Asianet News HindiAsianet News Hindi

मुश्किलों में हौसले से कामयाबी की लिख दी नई इबारत, पढ़ाई के साथ 25 बीघा जमीन पर खुद खेती कर राखी बन गई मिसाल

यूपी के मुजफ्फरनगर की बेटी ने मुश्किल के समय में कामयाबी की नई कहानी लिख दी है। वह पढ़ाई के साथ-साथ 25 बीघा जमीन पर खुद खेती करती है। जिसकी वजह से वह हर एक के लिए मिसाल बन गई है। मां और बहनों के लिए बेटा व भाई का हर फर्ज निभा रही है।

 Muzaffarnagar rakhi wrote new script of success with studies she became an example for others cultivating herself 25 bighas land
Author
First Published Nov 4, 2022, 2:50 PM IST

मुजफ्फरनगर: उत्तर प्रदेश के जिले मुजफ्फरनगर में एक बेटी ने मुश्किल के समय में हार नहीं मानकर नई इबारत लिख दी है। परिवार में पिता का साया भी उठ गया और कोई भाई भी नहीं है पर खुद बेटे और भाई का हर फर्ज पूरी ईमानदारी के साथ निभा रही है। इतना ही नहीं वह पढ़ाई के साथ-साथ 25 बीघा जमीन पर खुद खेती भी करती है। घर में अकेली रह रही मां के लिए वह बेटे से बढ़कर है। पूरे परिवार की देखभाल अकेले ही कर रही है। गांव में इस बेटी की मिसाल की हर कोई तारीफ करने से थक नहीं रहा है।

पढ़ाई के अलावा गांव के बेटी करती है यह सारे काम
जानकारी के अनुसार पानीपत-खटीमा हाईवे पर बसे तितावी गांव की बेटी है। इस गांव के खेतों में पुरुषों के साथ महिलाएं कंधे से कंधा मिलाकर खेती करती हैं। वहीं इसी गांव की यह बेटी खुद के दम पर पूरे परिवार की देखभाल करने के साथ-साथ खेती भी कर रही है। हैरान करने वाली बात तो यह है कि एमए एजूकेशन और कंप्यूटर की पढ़ाई भी कर चुकी है। तितावी गांव की निवासी राखी लाटियान पढ़ाई के अलावा खेतों में ट्रैक्टर भी चलाती है। इसके अलावा बाइक और खेतों में सिंचाई भी खुद करती है। साथ ही बुग्गी, फावड़ा को भी वह खुद चलाती है। ट्रैक्टर से चीनी मिल पर गन्ना तौलाने के लिए भी वह खुद ही जाती है।

नौ जगह जमीन होने पर राखी को होती है परेशानी
राखी लाटियान का कहना है कि परिवार में सिर्फ तीन बहनें है। बड़ी बहन नमिता और मीनू की शादी हो चुकी है। बीमारी के चलते पिता ध्यान सिंह का कई साल पहले मौत हो गई थी। इस वजह से मां बोहती देवी बहुत परेशान हुई। उसके बाद उन्होंने हौसला दिखाते हुए खेती में मां का सहयोग शुरू किया। समय के साथ-साथ वह खेती करना सीख गई और आज वह अकेले दम पर अपनी खेती कर रही है। इस बेटी की मुश्किले तब बढ़ जाती है क्योंकि उसकी जमीन नौ जगह पर हैं। एक ही गांव में दूर-दूर जमीन होने की वजह से काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इस वजह से खेती में भी काफी खर्च आता है। पढ़ाई के साथ-साथ खेती में तितावी का नाम रोशन कर रही राखी लाटियान ने अपने नाम से यू-ट्यूब चैनल भी बनाया है। 

समाज और गांव के लोग है राखी की ताकत
चार महीने से राखी यूट्यूब चैनल चला रही है और उससे काफी संख्या में लोग जुड़ गए है। उसके काम और हौसले की लोग खूब सराहना करते है। इतना ही नहीं उसके मेहनत को देखते हुए आगे बढ़ने के लिए प्रेरित कर रहे है। राखी के अनुसार वह अपने चैनल के माध्यम से वह लोगों से जुड़ती है। उनके चैनल के देखने के बाद दूर-दूराज से लोग मिलने के लिए आते हैं और कॉल कर भी उसका हौसला बढ़ाते हैं। राखी ने शादी नहीं की है और उनका कहना यह भी है कि गांव और समाज उनकी ताकत है। गांव के हर व्यक्ति ने उनको सिर्फ हिम्मत ही दी और जरूरत पड़ने पर साथ देने में भी कोई कसर नहीं छोड़ी। मां के लिए बेटे की तरह है और दोनों बहनों के लिए भाई की तरह सभी रस्मों को निभा रही हैं।

बाराबंकी में खून से लथपथ मिला युवती का शव, पहचान छिपाने के लिए हत्यारों ने कर दिया ऐसा हाल

जनता के लिए योगी कैबिनेट ने लिया अहम फैसला, जानिए आखिर क्यों पुलिस कमिश्नरेट सिस्टम में किया गया विस्तार

योगी कैबिनेट बैठक में स्टार्टअप नीति समेत 22 प्रस्तावों पर लगी मुहर, बेसिक व माध्यमिक शिक्षा में एक होगा डीजी

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios