Asianet News HindiAsianet News Hindi

UP में हिंसा के बाद 5 जिलों में 319 से ज्यादा लोगों के खिलाफ नोटिस जारी, डंडा-हेलमेट तक की कीमत वसूलेगा प्रशासन

नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के विरोध में यूपी के 22 जिलों में हुई हिंसा के दौरान सावर्जनिक संपत्तियों के नुकसान की रिकवरी का काम शुरू कर दिया गया है। रामपुर, लखनऊ, बिजनौर, मेरठ, वाराणसी में चिन्हित किए गए प्रदर्शनकारियों को नोटिस जारी कर पूछा गया है कि उनके खिलाफ कार्रवाई क्यों न हो?

notice issued after violence in uttar pradesh KPU
Author
Lucknow, First Published Dec 26, 2019, 10:55 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ (Uttar Pradesh). नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के विरोध में यूपी के 22 जिलों में हुई हिंसा के दौरान सावर्जनिक संपत्तियों के नुकसान की रिकवरी का काम शुरू कर दिया गया है। रामपुर, लखनऊ, बिजनौर, मेरठ, वाराणसी में चिन्हित किए गए प्रदर्शनकारियों को नोटिस जारी कर पूछा गया है कि उनके खिलाफ कार्रवाई क्यों न हो? वहीं, जिन विभागों की संपत्ति का नुकसान हुआ, वे आंकलन में जुटे हैं। जानकारी के मुताबिक, रिकवरी में पुलिस ने नॉन लीथल वेपंस से फायर किए गए टियर गैस सेल की कीमत के अलावा डंडे, हेलमेट, बॉडी प्रोटेक्टर को हुई क्षति मूल्य में शामिल किया है। 

रामपुर में 28 लोगों को भेजा गया नोटिस
बीते 21 दिसंबर को रामपुर में हुई हिंसा के बाद जिला प्रशासन ने 28 प्रदर्शनकारियों को 14 लाख 86 हजार 500 का नोटिस जारी किया है। इन्हें एक हफ्ते के अंदर कोर्ट में पेश होकर बताना होगा कि उनके खिलाफ कार्रवाई क्यों न की जाए? जिन प्रदर्शनकारियों को नोटिस जारी किया गया है, उनमें कोई फेरीवाला है तो कोई मजदूरी करता है। डीएम आंजनेय कुमार सिंह ने कहा, इन 28 लोगों के खिलाफ पुलिस के पास ठोस सबूत हैं। एक हफ्ते के अंदर जवाब नहीं देते हैं तो उनके खिलाफ वसूली की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। अभियुक्त या उसका परिवार अपनी बेगुनाही साबित करने के लिए सबूत पेश कर सकते हैं कि कैसे उनके खिलाफ गलत तरीके से मामला दर्ज किया गया।

रामपुर पुलिस के अनुसार हिंसा में इन संपत्तियों का हुआ नुकसान  

- भोट थाने की सरकारी पुलिस जीप- 750,000 रुपए
- उप निरीक्षक राज नारायण यादव की मोटरसाइकिल- 65,000 रुपए
- सिटी कोतवाली की मोटर साइकिल- 65000 रुपए
- एक अन्य मोटर साइकिल- 55 हजार रुपए
- सरकारी पल्सर- 90 हजार रुपए
- मोटर साइकिल अपाचे- 90 हजार रुपए
- जीप में लगा वायरलेस सेट, हूटर / लॉउडस्पीकर, 10 डंडा, तीन हेलमेट और तीन बॉडी प्रोटेक्टर, तीन कैन सील्ड- 31,500 रुपए
- नगर पालिका द्वारा की गई बैरीकेडिंग व पुलिस के बैरियर- 35000 रुपए 

लखनऊ में 100 से ज्यादा लोगों को भेजा गया नोटिस
रामपुर से पहले लखनऊ में हुए हिंसक प्रदर्शन के दौरान 100 से अधिक लोगों को सार्वजनिक संपत्ति नुकसान पहुंचाने के मामले में नोटिस भेजा गया। बता दें, सीएम योगी आदित्यनाथ ने हिंसा के बाद कहा था, जिन लोगों ने सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाया, उनकी संपत्ति जब्त कर भरपाई की जाएगी।

बिजनौर में 43 लोगों के खिलाफ जारी हुआ नोटिस
बिजनौर में बीते 20 दिसंबर को हुई हिंसा के बाद 43 प्रदर्शनकारियों को चिन्हित किया गया। जिला प्रशासन की तरफ से सभी को नोटिस जारी किया गया है। एडीएम फाइनेंस अवधेश मिश्रा ने बताया, हिंसा के दौरान 90 लाख 70 हजार रुपए के सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचा। 

मेरठ में 148 लोगों के खिलाफ जारी किया गया नोटिस
मेरठ में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में हुई हिंसा के बाद प्रशासन ने 148 लोगों को नोटिस जारी किया है। डीएम अनिल ढींगरा ने बताया, 517 शस्त्र लाइसेंस धारकों और पुलिस द्वारा अभियुक्त बनाए गए 148 लोगों को नोटिस जारी किया गया है। नवीनीकरण के लिए लंबित इन 517 में से 400 शस्त्र लाइसेंसों को फिलहाल रोक दिया गया है।

संभल में 55 उपद्रवियों के जारी किए गए पो​स्टर
संभल में हिंसा के बाद पुलिस ने आरोपियों की पहचान कर ली है। एसपी यमुना प्रसाद ने बताया, हिंसा में शामिल 55 उपद्रवियों के पोस्टर जारी किए गए हैं। अब तक 48 को गिरफ्तार कर किया जा चुका है। वहीं, सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट व वीडियो फैलाने के आरोप में तीन मामले दर्ज किए गए हैं।

कानपुर में जांच के लिए हुआ एसआईटी का गठन
कानपुर में हिंसा के बाद जांच के लिए विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया गया है। कानपुर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक मोहित अग्रवाल ने बताया, एसआईटी का नेतृत्व अपर पुलिस अधीक्षक (अपराध शाखा) करेंगे। इसमें पांच पुलिस अधिकारी शामिल होंगे। एसआईटी दोषियों का पता लगाने के लिए आधुनिक इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का प्रयोग करेगी। प्रदर्शनकारियों ने हिंसा के दौरान सोशल मीडिया और व्हाटसऐप का इस्तेमाल किया था।

वाराणसी में उपद्रवियों का जारी किया गया पोस्टर, नाम पता बताने वाले को इनाम
वाराणसी में हुए विरोध प्रदर्शन और बवाल में शामिल उपद्रवियों के पोस्टर जारी किए गए हैं। पुलिस के द्वारा इस पोस्टर में लिखा है चिन्हित लोगों का नाम और पता बताने वाले को इनाम दिया जाएगा। साथ ही उनका नाम भी गोपनीय रखा जाएगा। पुलिस ने उपद्रवियों की फोटो मोबाइल वीडियो और सीसीटीवी फुटेज से निकाला है। जिसके बाद इनके पोस्टर शहर के गली मोहल्लों में चस्पा किए। इनके बारे में जानकारी देने के लिए व्हाट्सएप नंबर 7897532425 जारी किया है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios