Asianet News HindiAsianet News Hindi

फिरोजाबाद में मेस के खाने पर सवाल उठाने वाला सिपाही को मिली छुट्टी, एडीजी ने पुलिसकर्मियों को दी ये नसीहत

यूपी के जिले फिरोजाबाद में मेस के खाने पर सवाल उठाने वाले सिपाही की छुट्टी का आवेदन स्वीकार कर लिया गया है। तो वहीं दूसरी ओर अमृत महोत्सव के कार्यक्रम के लिए पहुंचे एडीजी ने मेस का भी निरीक्षण किया। साथ ही पुलिसकर्मियों को नसीहत भी दी है।

soldier who questioned mess food Firozabad got leave ADG gave advice policemen
Author
Lucknow, First Published Aug 14, 2022, 12:20 PM IST

फिरोजाबाद: उत्तर प्रदेश के जिले फिरोजाबाद के पुलिस लाइन के सामने भोजन की थाली हाथ में थामे एक सिपाही का फूट-फूटकर रोने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। शहर के न्यायालय गेट के सामने सड़क पर हाथ में खाने की थाली लेकर हंगामा करने वाले सिपाही का वीडियो वायरल होने के बाद एडीजी ने शनिवार को पुलिस लाइन में जाकर खाने की मेस का निरिक्षण किया। इस दौरान उन्होंने कैंटीन में मिलने वाले खाने की गुणवत्ता के साथ-साथ मेन्यू कार्ड भी देखा। एडीजी ने कहा कि इस मेस में रोजाना करीब 250 सिपाही खाना खाते हैं लेकिन किसी ने कोई शिकायत नहीं की। 

अमृत महोत्सव कार्यक्रम के लिए पहुंचे एडीजी ने मेस का किया निरीक्षण
एडीजी ने आगे कहा कि फिर भी अगर किसी को शिकायत है तो अनुशासन में रहकर बताएं। दूसरी ओर सिपाही के छुट्टी भेजने के सवाल पर उन्होंने कहा कि छुट्टी लेना और देना कोई अपराध नहीं है। बता दें कि बीती 10 अगस्त को मनोज नाम के सिपाही का एक वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुआ था। उसमें सिपाही हाथ में खाने की थाली लेकर सड़क पर निकल आया था और फूट-फूटकर रोया था। वीडियो वायरल होने के बाद एडीजी राजीव कृष्णा आजादी के अमृत महोत्सव कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए फिरोजाबाद पुलिस लाइन पहुंचे। यहां उन्होंने खाने की कैंटीन का निरीक्षण किया।

एडीजी ने मीडिया से अनुशासनहीनता खबरें न दिखाने की दी नसीहत
एडीजी राजीव ने मीडियाकर्मियों से बातचीत के दौरान कहा कि सिपाही द्वारा खाने की गुणवत्ता को लेकर वीडियो वायरल हुआ था। इसी के बाद एडीजी ने मेस का निरीक्षण किया। उनका कहना है कि वैसे खाने को लेकर अगर किसी सिपाही को कोई दिक्कत है तो अनुशासन में रहकर अपनी बात कह सकते हैं। कैंटीन में करीब 250 के लगभग सिपाही खाना खाते है और किसी भी सिपाही ने कोई शिकायत नहीं की। इतना ही नहीं उन्होंने मीडिया को नसीहद देते हुए कहा कि पुलिस द्वारा अनुशासनहीनता की खबरें न दिखाए। दूसरी ओर सिपाही को छुट्टी पर भेजे जाने पर एसएसपी आशीष तिवारी ने कहा था कि सिपाही ने छुट्टी के लिए आवेदन किया था जिसको मंजूर कर लिया गया है। जहां तक रही मेस के खाने की बात तो उसकी जांच की भी कार्रवाई की जा रही है।

आतंकी नदीम को 14 दिन के लिए भेजा गया जेल, नूपुर शर्मा की हत्या के साथ दहशत फैलाने का मिला था काम

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios