खिलाफ लखनऊ के ही महानगर थाने में तीन साल पहले फर्जीवाड़े का केस दर्ज किया गया था। आरोप है कि एक ही लाइसेंस पर उसने कई हथियार खरीदे थे। इस मामले में एमपी एमएलए कोर्ट के विशेष एसीजएम अंबरीश श्रीवास्तव के कोर्ट में चल रही है। कोर्ट ने आदेश दिया है कि अब्बास को 27 जुलाई को गिरफ्तार करके कोर्ट को सूचित किया जाए। 

अग्रिम जमानत की दायर याचिका हुई खारिज
इस बीच उसे गिरफ्तारी से बचने के लिए अब्बास ने विशेष अदालत में अग्रिम जमानत याचिका भी दायर की है। यह याचिका बीते गुरुवार को खारिज हो गई थई। इसके बाद से ही पुलिस लगातार उसकी तलाश में दबिश दे रही है। कई टीमों की दिनरात मशक्कत के बाद भी पुलिस को इस मामले में सफलता हाथ नहीं लग सकी है। इसी कड़ी में पुलिस ने दारुलशफा के विधायक निवास 107 नंबर पर भी दबिश दी। यहां घर के गेट पर ताला लगा मिला। इसके बाद पुलिस खाली हाथ ही वहां से वापस आ गई। ज्ञात हो कि यह पूरा मामला 12 अक्टूबर 2019 को दर्ज हो गया था। इसकी जांच के बाद पुलिस ने धारा 467, 468, 471, 420 और आर्म्स एक्ट की धारा 30 के तहत कोर्ट में आरोप पत्र दाखिल किया था। इसके बाद ही कोर्ट ने गिरफ्तारी को लेकर वारंट जारी किया था, लेकिन वह लगातार फरार चल रहे हैं। 

राजकीय सम्मान के साथ 'ओली' को गोंडा पुलिस ने दी अंतिम विदाई, नम हुई पुलिसकर्मियों की आंखें

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios