कानपुर के रोनिल मर्डर केस में पुलिस को मिली बड़ी सफलता, 36 दिन बाद खुली मिस्ट्री, लव ट्रांयगल में की गई हत्या

| Dec 07 2022, 09:47 AM IST

कानपुर के रोनिल मर्डर केस में पुलिस को मिली बड़ी सफलता, 36 दिन बाद खुली मिस्ट्री, लव ट्रांयगल में की गई हत्या
कानपुर के रोनिल मर्डर केस में पुलिस को मिली बड़ी सफलता, 36 दिन बाद खुली मिस्ट्री, लव ट्रांयगल में की गई हत्या
Share this Article
  • FB
  • TW
  • Linkdin
  • Email

सार

यूपी के कानपुर में हुए चर्चित रोनिल हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। बता दें कि बीते मंगलवार को सपा विधायक ने इस मुद्दे को सदन में भी उठाया था। पुलिस ने बताया कि रोनिल की हत्या साथ पढ़ने वाली छात्रा और उसके प्रेमी ने की है।

कानपुर: उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले के चर्चित रोनिल हत्याकांड का पुलिस ने 36 दिन बाद खुलासा किया है। बता दें कि सदन में सपा विधायक के सवाल करने के कुछ ही घंटे बाद पुलिस ने लव ट्रायंगल के शक में हत्या का दावा किया। पुलिस के अनुसार, रोनिल के साथ पढ़ने वाली छात्रा के प्रेमी को शक था कि रोनिल और उस छात्रा के बीच प्रेम-प्रसंग चल रहा है। बताया जा रहा है कि रोनिल की उस लड़की से अच्छी दोस्ती थी। ऐसे में लड़की के प्रेमी को ये लगने लगा कि उसकी प्रेमिका रोनिल के करीब जा रही है। वहीं प्रेमिका ने कहा, मैं उसको भाई मानती हूं, लेकिन इसके बाद भी छात्रा के प्रेमी ने रोनिल को जंगल में बुलाकर उसकी हत्य़ा कर दी।

पुलिस आरोपियों से कर रही पूछताछ
बता दें कि पुलिस छात्रा औऱ उसके प्रेमी को हिरासत में लेकर मामले की पूछताछ कर रही है। वहीं आरोपी का नाम विकास यादव है औऱ वह भगवंत टटिया इलाके का निवासी है। पुलिस कमिश्नर बीपी जोगदंड ने बताया कि वह आज यानि कि बुधवार को मामले का खुलासा करेंगे। जिसके बाद आरोपी छात्रा औऱ उसके प्रेमी विकास को जेल भेजा जाएगा। यह घटना चकेरी थाना क्षेत्र के श्याम नगर के डी-ब्लॉक की है। यहीं पर रोनिल रहता था। रोनिल के पिता संजय सरकार व्यापारी हैं। रोनिल वीरेंद्र स्वरूप श्याम नगर में इंटर में पढ़ता था। वहीं बीते 30 अक्टूबर को वह स्कूल जाने के बाद घर नहीं वापस आया तो उसकी तलाश की गई। लेकिन उसका पता नहीं चला।

Subscribe to get breaking news alerts

साइबर एक्टसपर्ट की टीम ने किया मामले का खुलासा
जब स्कूल में संपर्क किया गया तो पता चला कि वह स्कूल में छुट्टी होने के बाद जा चुका है। इसके बाद उसके घरवालों ने उसे फिर तलाश किया। जब रोनिल का पता नहीं चल सका तो परिजनों ने स्कूल का सीसीटीवी देखा। जिसमें रोनिल स्कूल में दिखा था। वहीं घटना के अगले दिन रोनिल का शव भगवंत टटिया के आगे रेलवे लाइन किनारे झाड़ियों में पड़ा मिला था। रोनिल को स्कूल से किडनैप कर उसकी हत्या कर दी गई थी। वहीं हत्या के पीछे लूटपाट का इरादा नहीं था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सिर पर गंभीर चोट और गला घोंटने से मौत का कारण आया था। बता दें कि बेंगलुरु से आई साइबर एक्टसपर्ट की टीम ने रोनिल मर्डर केस में अहम भूमिका निभाई है। 

सपा विधायक ने सदन में उठाया था मुद्दा
रोनिल हत्याकांड में गिरफ्तार साथी छात्रा और प्रेमी विकास के टेक्स्ट मैसेज से लेकर वॉट्सऐप चैट रिकवर करने में सफलता मिली। जिसके बाद यह मामला परत दर परत खुलता चला गया। जब पुलिस ने आरोपी से सख्ती से पूछताछ की तो उसने अपना जुर्म स्वीकार कर लिया। ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर आनंद प्रकाश तिवारी ने कहा कि शक के आधार पर हत्यारोपी विकास और साथी छात्रा से पूछताछ की गई थी। लेकिन सबूतों के अभाव में दोनों को छोड़ दिया गया था। वहीं दोनों के खिलाफ सबूत मिलते ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। बता दें कि बीते मंगलवार को कानपुर के सपा विधायक अमिताभ बाजपेई ने सदन में बहुत ही प्रमुखता से रोनिल हत्याकांड को उठाया था।

कानपुर: पति ने पत्नी की मौत से पहले बेरहमी सी की थी पिटाई, मां-बेटे की मौत को लेकर सामने आया चौंकाने वाला सच