समाजवादी पार्टी ने गठबंधन दलों की बुलाई बैठक, शिवपाल यादव और अन्य नेताओं को किया गया आमंत्रित

| Mar 29 2022, 04:08 PM IST

समाजवादी पार्टी ने गठबंधन दलों की बुलाई बैठक, शिवपाल यादव और अन्य नेताओं को किया गया आमंत्रित
समाजवादी पार्टी ने गठबंधन दलों की बुलाई बैठक, शिवपाल यादव और अन्य नेताओं को किया गया आमंत्रित
Share this Article
  • FB
  • TW
  • Linkdin
  • Email

सार

समाजवादी पार्टी की ओर से गठबंधन दलों की बैठक बुलाई गई है। यह बैठक मंगलवार शाम 5 बजे समाजवादी पार्टी के कार्यालय पर आयोजित होगी। इस बैठक के लिए शिवपाल यादव समेत अन्य गठबंधन दल के नेताओं को आमंत्रित किया गया है। 

लखनऊ: समाजवादी पार्टी ने गठबंधन दल के नेताओं के साथ एक बैठक बुलाई है। यह बैठक 29 अप्रैल को शाम 5 बजे समाजवादी पार्टी के प्रदेश कार्यालय पर होगी। इस बैठक के लिए शिवपाल यादव, ओम प्रकाश राजभर, पल्लवी पटेल, राजपाल बालियान को आमंत्रित किया गया है।

गौरतलब है कि इससे पहले समाजवादी पार्टी के विधायकों की बैठक में शिवपाल यादव को आमंत्रित नहीं किया गया था। जिसके बाद शिवपाल यादव की नाराजगी देखने को मिली थी। शिवपाल ने इस बात को लेकर काफी नाराजगी जताई थी कि उन्हें पार्टी कार्यालय की ओर से फोन नहीं किया गया। ऐन वक्त तक बैठक के लिए फोन न आने पर शिवपाल यादव नाराज होकर इटावा रवाना हो गए थे। 

Subscribe to get breaking news alerts

बैठक में न बुलाए जाने पर शिवपाल की दिखी थी नाराजगी 
शिवपाल यादव ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा था कि वह सपा के लिए सक्रिय हैं और विधायक भी हैं। बावजूद इसके उन्हें बैठक के लिए नहीं बुलाया गया। शिवपाल यादव ने तो यहां तक कह दिया था कि उन्हें क्यों नहीं बुलाया गया इसका जवाब समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ही दे सकते हैं। सपा की हार की समीक्षा होनी चाहिए। वहीं अगले कदम को लेकर भी उनके द्वारा कहा गया था कि इसका ऐलान जल्द ही होगा। आपको बता दें कि शिवपाल यादव सपा के चुनाव चिन्ह पर जसवंतनगर से जीतकर विधायक बने हैं। 

नेता विरोधी दल की कुर्सी संभाल रहे अखिलेश 
चुनाव के परिणाम सामने आने के बाद शिवपाल यादव का नाम नेता विरोधी दल के तौर पर भी चल रहा था। हालांकि बाद में अखिलेश यादव ने खुद ही आगे आकर नेता विरोधी दल की कुर्सी संभाल ली। प्रदेश में ऐसा 13 सालों बाद हो रहा है जब कोई पूर्व मुख्यमंत्री नेता विरोधी दल बना है। इससे पहले मुलायम 2007 से लेकर 2009 तक नेता विरोधी दल रहे थे। 

करहल से चुनाव जीते हैं अखिलेश 
अखिलेश यादव ने मैनपुरी की करहल सीट से चुनाव जीता है। चुनाव जीतने के बाद बीते दिनों उन्होंने आजमगढ़ संसदीय सीट से इस्तीफा दिया था। इसके बाद 26 मार्च को वह सपा विधानमंडल दल के सर्वसम्मति से नेता चुने गए थे। 

सीएम योगी बोले- जनता कभी भी नकारात्मकता को नहीं करती स्वीकार, प्रगतिशील का होता है चुनाव

यूपी विधानसभा अध्यक्ष को साथ में मिलकर खोजेंगे योगी आदित्यनाथ और अखिलेश, जानिए क्या है ये अनोखी परंपरा

दूसरे दिन भी जारी रहा नवनिर्वाचित विधायकों का शपथग्रहण कार्यक्रम, पहले दिन चर्चाओं में रहीं ये खास चीजें