मेरठ (Uttar Pradesh). यूपी के बुलंदशहर में एमबीए की छात्रा को किडनैप कर उसके साथ गैंगरेप करने का मामला सामने आया है। पुलिस ने हापुड़ में पीड़िता के पिता की तहरीर पर केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। छात्रा को गंभीर हालत में मेरठ मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। हालांकि, पुलिस ने किडनै​पिंग और गैंगरेप की बात से इनकार किया है।

क्या है पूरा मामला
गढ़ मुक्तेश्वर की रहने वाली पीड़िता मेरठ के चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय में एमबीए की छात्रा है। जानकारी के मुताबिक, 13 फरवरी को वो मेरठ से अपने घर लौट रही थी। रास्ते में बस खराब होने के बाद लिफ्ट देने के बहाने कुछ छात्रों ने उसे अगवा कर लिया। इसके बाद बुलंदशहर के स्याना क्षेत्र में ले जाकर छात्रा से गैंगरेप किया। यही नहीं विरोध करने पर छात्रा की जमकर पिटाई की। 

सर्विलांस की पता चली छात्रा की लोकेशन
वहीं, देर शाम जब बेटी घर नहीं पहुंची तो परिजनों ने पुलिस से शिकायत की। जिसके बाद पुलिस ने सर्विलांस की मदद से छात्रा की लोकेशन पता लगाई। छात्रा बुलंदशहर में स्याना थाना क्षेत्र में एक गांव के पास बेहोशी की हालत में पड़ी मिली। उसे पास के अस्पताल में ले जाया गया, जहां गंभीर हालत होने पर उसे मेरठ मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया। 

पुलिस का क्या है कहना
मेरठ के पुलिस महानिरीक्षक प्रवीण कुमार ने कहा, आरोपियों को जल्द ही पकड़ लिया जाएगा। जांच में यह पता चला है कि पीड़ित लड़की अपने साथ पढ़ने वाले लड़के साथ अपनी मर्जी से गई थी। दोनों बालिग हैं। बाइक से गिरने के बाद वह घायल हो गई। मेडिकल रिपोर्ट में रेप किए जाने की पुष्टी नहीं हुई है। यह अपहरण या गैंगरेप का मामला नहीं है।