Asianet News HindiAsianet News Hindi

कोर्ट ने श्रीकांत त्यागी की जमानत याचिका की खारिज, जेल में ही रहेगा गालीबाज नेता

श्रीकांत त्यागी की कोर्ट ने जमानत याचिका को खारिज कर दिया है। जिसकी वजह से गालीबाज नेता को जेल में ही रहना पड़ेगा। नोएडा की ओमेक्स सिटी में त्यागी का पौधा लगाने को लेकर महिला से विवाद हो गया था। इस दौरान उसने महिला से अभद्रता करते हुए उससे गाली-गलौज तक की थी। 

Noida Court dismisses Shrikant Tyagi bail plea abusive leader will remain jail
Author
Lucknow, First Published Aug 11, 2022, 1:56 PM IST

नोएडा: उत्तर प्रदेश के नोएडा की गैंड ओमेक्स सिटी में महिला से अभद्रता करने के आरोप में गिरफ्तार गालीबाज नेता श्रीकांत त्यागी की जमानत याचिका खारिज कर दी गई है। कोर्ट ने धोखाधड़ी के अन्य मामले में 16 अगस्त की तारीख तय की है। श्रीकांत त्यागी को मंगलवार को यूपी के मेरठ जिले से गिरफ्तार किया गया था। उसके बाद अदालत में पेश करने के बाद 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया था। त्यागी के वकील सुशील भाटी ने बुधवार को जमानत याचिका अदालत में दाखिल की थी लेकिन कोर्ट ने गुरुवार को जमानत याचिका खारिज कर दी।

श्रीकांत त्यागी का बीजेपी से संबंध होने के चलते विपक्षी दलों ने साधा निशाना
गौरतलब है कि नोएडा के सेक्टर 93-बी स्थित ओमेक्स सोसायटी में श्रीकांत त्यागी का एक महिला से पौधा लगाने को लेकर विवाद हो गया था। इस दौरान श्रीकांत ने महिला से अभद्रता करते हुए उससे गाली-गलौज तक की थी। इसके बाद आरोपी फरार हो गया था। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो गया था। उसको बाद पुलिस ने दो दिन बाद मेरठ के परतापुर से गिरफ्तार किया गया था। आरोपी श्रीकांत त्यागी खुद को भाजपा से संबंध बताता है लेकिन पार्टी ने उससे दूरी बना ली है। त्यागी के द्वारा इस हरकत के बाद से विपक्षी दलों ने बीजेपी पर जमकर निशाना साधा है।

त्यागी की गिरफ्तारी में निलंबित पुलिसकर्मी की रही अहम भूमिका
श्रीकांत त्यागी की गिरफ्तारी में निलंबित पुलिसकर्मी सुजीत उपाध्याय की अहम भूमिका रही है। पुलिस के एक अधिकारी का कहना है कि निलंबित होने के बावजूद पूर्व प्रभारी सुजीत उपाध्याय ने हार नहीं मानी और त्यागी की गिरफ्तारी के लिए तीन राज्यों मे भटकते रहे। त्यागी के फरार होने के बाद नोएडा पुलिस ने 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया था। लेकिन उपाध्याय निलंबित होने के बाद मायूस होकर घर नहीं बैठे बल्कि उन्होंने अपराधी को पकड़वाने में रात-दिन एक कर दिया। इसी वजह से उत्तर प्रदेश पुलिस के महानिदेशक और अपर मुख्य सचिव गृह द्वारा इनाम के हकदार बन गए हैं।

आगरा की जेल में बंद भाइयों को राखी बांध सकती है बहन, अंदर जाने के लिए साथ ले जानी होगी ये चीज

श्रीकांत त्यागी की पत्नी अनु ने नोएडा पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप, कहा- मेरे साथ भी किया गया ऐसा सलूक

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios