Asianet News HindiAsianet News Hindi

प्रयागराज में घर से उठाकर किशोरी से गैंगरेप, 14 दिनों से मौत से जंग जारी, पुलिस पर भी लगा गंभीर आरोप 

प्रयागराज में किशोरी के साथ घर से उठाकर गैंगरेप की घटना सामने आई। मामले को लेकर परिजनों ने पुलिस पर भी गंभीर आरोप लगाए हैं। परिजनों का कहना है कि पुलिस ने गैंगरेप की घटना के बाद हादसे का मुकदमा दर्ज किया। 

Prayagraj girl gangraped police registered case
Author
First Published Aug 25, 2022, 9:05 AM IST

प्रयागराज: संगम नगरी के यमुनापार क्षेत्र में छात्रा के साथ गैंगरेप का सनसनीखेज मामला सामने आया। यहां पीड़ित परिवार की ओर से पुलिस में गैंगरेप की शिकायत की गई। बताया गया पुलिस ने मामले में सड़क दुर्घटना का मुकदमा लिख रफा-दफा कर दिया। जब गैंगरेप के मामले ने तूल पकड़ा तो एसपी यमुनापार को जांच सौंपी गई। फिलहाल अभी गैंगरेप पीड़िता 14 दिनों से अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रही है। 

परिजनों ने कहा- किशोरी को घर से उठाकर ले गया आरोपी
17 वर्षीय छात्रा के साथ गैंगरेप का यह मामला कौंधियारा थाना क्षेत्र से सामने आया है। यहां 10 अगस्त की रात को दूसरे गांव का एक युवक अपने दो साथियों के साथ में आया। दरवाजा खटखटाने पर किशोरी ने गेट खोला तो वह उसे घर से उठा ले गए। इसके बाद गैंगरेप कर प्राइवेट पार्ट में चोट पहुंचाई। छात्रा की पिटाई करते हुए आरोपी उसे बीच रास्ते में छोड़कर फरार हो गए। ग्रामीणों के साथ परिजन मौके पर पहुंचे और पुलिस को सूचना दी गई। कुछ देर बाद डायल 112 की टीम वहां मौके पर पहुंची और पीड़िता को सामुदायिक स्वास्थय केंद्र ले जाया गया। यहां से डॉक्टरों ने उसे स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल रेफर कर दिया। हालांकि घरवालों ने उसे प्राइवेट अस्पताल में भर्ती करवाया जहां उसका इलाज चल रहा है। 

आरोपी युवक के हाथ में भी हुआ फ्रैक्चर
घटना के 14 दिन बाद जब गैंगरेप के मामले ने तूल पकड़ा तो अधिकारी हरकत में आए और एसपी यमुनापार सौरभ दीक्षित को मामले की जांच सौंपी गई। माना जा रहा है कि एसपी सौरभ दीक्षित उस अस्पताल भी जाएंगे जहां पर पीड़िता भर्ती है। इसी के साथ वह डॉक्टर और परिजनों से भी बातचीत करेंगे। वहीं इस बीच चर्चा ये भी है कि पीड़ित किशोरी और अभियुक्त साथ-साथ घूमते थे। उन्हें कई बार एक साथ देखा गया था। चर्चाएं है कि आरोपी युवक किशोरी को लेकर बाइक पर गया था और उसी समय ये घटना हुई। आरोपी युवक के हाथ में भी फ्रैक्चर हुआ है। पुलिस इसका भी पता लगाने का प्रयास करेगी। हालांकि 14 दिनों से अस्पताल में भर्ती किशोरी कुछ भी बोल नहीं पा रही है। घटना के बाद पीड़िता के बयान को काफी अहम माना जा रहा है। 

परिजनों का आरोप है कि उनकी तहरीर के आधार पर पुलिस ने केस दर्ज नहीं किया और हादसे की रिपोर्ट लिखी। वहीं एसपी यमुनापार सौरभ दीक्षित का कहना है कि परिजनों ने बताया कि किशोरी के साथ हादसा हुआ है और उसी के आधार पर मुकदमा दर्ज किया गया। इस बीच पीड़िता के परिवार के संज्ञान में कुछ और तथ्य आए जिसके बाद उन्होंने युवक के खिलाफ आरोप लगाते हुए शिकायत की। मामले में जांच की जा रही है। 

अब आगरा में शिक्षक बना हैवान, इस मामूली बात के लिए कक्षा 2 के छात्र को पीट-पीटकर किया बेहोश

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios