Asianet News HindiAsianet News Hindi

'धर्म भी कभी-कभी अंधविश्वास होता है' अखिलेश के इस बयान पर केशव मौर्य ने कहा- माफी मांगें

अखिलेश ने धर्म को लेकर जो विवादित बयान दिया है उन्हें उस पर माफी मांगनी चाहिए। साथ ही इमरान मसूद (Imran Masud) को सपा में शामिल करने पर भी मौर्या ने अखिलेश को आड़े हाथों लिया उन्होंने कहा कि सपा सीट जितने के बाद कई गुंडों और अपराधियों को भी मौका देगी। 
 

Religion is also sometimes superstition Keshav Maurya said on this statement of Akhilesh  Apologize
Author
Lucknow, First Published Jan 11, 2022, 2:36 PM IST

लखनऊ: चुनाव की तारीख जैस-जैसे नजदीक आ रही है सभी दल अपनी तैयारियों को धार देने में लगे हुए हैं। लगातार एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप का सिलसिला जारी है। उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य (Deputy CM Keshav Prasad Maurya) ने विपक्षी दल सपा पर चुनावी तीर चलाते हुए कहा कि अखिलेश ने धर्म को लेकर जो विवादित बयान दिया है उन्हें उस पर माफी मांगनी चाहिए। साथ ही इमरान मसूद (Imran Masud) को सपा में शामिल करने पर भी मौर्या ने अखिलेश को आड़े हाथों लिया उन्होंने कहा कि सपा सीट जितने के बाद कई गुंडों और अपराधियों को भी मौका देगी। 

सपा प्रमुख ने करोड़ों लोगों की भावनाओं को किया आहत
यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा है कि समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) धर्म को अंधविश्वास बताते हुए भगवान कृष्ण पर जो बयान दिया उससे लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंची है। उन्होंने कहा कि उनके इस बयान से काफी लोग आहत हैं। मैं तो चाहता हूं कि वह अपने इस बयान पर माफी मांगे। धर्म में तो करोड़ों लोगों की आस्था जुड़ी होती है। सपा अध्यक्ष लोगों की आस्था से खेल रहे हैं। कांग्रेस के विधायक इमरान मसूद को समाजवादी पार्टी में शामिल हुए हैं। इस पर सवाल उठाते हुए केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि इमरान मसूद को पार्टी में शामिल कर अखिलेश यादव ने अपनी रणनीति जगजाहिर कर दी है। उनकी मंशा साफ है कि 2022 में कई सीट जीतने के प्रयास में वह कई गुंडों के साथ अपराधियों को भी मोर्चे पर लगा देंगे।

डिप्टी सीएम ने किया 300 से ज्यादा सीट जीतने का दावा
उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने  दावा किया कि विधानसभा चुनाव 2022 में भाजपा 300 से अधिक सीट जीतेंगे। समाजवादी पार्टी के बारे में उन्होंने कहा कि दस मार्च को 11 बजे सपा के 12 बजेंगे। सपा तो इस बार अर्धशतक भी नहीं लगा सकेगी। इसी कारण उन्होंने चुनाव में डिजिटल प्रचार के माध्यम का विरोध किया। दूसरे शब्दों में कह सकते हैं कि वह अपनी हार स्वीकार कर चुके हैं।

क्या था अखिलेश का बयान
अखिलेश यादव ने कहा था भगवान कृष्ण हमारे सपने में आए हैं, क्योंकि वो हमारे कुल भगवान हैं। साथ ही उन्होने कहा था कि धर्म भी कभी-कभी अंधविश्वास होता है। उन्होंने यह बात तब कही जब उनसे पूछा गया कि वो नोएडा अपने कार्यकाल में क्यों नहीं गए? सपा प्रमुख ने हंसते हुए कहा कि नोएडा में इसलिए नहीं गया क्योंकि यह माना जाता रहा है कि जो नोएडा चला जाता है वो वापसी नहीं कर पाता है। मेरे बाबा मुख्यमंत्री, हो आए अब दोबार मुख्यमंत्री नहीं बनेंगे। जब एकंर ने इस परंपरा को अंधविश्वास बताया तो अखिलेश यादव ने हंसते हुए कहा कि धर्म भी कभी-कभी अंधविश्वास होता है।

UP Election 2022: हिंदुत्व की पिच पर बीजेपी की बैटिंग, अयोध्या और काशी के बाद अब मथुरा बन रहा मुख्य एजेंडा

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios