बांदा(Uttar Pradesh ). बांदा में पिछले तीन दिनों से हड़ताल कर रहे मेडिकल स्टाफ के समर्थन में कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा गांधी उतर आई हैं। उन्होंने ट्वीट करके मेडिकल स्टॉफ को सुरक्षा किट न देकर वेतन काटने को अन्याय बताते हुए यूपी सरकार से अपील की है। वहीं बांदा के मुख्य चिकत्सा अधिकारी ने इस पूरी घटना को अफवाह बताया है। उनका कहना है की सब अफवाह फैलाई जा रही है न तो कोई हड़ताल पर है और न ही किसी का वेतन काटा गया है। 

कांग्रेस महासचिव प्रिंयका गांधी ने शनिवार को ट्वीट कर एक वीडियो जारी किया। वीडियो के साथ उन्होंने लिखा है "इस समय हमारे मेडिकल स्टाफ को सबसे ज्यादा सहयोग करने की जरूरत है। वे जीवनदाता हैं और योद्धा की तरह मैदान में हैं। बांदा में नर्सों और मेडिकल स्टाफ को उनकी निजी सुरक्षा के उपकरण न देकर और उनके वेतन काट करके बहुत बड़ा अन्याय किया जा रहा है। यूपी सरकार से मैं अपील करती हूँ कि .ये समय इन योद्धाओं के साथ अन्याय करने का नहीं है बल्कि उनकी बात सुनने का है। "

 

 

CMO ने किया पलटवार, कहा-सब अफवाह 
मामले में CMO बांदा डॉ संतोष कुमार का कहना है कि बांदा में सारी चीजें व्यवस्थित हैं। न तो कोई कर्मचारी हड़ताल  और न ही किसी का वेतन काटा जा रहा है। प्रियंका के ट्वीट पर जारी वीडियो की बाबत उन्होंने कहा कि ये सब अफवाह है जो सोशल मीडिया के माध्यम से फैलाई जा रही है। हमारे सभी कर्मचारी ड्यूटी पर हैं और अपना फर्ज निभा रहे हैं। 

क्या था मामला 
जानकारी के अनुसार बांदा के मेडिकल कॉलेज में आउट सोर्सिंग कर्मियों ने बुधवार से अपनी मांगों को लेकर हड़ताल शुरू कर दी थी। धरने में बैठकर उन्होंने चार माह का वेतन न मिलने, वेतन में कटौती व कोरोना संक्रमण की विशेष ड्यूटी में मेडिकल सुरक्षा किट न मिलने का दर्द बयां किया था। इसके बाद में शुक्रवार को सेवा प्रदाता कंपनी की ओर से 26 लोगों की सेवाएं सामाप्त करने की नोटिस जारी की गई थी। हड़ताल कर रहे आउट सोर्सिंग कर्मियों का पीड़ा बयां करने वाला वीडियो भी वायरल हुआ था। इस वीडियो को संज्ञान में लेकर कांग्रेस महासचिव मेडिकल स्टाफ के पक्ष में उतर आई हैं और उन्होंने ट्वीट भी किया है।