शाहजहांपुर (Uttar Pradesh) । पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद का एसएस कॉलेज एक बार फिर चर्चा में है। इस बार इस कॉलेज में बीए द्वितीय वर्ष की छात्रा सोमवार शाम अधजली स्थिति में नगरिया मोड़ पर मिली। जिसे मेडिकल कॉलेज से हायर सेंटर रेफर कर दिया गया है। बता दें कि पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर साल 2019 में एसएस लॉ कॉलेज की छात्रा ने पर यौन शोषण का आरोप लगाया था। इस मामले में स्वयं छात्रा और उसके साथियों पर भी ब्लैकमेलिंग का आरोप लगा था।

पिता ने सुनाई ये कहानी
छात्रा के पिता ने बताया कि वह अपनी बेटी को हर 10-15 दिन में कॉलेज लेकर आते-जाते थे। सोमवार सुबह करीब 10 बजे बेटी को कॉलेज में छोड़कर चले गए थे। दोपहर 3 बजे कॉलेज उसे लेने आए तो वह नहीं मिली। काफी देर तक आसपास तलाश करते रहे। शाम करीब साढ़े छह बजे तिलहर थाना क्षेत्र के नगरिया मोड़ के रहने वाले एक व्यक्ति का फोन आया कि उनकी बेटी यहां पर जली हुई अवस्था में पड़ी हुई है। 

पिता ने किसी पर नहीं लगाया आरोप
तिलहर पुलिस युवती को लेकर मेडिकल कॉलेज आई और भर्ती करा दिया। पिता को भी मेडिकल कॉलेज में बुला लिया। पिता ने पुलिस को दी तहरीर में किसी पर आरोप नहीं लगाया है। वहीं, एसएस कॉलेज के प्राचार्य डॉ. अवनीश मिश्रा ने कहा कि कॉलेज की छात्रा के बारे में जानकारी मिली है। कॉलेज प्रबंधन पुलिस का पूरा सहयोग कर रहा है।

 

हायर सेंटर नहीं ले जाना चाहते थे परिजन
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एसपी एस आनंद ने बताया कि छात्रा कुछ बता नहीं रही है। महिला पुलिसकर्मी और डॉक्टर उससे लगातार संपर्क कर रहे हैं। परिजन हायर सेंटर नहीं ले जाना चाहते, लेकिन उन्हें राजी किया जा रहा है। 

कुछ नहीं बता पा रही पीड़िता
छात्रा 65 फीसदी तक जल चुकी है। हालत नाजुक होने पर उसे लखनऊ रेफर कर दिया गया, लेकिन इस बात पर अभी भी सस्पेंस बना हुआ है कि कॉलेज से नगरिया मोड़ पर कैसे पहुंची? उसे किसने आग लगाई या खुद आग लगाई अभी तक इस बात का पता नहीं लग पाया है। वहीं, छात्रा भी कुछ भी नहीं बता पा रही है।