Asianet News HindiAsianet News Hindi

Purvanchal Expressway पर क्या हैं बुनयादी सुविधाएं, जानें सबकुछ

प्रधानमंत्री ने 16 नवंबर को जनता को पूर्वांचल एक्सप्रेसवे की सौगात दी थी। जिसको लेकर लोग बहुत उत्साहित थे। अभी एक माह भी पूरा नहीं हुआ था लेकिन लोगों को बहुत सारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। 341 किलोमीटर लंबे इस एक्स्प्रेस वे पर बुनियादी सुविधाओं का अभाव है जिसमें पेट्रोल पम्प, ट्वायलेट, पीने का पानी न होना जैसी कई समझाओ से आमजन को रूबरू होना पड़ रहा है।

passengers facing problems because No basic facilities on Purvanchal Expressway
Author
Lucknow, First Published Dec 9, 2021, 12:48 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar pradesh) में 16 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने 341 किलोमीटर लंबे पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे (purwanchal Expressway ) का उद्घाटन किया था। जिसके बाद लोगों का आवागमन शुरू हो गया। लेकिन अब इस एक्स्प्रेस-वे पर बुनियादी सुविधाएं ना होने के चलते काफी परेशानी आ रही हैं। आपको बता दें कि इस एक्स्प्रेस वे पर अभी ना ही टॉयलेट (toilet) है ना ही पेट्रोल पंप (petrol pump) ना ही सीएनजी स्टेशन (CNG Station) ना ही पीने का पानी और भी बहुत सी बुनियादी सुविधाओं का अभी इस एक्स्प्रेस-वे पर अभाव है।

अभी नहीं है कोई पेट्रोल पंप
पेट्रोल पंप/ सीएनजी स्टेशन- 341 किलोमीटर लंबे इस एक्सप्रेस वे में अभी एक भी पेट्रोल पंप नहीं है ना ही एक भी सीएनजी स्टेशन हैं अगर रास्ते में यात्री कि गाड़ी में पेट्रोल सीएनजी खत्म हो जाए तो उसे बाकी का रास्ता गाड़ी खींच कर निकालना होगा। लोगो का कहना है कि सरकार को हर 15 किलोमीटर के अंतर पर पेट्रोल पम्प की व्यवस्था होनी चाहिए साथ ही सीएनजी स्टेशन भी होना चाहिए।

जलपान/ टॉयलेट/ मेडिकल स्टोर
इस एक्सप्रेसवे की लम्बाई को देखते हुए यहां पर पानी और कुछ खाने-पीने की साथ ही टॉयलेट की भी व्यवस्था भी होनी चाहिए क्योंकि बच्चें बुजुर्ग सभी यात्रा करते हैं तो किसी को भी इनकी आवश्यकता पड़ सकती है। साथ ही बीमार लोग पर यात्रा करते हैं तो इस मार्ग पर मेडिकल स्टोर (medical store) होना भी बहुत जरूरी है।

फरवरी से मिलेंगी सुविधाएं 
यूपीडा के अधिकारियों की माने तो जनवरी के अंत व फरवरी माह तक यात्रियों को सुविधाएं मिलने लगेंगी। अधिकारियों का कहना है कि टेंडर प्रक्रिया हो चुकी है, कास्ट्रक्शन का काम बहुत तेजी के साथ हो रहा है। फरवरी तक यात्रियों को सुविधाएं मिलने लगेंगी।

20 इनोवा कर रही एक्सप्रेसवे की निगरानी
पूर्व IPS अधिकारी राजेश पांडेय को सुरक्षा का नोडल अधिकारी बनाया गया है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की सुरक्षा की जिम्मेदारी इन्ही को सौपी गई है। आपको बता दें एक्सप्रेस-वे पर पेट्रोलिंग के लिए 20 इनोवा लगाई गई हैं। पूरे एक्सप्रेस-वे पर 8 पैकेज बनाए गए हैं। हर 3 पैकेज पर रिटायर्ड डिप्टी एसपी रैंक का एक अधिकारी तैनात किया गया है। इसके साथ ही हर पैकेज पर एक सुरक्षा अधिकारी व दो सहायक सुरक्षा अधिकारी तैनात किए गए हैं। लखनऊ से जाते समय व गाजीपुर से आते समय कंट्रोल रूम भी बनाया गया है, जो यात्रियों की सहायता करेगा।

Purvanchal Expressway पर लड़ाकू विमानों ने दिखाया पराक्रम, मोदी के सामने जमीन से आसमान तक यूं गरजा राफेल

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios