Asianet News Hindi

SIT ने सीज किया चिन्मयानंद का दिव्य आश्रम, छात्रा को घटना स्थल ले जाकर कराई तस्दीक

एसआईटी टीम पहले चिन्मयानंद को उनके आवास दिव्य धाम लेकर गई और उनके बेडरूम का मुआयना किया। संभावना है कि शुक्रवार को फॉरेंसिक टीम के विशेषज्ञ पूर्व केंद्रीय मंत्री के बेडरूम की जांच कर सकते हैं।

sit sealed chinmayanand bedroom after inquiry
Author
Shahjahanpur, First Published Sep 13, 2019, 12:05 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

शाहजहांपुर (उत्तर प्रदेश). चिन्मयानंद केस की जांच कर रही एसआईटी टीम ने शुक्रवार को पूर्व केंद्रीय राज्यमंत्री का दिव्य आश्रम सीज कर दिया। इससे पहले जांच टीम पीड़ित छात्रा को लेकर चिन्मयानंद के आवास पर गई थीं, जहां करीब साढ़े चार घंटे की जांच के बाद टीम पीड़िता के साथ वापस लौट गई। माना जा रहा है कि छात्रा ने आवास में घटना स्थल की तस्दीक की है। इस दौरान आवास में चिन्मयानंद और फरेंसिक टीम भी मोजूद थी। वहीं, चिन्मयानंद के कॉलेज के प्रिंसिपल ने तीन दिन के लिए कॉलेज की छुट्टी घोषित कर दी है। 

बता दें, इससे पहले जांच टीम ने गुरुवार देर रात पुलिस लाइन स्थित अपने अस्थाई कार्यालय में पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री चिन्मयानंद से करीब 7 घंटे पूछताछ की थी। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, एसआईटी टीम ने चिन्मयानंद से जांच चलने तक शहर से बाहर जाने से मना किया है। यही नहीं, उनके घर के बाहर भारी पुलिस बल भी तैनात कर दिया गया है। 

चिन्मयानंद ने कहा-हर जांच में करूूंगा सहयोग
इससे पहले जांच टीम ने पीड़िता के कॉलेज के प्रिंसिपल से पूछताछ की थी। वहीं, दूसरी तरफ पीड़िता ने एसआईटी को एक पत्र देकर शारीरिक शोषण और दुष्कर्म का केस दर्ज करने की मांग की है। चिन्मयानंद के वकील ने बताया, हम पूरी तरह से जांच में सहयोग कर रहे हैं। यूपी पुलिस ने भी उनसे सवाल किए, लेकिन रेप मामले में उनके खिलाफ अभी कोई भी एफआईआर दर्ज नहीं है। बता दें, इससे एसआईटी ने कथित पीड़िता का मेडिकल टेस्ट भी कराया था। 

क्या है पूरा मामला
शाहजहांपुर के स्वामी सुखदेवानंद विधि महाविद्यालय में एलएलएम करने वाली एक छात्रा ने 24 अगस्त को एक वीडियो वायरल करके चिन्मयानंद पर आरोप लगाया था। उसने कहा था, पूर्व केंद्रीय मंत्री ने उसके अलावा कई लड़कियों की जिंदगी बर्बाद कर दी है। उसे और उसके परिवार को इस संन्यासी से जान का खतरा है। वीडियो वायरल होने के बाद छात्रा अचानक लापता हो गई थी। जिसके बाद छात्रा के परिवार की तहरीर के आधार पर पुलिस ने पूर्व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री पर अपहरण का केस दर्ज किया था। कुछ दिन बाद पुलिस ने छात्रा को राजस्थान से बरामद किया। घटना का संज्ञान सुप्रीम कोर्ट ने लिया, जहां सुनवाई के बाद एसआईटी जांच के आदेश दिए गए। हाल ही में मीडिया के सामने आई छात्रा ने कहा था कि चिन्मयानंद ने एक साल तक उसका यौन शोषण किया।

(नोट- यह खबर समाचार एजेंसी भाषा की है, एशियानेट हिंदी टीम ने सिर्फ हेडलाइन में बदलाव किया है।)

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios